Himachal Flood: केंद्र से 4000 करोड़ की मदद का आग्रह करेगी हिमाचल सरकार, सीएम सुखविंदर सिंह की अगुवाई में होगी मैराथन मीटिंग

author img

By

Published : Jul 14, 2023, 11:15 AM IST

Himachal Flood

हिमाचल में आई प्रलयकारी बाढ़ से करोड़ों का नुकसान हुआ है. प्रदेश सरकार राहत बचाव कार्य, लोगों तक मदद पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार से मदद मांगेगी. इसको लेकर आज सीएम सुक्खू सभी विभागों के अफसरों के साथ मीटिंग करेंगे. बैठक में आपदा में हिमाचल को हुए नुकसान का ब्यौरा लिया जाएगा. (CM Sukhu meeting regarding Himachal flood)(Himachal Flood)

शिमला: इस बार बरसात ने हिमाचल को शुरुआती दिनों में ही गहरे जख्म दिए हैं. प्रदेश में सरकारी व निजी संपत्ति को चार हजार करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हो चुका है. खराब आर्थिक स्थिति के कारण राज्य सरकार बरसात से प्रभावित इलाकों में राहत और पुनर्वास के लिए केंद्र से मदद मांगेगी. इसके लिए नियमों के तहत पैकेज की डिमांड का ड्राफ्ट तैयार किया जाएगा. कुल्लू व मंडी के दौरे से शिमला लौटे सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू आज सचिवालय में विभागों के अफसरों के साथ मीटिंग करेंगे. इस बैठक में नुकसान के आकलन का ब्यौरा लिया जाएगा.

हिमाचल आपदा को लेकर सीएस की बैठक: इससे पहले गुरूवार को मुख्य सचिव ने सभी विभागों के अफसरों के साथ बैठक कर नुकसान के प्रारंभिक आकलन पर चर्चा की है. साथ ही आने वाले समय में एहतियात के उपायों पर भी चर्चा की है. अब राज्य सरकार का मुख्य फोकस केंद्र से आर्थिक पैकेज हासिल करने पर है. इसके लिए सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू आज सचिवालय में बैठक करेंगे. इस मीटिंग में सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू को गुरुवार की मुख्य सचिव की अगुवाई वाली मीटिंग के बारे में ब्रीफ किया जाएगा.

केंद्रीय टीम को नुकसान का आकलन करने के लिए बुलाया जाएगा: हिमाचल प्रदेश आपदा प्रबंधन विभाग रोजाना नुकसान का आकलन करता है. हिमाचल में अकेले सरकारी संपत्ति को 2 हजार करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हो चुका है. इसमें मुख्य रूप से सड़कों, पेयजल व सिंचाई योजनाओं के अलावा बिजली बोर्ड का नुकसान शामिल रहता है. निजी संपत्ति को भी दो हजार करोड़ रुपए से अधिक के नुकसान का प्रारंभिक आकलन है. राज्य सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग की रिपोर्ट सीएम के समक्ष रखी जाएगी. उस पर विचार व चर्चा के बाद केंद्र सरकार को राहत मेमोरेंडम की औपचारिक फाइल तैयार कर भेजी जाएगी. साथ ही नुकसान का जायजा लेने के लिए केंद्र की टीम को भी बुलाया जाएगा. राज्य सरकार चाहती है कि केंद्र तुरंत मदद करे और आर्थिक पैकेज जारी करे. इससे पूर्व सीएम सुक्खू व अन्य मंत्री भी इस भयावह नुकसान को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग उठा चुके हैं.

पीएमओ व एचएमओ के साथ निरंतर संपर्क: राज्य सरकार के मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना प्रधानमंत्री कार्यालय व गृहमंत्री कार्यालय के साथ निरंतर संपर्क में हैं. केंद्र को राज्य की स्थिति से अपडेट किया जा रहा है. इस बीच, मुख्य सचिव ने राज्य के सभी विभागों से उन्हें हुए नुकसान का ब्यौरा भी मंगवाया है. शिक्षा विभाग, पंचायती राज विभाग, कृषि विभाग, बागवानी विभाग व अन्य विभागों से ब्यौरा आना शुरू हो गया है. सीएम सुक्खू ने थुनाग व अन्य स्थानों में पीडि़तों को एक-एक लाख रुपए की राहत राशि का ऐलान किया है. ऐसे में रिलीफ मैनुअल में भी बदलाव किया जाएगा. वहीं, लोक निर्माण मंत्री विक्रमादित्य सिंह आज सैंज के दौरे पर होंगे. कुल्लू के सैंज में बारिश से भारी नुकसान हुआ है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी हिमाचल में भारी बारिश से हुए नुकसान का जायजा लेंगे. कुल मिलाकर अब राज्य सरकार का फोकस राहत व बचाव कार्य सहित केंद्र से मदद पर है.

ये भी पढ़ें: Chandratal Rescue Operation रहा सफल, सभी यात्रियों को सुरक्षित निकाला गया, सीएम सुक्खू ने शेयर किया वीडियो

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.