अंकिता भंडारी की मां ने सरकार को कोसा, कांग्रेस ने दी चुनौती, बीजेपी ने बताया हार और खीज का परिणाम

author img

By ETV Bharat Uttarakhand Team

Published : Jan 7, 2024, 6:37 PM IST

Updated : Jan 7, 2024, 8:28 PM IST

Ankita Bhandari Murder Case

Karan Mahara on Ankita Bhandari Murder Case उत्तराखंड की अंकिता भंडारी हत्याकांड का मामला एक बार फिर से गरमाने लगा है. इसकी वजह है कि अंकिता भंडारी के माता-पिता के आरोप, जिसमें उन्होंने एक नेता को कथित तौर पर वीआईपी बताया है. इस मामले पर कांग्रेस भी हमलावर हो गई है. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने अंकिता हत्याकांड को लेकर बीजेपी नेताओं को बहस की खुली चुनौती तक दे दी है. वहीं, बीजेपी ने कांग्रेस के आरोपों को हार और खीज का परिणाम बताया है.

अंकिता भंडारी हत्याकांड पर सियासत

देहरादून: बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड के मामले पर एक बार फिर से सियासत गरमाने लगी है. अंकिता भंडारी की मां ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा कर कथित तौर पर बीजेपी के बड़े नेता का नाम लिया है. इसके अलावा वो रोती हुईं, धामी सरकार को जमकर कोस भी रही हैं. वहीं, अब मामले को लेकर कांग्रेस ने बीजेपी पर तीखा हमला बोला है. साथ ही राज्य सरकार को नैतिकता दिखाने की नसीहत भी दी है. इसके अलावा हाईकोर्ट के सिटिंग जज की देखरेख में पूरे प्रकरण की जांच पूरी कराने की मांग की है.

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट को खुली चुनौती देते हुए कहा कि वो अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले पर सार्वजनिक मंच पर बहस करने को तैयार हैं. विडंबना है कि मुख्यमंत्री सार्वजनिक मंचों से कांग्रेस में नैतिक बल में कमी की होने की बात करते दिखाई देते हैं. अगर उनमें नैतिक बल है तो अंकिता के पिता ने पौड़ी डीएम को पत्र लिखकर गंभीर आरोप लगाए हैं, उस मामले में सीएम उच्च स्तरीय न्यायिक जांच करवाने का साहस दिखाएं.

ये भी पढ़ेंः अंकिता भंडारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य की जमानत खारिज, HC ने बताया संगीन अपराध

करन माहरा ने कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री के गृह जनपद में एक ही दिन में महंत और उनके शिष्य की दिनदहाड़े हत्या हो जाती है. इसके अलावा मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र में बीजेपी का मंडल अध्यक्ष कई महीनों तक नाबालिग के साथ दुष्कर्म करता रहा, लेकिन मुख्यमंत्री नैतिक बल की कमी कांग्रेस में ढूंढ रहे हैं. उन्होंने एनसीआरबी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि हिमालय राज्यों में उत्तराखंड महिला अपराध में नंबर एक पायदान पर पहुंच गया है.

  • #अंकिता_भंडारी_हत्याकांड में अंकिता के पिता द्वारा जिला अधिकारी को बीजेपी के उत्तराखंड प्रदेश संगठन महामंत्री और RSS के स्वयंसेवक अजय कुमार के खिलाफ जांच करने की मांग की है। सरकार इसी लिए #VIP को बचाने में लगी हुई थी। अगर यह सच है तो बहुत ही निर्दई सच है उत्तराखंड में भाजपा के… pic.twitter.com/wTb4UaERI3

    — Garima Mehra Dasauni (@garimadasauni) January 6, 2024 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

पूर्व महानगर अध्यक्ष के बयान को लेकर भी बीजेपी पर हमला बोला: करन माहरा ने बीजेपी के पूर्व महानगर अध्यक्ष के बयान पर भी जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि उनके बयानों से साफ पता चलता है कि बीजेपी का चाल चरित्र और चेहरा क्या है? उन्होंने याद दिलाते हुए कहा कि बीजेपी के पूर्व महानगर अध्यक्ष ने महिलाओं के परिपेक्ष्य में निम्न स्तर की बयानबाजी की थी, जिसका वीडियो और ऑडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ था.
ये भी पढ़ेंः अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले JCB ऑपरेटर ने कोर्ट में खोले 'राज', बताया- एसडीएम और विधायक के कहने पर तोड़ा था रिजॉर्ट

ऐसे में बीजेपी ने भी र्व महानगर अध्यक्ष पर लगे आरोपों को स्वीकार किया और उन्हें पद मुक्त किया. बल्कि, आज की तारीख में भी इन बयानों की वजह से उनकी राजनीति हाशिये पर चली गई. उन्होंने द्वाराहाट के बीजेपी विधायक महेश नेगी और पूर्व संगठन महामंत्री पर लगे आरोपों पर भी बीजेपी को जमकर घेरा.

14 जनवरी से अंकिता भंडारी को न्याय दिलाने के लिए कांग्रेस निकालेगी न्याय यात्रा: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने घोषणा करते हुए कहा कि 14 जनवरी को एक ओर जहां कांग्रेस के नेता राहुल गांधी मणिपुर से भारत जोड़ो न्याय यात्रा को शुरू करने जा रहे हैं तो वहीं उत्तराखंड कांग्रेस 14 जनवरी से लेकर 16 जनवरी तक तीन दिन ब्लॉक और बूथ स्तर पर अंकित भंडारी को न्याय दिलाने के लिए न्याय यात्रा निकालने जा रही है.

माहरा का कहना है कि उत्तराखंड का समाज स्वाभिमानी समाज है. हमारे लिए बहन बेटियों की अस्मिता सर्वोच्च है. ऐसे में अगर आरएसएस से जुड़े किसी व्यक्ति का वीआईपी के रूप में नाम सामने आया है तो राज्य सरकार का दायित्व बनता है कि वो इसकी व्यापक जांच कराएं. ताकि, मामले में दूध का दूध और पानी का पानी हो सके.
ये भी पढ़ेंः अंकिता हत्याकांड को लेकर हमलावर हुआ विपक्ष, यमकेश्वर विधायक पर की कार्रवाई की मांग, सीएम धामी का भी मांगा इस्तीफा

बीजेपी ने कांग्रेस के आरोप को बताया, हार और खीज का परिणाम: वहीं, दूसरी तरफ बीजेप प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कांग्रेस नेताओं के आरोप को लगातार मिल रही हार और खीज का परिणाम बताया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस निम्न स्तर की राजनीति कर रही है. कांग्रेस को अंकिता और उसके से कोई लेना देना है. बल्कि, वो शुरुआत से ही किसी न किसी तरह इसके जरिए बीजेपी नेताओं को निशाने पर लेकर दुष्प्रचार को हवा दे रही है. उन्होंने कांग्रेस की मंशा पर सवाल उठाया.

महेंद्र भट्ट ने कहा कि अंकिता के परिजनों ने कांग्रेस की हर सुझाव को ठुकराया. अब कांग्रेस एकाएक कैसे चरित्र हनन की राजनीति पर उतारू हो गई. उनका कहना हैं कि इस बार अंकिता के परिजनों ने आवेश और आरोपों को ढाल बनाकर कांग्रेस अब बीजेपी के नेताओं के खिलाफ चारित्रिक रूप से बदनाम करने की साजिश कर रही है. हालांकि, अंकिता के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए जांच एजेंसियों ने कोई कसर नहीं छोड़ी है. परिजनों के साथ भी प्रशासन से लेकर सीएम स्तर तक संवाद बना हुआ है. परिजनों ने जिस तरह से जांच में सहयोग की मांग की, उसे समय पर पूरा किया गया है.

Last Updated :Jan 7, 2024, 8:28 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.