राम लक्ष्मण और सीता के रूप में हर की पैड़ी पहुंचे स्थानीय कलाकार, श्री गंगा सभा ने किया स्वागत

author img

By ETV Bharat Uttarakhand Desk

Published : Jan 19, 2024, 12:30 PM IST

Updated : Jan 19, 2024, 2:30 PM IST

Ram Mandir Pran Pratistha

Artists assumed form of Ram Lakshman Sita in Haridwar हरिद्वार में लोग उस समय चौंक गए जब तीन कलाकार राम, लक्ष्मण और सीता का वेश धरकर हर की पैड़ी पर पहुंच गए. गंगा आरती के लिए इकट्ठा हुए श्रद्धालु आश्चर्य से रामायण के पात्र बने कलाकारों की ओर आकर्षित हो गए. श्री गंगा सभा के लोगों के साथ श्रद्धालुओं ने इस दौरान राम भजन गाए.

हर की पैड़ी पर राम लक्ष्मण सीता

हरिद्वार: आजकल जब सबकुछ राममय है. ऐसे में अगर आपको अचानक ही साक्षात राम दिख जाएं तो क्या होगा? गुरुवार को हर की पैड़ी पर सायंकालीन गंगा आरती के बाद कुछ ऐसा ही हुआ. गंगा तट पर राम लक्ष्मण और सीता को एक साथ घूमते देखकर लोग चौंक गए. लोग वहीं उनके वंदन में जुट गए.

कुछ शौकिया कलाकार रील बनाने के लिए राम, लक्ष्मण और सीता के स्वरूप में हर की पैड़ी पहुंचे थे. उन्हें देखकर श्रद्धालु देखते रह गए. इसके बाद गंगासभा के पदाधिकारियों ने भी तीनों स्वरूपों का अभिनंदन किया. दरअसल स्थानीय कलाकार राम, लक्ष्मण और सीता के रूप में हर की पैड़ी पहुंचे. हर की पैड़ी पर श्री गंगा सभा के पदाधिकारियों ने कलाकारों का स्वागत किया और गंगाजल भी भेंट किया.

आपको बता दें कि अयोध्या राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा को पूरे देश में एक उत्सव के रूप में मनाया जा रहा है. आज राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का चौथा दिन चल रहा है. 22 जनवरी को राम मंदिर का उद्घाटन होना है. धर्मनगरी हरिद्वार में भी इसे लेकर खासा उत्साह है. तीन स्थानीय कलाकार राम लक्ष्मण और सीता का रूप धारण कर हर की पैड़ी पहुंचे. श्री गंगा सभा के महामंत्री तन्मय वशिष्ठ और श्री गंगा सेवक दल के प्रमुख उज्ज्वल पंडित ने तीनों कलाकारों का भव्य स्वागत किया. इतना ही नहीं सभी लोगों ने मिलकर भगवान राम के भजन भी गाए. स्थानीय कलाकारों को देखकर हर की पैड़ी पर मौजूद श्रद्धालु भी उत्साहित नजर आए. श्रद्धालुओं ने भी उनके साथ राम भजन गाए.

ज्ञात रहे कि आजकल राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर हर की पैड़ी पर भी तैयारियां चल रही हैं. 22 जनवरी को हर की पैड़ी को भव्य रूप में सजाया जाएगा और हर की पैड़ी पर असंख्य दीप जलाकर दीपोत्सव मनाया जाएगा.
ये भी पढ़ें: हरिद्वार में साधु-संतों ने डाली थी राम मंदिर आंदोलन की नींव, स्वामी रूपेंद्र प्रकाश से जानें संघर्ष की कहानी

Last Updated :Jan 19, 2024, 2:30 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.