मध्य प्रदेश के चुनाव में धृतराष्ट्र की एंट्री, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह बोले- "कांग्रेस में दो धृतराष्ट्र"

author img

By ETV Bharat Madhya Pradesh Team

Published : Nov 8, 2023, 8:54 PM IST

Shivraj Singh Chuhan

Entry of Dhritarashtra in MP Election 2023: मध्य प्रदेश की सियासत में शोले फिल्म के जय और वीरू के बाद अब महाभारत के पात्र धृतराष्ट्र की एंट्री हो गई है. प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह ने कहा है कि कांग्रेस में दो धृतराष्ट्र हैं.

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 अपने पूरे रंग में नजर आ रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, प्रियंका गांधी, राहुल गांधी, मायावती, अखिलेश यादव सरीखे राष्ट्रीय नेता मध्य प्रदेश के बड़े शहरों से लेकर छोटे शहरों तक नजर आ रहे हैं. इनके अलावा कई प्रदेशों के मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री भी चुनाव प्रचार के लिए मध्य प्रदेश में दिखाई दे रहे हैं. एमपी के विधानलभा चुनाव में ऐतिहासिक पात्रों की एंट्री हो रही है, कोई किसी को पांडव तो कोई कौरव बताने में लगा है, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बिना किसी का नाम लिए राज्य कांग्रेस में दो धृतराष्ट्र होने की बात कही है.

शिवराज बोले मध्य प्रदेश में दो-दो घृतराष्ट्र: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के एक बयान का जिक्र करते हुए कहा, "महाभारत में तो एक धृतराष्ट्र थे, मगर मध्य प्रदेश में दो-दो घृतराष्ट्र हैं, जो पुत्रों को स्थापित करने में पूरी कांग्रेस की तिलांजलि देकर मानेंगे."

कांग्रेस ने खुद को मान लिया कौरव: उन्होंने आगे कहा कि "कांग्रेस के अध्यक्ष खड़गे कह रहे थे, भाजपा के पांच पांडव हमसे लड़ रहे हैं, मतलब कांग्रेस ने मान लिया वे कौरव हैं क्योंकि पांडव लड़ते हैं न्याय की लड़ाई, वे अधर्म के खिलाफ लड़ते हैं और कौरव लड़ रहे थे, स्वार्थ की लड़ाई. इसलिए, यह स्वार्थ, धर्म-अधर्म, न्याय-अन्याय की लड़ाई में पांडव जीतेंगे".

ये भी पढ़ें:

MP Chunav 2023 : बड़वानी के पानसेमल में CM शिवराज ने Congress को बताया धोखेबाज पार्टी, पूर्व गृह मंत्री बाला बच्चन ने किया पलटवार

शिवराज का कमलनाथ और दिग्विजय पर बड़ा कटाक्ष, बोले- "कांग्रेस के जय-वीरू में लूट के माल के लिए झगड़ा"

शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि खड़गे ने मान लिया कि वे कौरव हैं, महाभारत में तो एक धृतराष्ट्र थे, जो अपने बेटे को राज्य दिलाने के लिए लड़ रहे थे और कौरवों के अंत का कारण बने, लेकिन एमपी कांग्रेस में तो दो-दो धृतराष्ट्र हैं, जो पुत्रों को स्थापित करने में पूरी कांग्रेस की तिलांजलि देकर मानेंगे.

(Agency Input)

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.