ऑनलाइन कसीनो में हारा रुपए तो युवक ने रच डाली अपहरण की साजिश, पुलिस ने किया खुलासा

author img

By ETV Bharat Jharkhand Desk

Published : Jan 10, 2024, 1:52 PM IST

Updated : Jan 10, 2024, 2:21 PM IST

http://10.10.50.75//jharkhand/10-January-2024/jh-pal-02-aphran-ki-kahani-pkg-7203481_10012024113418_1001f_1704866658_1060.jpg

Palamu police revealed kidnapping conspiracy. पलामू पुलिस ने अपरहण के ऐसे मामले का खुलासा किया है, जिसमें अपहरण हुआ ही नहीं था. दरअसल, ऑनलाइन कसीनो में रुपए हारने के बाद युवक ने खुद के अपहरण की साजिश रची थी.

पलामूः ऑनलाइन कसीनो में रुपए हारने के बाद एक युवक ने अपने ही अपहरण की साजिश रच डाली. युवक ऑनलाइन कसीनो में एक लाख रुपए हार गया था. पूरा मामला पलामू प्रमंडलीय मुख्यालय मेदिनीनगर टाउन थाना क्षेत्र का है. दरअसल, मेदिनीनगर के रहने वाले सन्नी कुमार नामक युवक सोमवार को 2.5 लाख रुपए बैंक में जमा करने के लिए निकला था, लेकिन उसने रुपए बैंक में जमा नहीं किए और फिर उसका मोबाइल बंद हो गया था. देर रात तक मोबाइल बंद रहने के बाद परिजनों ने पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी थी. अगले दिन युवक ने अपने परिजनों को फोन कर बताया कि उसका अपहरण हो गया था और वह लातेहार के इलाके में है. परिजन और पुलिस की पहल पर उसे पलामू लाया गया. जहां पूरे मामले का खुलासा हुआ है.

पुलिस को बताई कहानी, पता पूछने के बहाने किया गया अपहरणः युवक अपने रिश्तेदार के प्रतिष्ठान में कार्य करता था. वहीं के रुपए जमा करने वह बैंक जा रहा था. पलामू पहुंचने के बाद युवक ने पुलिस को बताया कि वह बैंक में रुपए जमा करने गया था, लेकिन भीड़ होने के कारण वह रुपए बैंक में जमा नहीं कर पाया. उसने एक दुकान में पैसे और मोबाइल को रख दिया था और शौच के लिए चला गया था. शाम में दोबारा बैंक में रुपए जमा करने जा रहा था तो जिला स्कूल चौक के पास एक व्यक्ति ने उससे स्टेशन जाने का पता पूछा. वह इशारे से पता बता ही रहा था कि इसी क्रम में कुछ लोगों ने उसे रुमाल सूंघा कर अपहरण कर लिया. होश में आने के बाद उसने खुद को जंगल में पाया. जहां वह किसी तरह अपहरणकर्ताओं पर चंगुल से निकलकर भाग गया. पुलिस ने जब मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि युवक ने पूरी कहानी फर्जी तरीके से तैयार की है. युवक ने जिस दुकान में पैसे रखने की बात कही थी वहां उसने पैसे को रखा ही नहीं था.

युवक ने अपहरण की फर्जी कहानी बनाई थीः युवक एक लाख रुपए कसीनो में हार गया था, जबकि डेढ़ लाख रुपए उसने अपने ग्रामीण बैंक के खाते में जमा किए थे. इस संबंध में टाउन थाना प्रभारी अभय कुमार सिन्हा ने बताया कि पुलिस के अनुसंधान में यह बात निकल कर सामने आई है कि युवक ने अपने अपहरण की फर्जी कहानी बनाई थी. युवक के पास जो रुपए थे उसके परिजनों के थे. परिजनों ने एफआईआर लिए थाने में आवेदन नहीं दिया है.

ये भी पढ़ें-

सोशल मीडिया से हुआ प्यार, प्रेमी ने यौन शोषण कर शादी से किया इनकार, पुलिस ने किया गिरफ्तार

आखिर कौन हैं वे लोग जो किसान को ठेकेदार समझ उठा ले गए, अनसुलझी अपहरण की गुत्थी सुलझा रही पुलिस

ऋण की किश्त नहीं चुकाने पर महिला के अपहरण का प्रयास, ग्रामीणों के हंगामे के बाद फरार हुए एजेंट

Last Updated :Jan 10, 2024, 2:21 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.