बिना रुके, बिना थके कौशाम्बी से अयोध्या पहुंचेगा यह रामभक्त

author img

By ETV Bharat Uttar Pradesh Desk

Published : Jan 18, 2024, 10:19 PM IST

Updated : Jan 18, 2024, 10:53 PM IST

ि्

कौशाम्बी के सुधीर निषाद अयोध्या में रामलला के दर्शन के लिए अल्ट्रा मैराथन पर निकले हैं. सुधीर दो दिन में 200 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे.

कौशाम्बी के सुधीर निषाद अयोध्या में रामलला के दर्शन के लिए अल्ट्रा मैराथन पर निकले हैं.

कौशाम्बी : 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम है. ऐसे में हर कोई अयोध्या पहुंचकर भगवान राम के दर्शन करना चाहता है. कौशाम्बी का एक युवक लगातार दौड़ते हुए अयोध्या के लिए निकला है. सुधीर निषाद दौड़ाते हुए 2 दिन में अयोध्या पहुंचेगा. सुधीर जब घर से निकला तो लोगों ने फूल मालाओं के साथ उसको विदा किया.

कौशाम्बी के सुधीर निषाद ने भगवान राम के दर्शन के लिए 200 किलोमीटर यात्रा शुरू की है.सिराथू तहसील के सैनी गांव के रहने वाले गुलाब निषाद एक किसान हैं. बेटा सुधीर निषाद दौड़ प्रतियोगिताओं में कई मेडल जीत चुका है. सुधीर हरियाणा और बलिया में आयोजित हॉफ मैराथन प्रतियोगिता में भी शामिल रहा है. अयोध्या की 200 किलोमीटर दौड़ पर निकले सुधीर का कहना है कि इस बार अल्ट्रा मैराथन भगवान राम के लिए दौड़ना चाहता है. वह यह यात्रा 2 दिन में पूरी कर भगवान राम का दर्शन पूजन करेगा. उसका कहना है कि उसके इस फैसले का साथियों ने और परिवार के लोगों ने सपोर्ट किया.

काशी के दिव्यांग राजकुमार ने बनाया राम दरबार.

काशी के दिव्यांग राजकुमार ने बनाया राम दरबार, पीएम मोदी को सौंपेंगे

काशी में भी रामलाल की धूम है. देश भर से लोग राम के प्रति अपनी भेंट भेज रहे हैं. ऐसे में दिव्यांग रंगकर्मी राजकुमार ने कबाड़ से मंदिर का मॉडल बनाया है. राजकुमार बनारस के जानकी घाट के छोटे से मकान में रहते हैं. राजकुमार ने बताया शादी के कार्ड, कपड़े और छोटी-मोटी चीजें लोग फेंक देते हैं. उससे ही भगवान राम का दरबार बनाया है. कहा कि मैं यह प्रधानमंत्री को भेंट स्वरूप देना चाहता हूं. कहा कि पीएम के जनसंपर्क कार्यालय पर जाकर इसको दूंगा. ताकि उनको भी पता चले कि बनारस में भी ऐसे लोग हैं.

आगरा में राम की भक्ति में लीन हुए किन्नर.
आगरा में राम की भक्ति में लीन हुए किन्नर, घर-घर जाकर मना रहे उत्सव

आगरा के किन्नर समाज में भी रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा को लेकर खुशी का माहौल है. किन्नर घर-घर जाकर बधाइयां गा रहे हैं. राम कीर्तन में लीन किन्नर चांदनी का कहना है कि उन्हें 22 जनवरी का बेसब्री से इंतजार हैं. दिवाली दोबारा आ रही है. वहीं किन्नर लक्की जादौन का कहना है कि भगवान राम की प्राण-प्रतिष्ठा को लेकर उन्हें बहुत खुशी है. जब भगवान राम 14 वर्ष के वनवास पर गए थे,तब किन्नर भी उनके साथ गए थे. भगवान राम ने पीछे चल रहे नर-नारियों को अपनी सौगंध देकर लौटा दिया था, लेकिन किन्नर समाज भगवान राम का सारथी बनकर साथ चला था. किन्नरों की टोलियां हाथ में भगवा ध्वज और ताल-मंजीरे लेकर सड़कों पर कीर्तन गा रही हैं.

हाथरस में किन्नरों ने निकाली कलश यात्रा

हाथरस में गुरुवार को किन्नर समाज ने कलश यात्रा निकाली. यह यात्रा श्रीनगर से शुरू होकर श्री राम मंदिर पहुंच कर पूरी हुई. कलश यात्रा के संबंध में किन्नर गुरु मनीषा ने बताया कि हमारे श्री राम लौट कर आ रहे हैं. इस खुशी में हम यह यात्रा निकाल रहे हैं. यह यात्रा श्रीनगर से घंटाघर, बेनीगंज, कमला बाजार, सासनी गेट होते हुए राम मंदिर पर समाप्त हुई. यात्रा में शामिल एक अन्य किन्नर अंशी ने बताया कि प्रभु श्रीराम हमारे इष्ट हैं. हमें वरदान दिया था कि कलयुग में तुम्हारा ही राज होगा. आज हमारे प्रभु राम आ रहे हैं.

यह भी पढ़ें : राम के रंग में रंगी अयोध्या, हर ओर दीवारों पर दिखेगी अद्भुत चित्रकारी

यह भी पढ़ें : रामलला प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव की शुभकामना के लिए 4000 महिलाओं ने अवसान मैया का किया पूजन

Last Updated :Jan 18, 2024, 10:53 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.