महादेव सट्टा एप केस में नितेश टिबरेवाल और अमित अग्रवाल गिरफ्तार, ईडी को मिली 5 दिनों की रिमांड

author img

By ETV Bharat Chhattisgarh Desk

Published : Jan 12, 2024, 10:52 PM IST

Updated : Jan 13, 2024, 11:08 AM IST

Mahadev Satta App Case

Mahadev Satta App Case महादेव सट्टा एप मामले में स्पेशल कोर्ट ने नितेश टिबरेवाल और अमित अग्रवाल को 5 दिनों की रिमांड पर ईडी को सौंपा है. दोनों आरोपी 17 जनवरी को फिर कोर्ट में पेश होंगे. इससे पहले शुक्रवार को दोनों आरोपियों को पूछताछ के लिए ईडी ने बुलाया था. उसके बाद दोनों की गिरफ्तारी ईडी की टीम ने की है.

महादेव सट्टा एप केस

रायपुर: प्रवर्तन निदेशालय ने महादेव सट्टा एप मामले में शुक्रवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया है. जिसमें एक आरोपी का नाम नितेश टिबरेवाल और दूसरे आरोपी का नाम अमित अग्रवाल है. समन भेजकर इन दोनों से पूछताछ करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय ने इन्हें रायपुर दफ्तर बुलाया था. जिसके बाद इन्हें गिरफ्तार कर शुक्रवार को ही स्पेशल कोर्ट में पेश किया गया. ईडी ने 14 दिनों की रिमांड मांगी थी. लेकिन कोर्ट ने सिर्फ पांच दिनों की रिमांड दी है. दोनों आरोपियों को 17 जनवरी को फिर से कोर्ट में पेश किया जाएगा.

शुक्रवार को दोनों हुए थे गिरफ्तार: प्रवर्तन निदेशालय के वकील सौरभ कुमार पांडेय ने बताया कि" महादेव सट्टा एप के मास्टरमाइंड सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल, शुभम सोनी सहित अन्य लोगों के मामले में जांच जारी है. इसी दौरान प्रवर्तन निदेशालय की जांच में नितेश टिबरेवाल और अमित अग्रवाल का नाम आया था. जिसके बाद उन्हें पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय बुलाया गया. जिसके बाद शुक्रवार को उनकी गिरफ्तारी की गई.

प्रवर्तन निदेशालय की जांच में हुआ खुलासा: प्रवर्तन निदेशालय के वकील सौरभ कुमार पांडेय की मानें तो "प्रवर्तन निदेशालय ने 1 जनवरी को कोर्ट में केस फाइल की थी. जिसमें इस बात का उल्लेख था कि अनिल कुमार अग्रवाल को अभियुक्त के रूप में शामिल किया था. शुक्रवार को अमित अग्रवाल की गिरफ्तारी हुई है, जो अनिल अग्रवाल का रिश्तेदार है. प्रवर्तन निदेशालय की जांच में यह बात सामने आई है कि महादेव ऐप से संबंधित जो पैसा उसके भाई अनिल अग्रवाल के माध्यम से आता था, उसे अमित अग्रवाल अपने अकाउंटेंट के माध्यम से ब्लैक मनी को वाइट मनी करने में लगा हुआ था. प्रवर्तन निदेशालय की जांच में अब तक ढाई करोड़ रुपए का घोटाला सामने आया है. आरोपी अमित अग्रवाल की पत्नी द्वारा आरोपी अनिल दम्मानी के साथ मिलकर जमीन खरीदने का मामला भी सामने आया है."

दोनों को 5 दिनों की रिमांड पर भेजा गया: प्रवर्तन निदेशालय के वकील सौरभ कुमार पांडेय ने बताया "दूसरे आरोपी नितेश टिबरेवाल ने पैसों की लेयरिंग करने वाले एक और एक्यूज्ड पर्सन विकास छापरिया के साथ कंपनी बना रखी थी. विकास छापरिया की कंपनी में नितेश टिबरेवाल भी शेयर होल्डर था और दुबई में प्रॉपर्टी खरीद कर रखा हुआ है. अरेस्ट हुए इन दोनों आरोपियों की भूमिका को देखते हुए आगे की पूछताछ के लिए ईडी ने रिमांड मांगी थी, जिस पर कोर्ट ने उन्हें 5 दिनों की रिमांड पर भेजा है."

Pandariya Chhattisgarh Election Result 2023 पंडरिया से नवनिर्वाचित विधायक भावना बोहरा ने कांग्रेस की हार पर क्या कहा, जानिए
Bhawna Bohra attacks Congress: पंडरिया से बीजेपी प्रत्याशी भावना बोहरा का दावा, छत्तीसगढ़ में खिलेगा कमल, क्योंकि पब्लिक सब जानती है ?
लोकसभा चुनाव में युवा ब्रिगेड पर कांग्रेस लगाएगी दांव, सचिन पायलट ने कार्यकर्ताओं में भरा जोश
Last Updated :Jan 13, 2024, 11:08 AM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.