हिमाचल सरकार के मंत्रियों की 'वैचारिक War', विक्रमादित्य सिंह बोले: अवैध माइनिंग से नुकसान, हर्षवर्धन बोले: बचकाना बयान

author img

By

Published : Jul 14, 2023, 3:16 PM IST

Updated : Jul 14, 2023, 3:52 PM IST

Vikramaditya Singh Vs Harshvardhan Chauhan

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश से हुई तबाही को लेकर लोक निर्माण विभाग मंत्री विक्रमादित्य सिंह के अवैध खनन पर दिए बयान को उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने बचकाना करार दिया है. जानें पूरा मामला... (Vikramaditya Singh Vs Harshvardhan Chauhan).

उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान का बयान

शिमला: हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश से हुए नुकसान पर सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार के दो मंत्री आमने सामने आ गए है. एक ओर पीडब्ल्यूडी मंत्री विक्रमादित्य सिंह बारिश के बाद बाढ़ आदि की वजह अवैध खनन बता रहे है तो दूसरी ओर उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने उनके बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है. हर्षवर्धन चौहान ने PWD मंत्री विक्रमादित्य सिंह के बयान को बचकाना करारा दिया है. हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि प्रदेश में नुकसान की वजह भारी बारिश है. यह अवैध खनन की वजह से नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि अवैध खनन की वजह से एक दो जगह नुकसान हो सकता है, जबकि यह नुकसान पूरे प्रदेश में हुआ है.

उन्होंने कहा कि पूरी कुल्लू घाटी के साथ मंडी के थुनाग और अन्य इलाकों में क्या अवैध खनन हो रहा है. हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि नदी क्षेत्र के 100 मीटर के दायरे में खनन की वैसे भी अनुमति नहीं है. हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि प्रदेश में जो नुकसान हुआ है, उसमें नदियों के किनारे बाढ़ आई है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में भारी बारिश हुई है और बदल फटने की घटनाएं हुई हैं. इस वजह से बाढ़ और भूस्खलन हुआ है. उन्होंने कहा कि पीडब्ल्यूडी मंत्री विक्रमादित्य सिंह का यह बयान बचकाना है.

Vikramaditya Singh Vs Harshvardhan Chauhan
लोक निर्माण विभाग मंत्री विक्रमादित्य सिंह की फेसबुक पोस्ट.

क्या है पूरा मामला?: दरअसल गुरुवार 13 जुलाई को कैबिनेट मंत्री विक्रमादित्य सिंह कुल्लू के दौरे पर थे जहां उन्होंने बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा किया था. इस दौरान उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि ये एक कड़वा सच है कि कुल्लू में बारिश के बाद ज्यादा नुकसान अवैध खनन की वजह से हुआ है और वो इस मुद्दे को विधानसभा से लेकर कैबिनेट और राज्यपाल के सामने उठाएंगे. उन्होंने कहा कि ये सिर्फ कुदरत की वजह से नहीं हुआ है, अगर अवैध खनन को लेकर अधिकारियों की ओर से एक्शन लिया गया होता तो ये हालात नहीं होते. विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि बारिश से नुकसान होता, लेकिन ज्यादा नुकसान अवैध खनन की वजह से हुआ है. अवैध खनन की वजह से ब्यास नदी का रास्ता बदला जिससे भारी तबाही हुई है. कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इस मामले में सख्त से सख्त एक्शन होना चाहिए. इसके अलावा विक्रमादित्य सिंह ने सोशल मीडिया पर भी इसे लेकर पोस्ट किया था. जिसमें उन्होंने कुल्लू में आई बाढ़ और उससे हुए नुकसान की वजह अवैध खनन को बताया. उन्होंने पोस्ट में लिखा है कि इस पर सख्त एक्शन होना चाहिए और वो इस विषय को लेकर मुख्यमंत्री से बात करेंगे.

ये भी पढ़ें- Himachal Flood: केंद्र से 4000 करोड़ की मदद का आग्रह करेगी हिमाचल सरकार, सीएम सुखविंदर सिंह की अगुवाई में होगी मैराथन मीटिंग

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का बयान गैर जिम्मेदाराना: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के हिमाचल सरकार को बाढ़ से पंजाब में आ रहे पानी रोकने के बयान संबंधी उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने गैर जिम्मेदाराना बताया है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पद पर बैठे व्यक्ति से इस तरह का बयान उम्मीद नहीं करते. उन्होंने कहा कि दोनों राज्य ऐसी स्थिति में जूझ रहें हैं, और इस तरह का बयान जिम्मेदार व्यक्ति का नहीं हो सकता. कैबिनेट मंत्री ने कहा कि यह स्वाभाविक कि पानी पहाड़ों ने मैदान की ओर ही जायेगा. उन्होंने कहा कि हिमाचल में त्रासदी है और यह पानी पंजाब जा रहा है.उन्होंने कहा कि इसका ये मतलब नहीं की हिमाचल अपने हकों की बात नहीं करेगा.

ये भी पढ़ें- Himachal floods: जेपी नड्डा ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का किया दौरा, बोले- केंद्र सरकार करेगी हिमाचल की हरसंभव मदद

Last Updated :Jul 14, 2023, 3:52 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.