विभाग को लेकर बोले राजेश धर्माणी, सीएम ने नहीं पूछी इच्छा, अब जो मिला है उसी में करना है बेहतर काम

author img

By ETV Bharat Himachal Pradesh Desk

Published : Jan 12, 2024, 9:30 PM IST

Rajesh Dharmani News

Rajesh Dharmani News: राजेश धर्माणी को उनका मनपसंद विभाग नहीं मिला है. कैबिनेट मंत्री राजेश धर्माणी ने कहा कि विभाग देना मुख्यमंत्री का विशेष अधिकार होता है. मुख्यमंत्री ने उनसे इस बारे में कोई बात नहीं की. यदि मुख्यमंत्री ने पूछा होता, तो वह इस बारे में बताते. अब उन्हें जो विभाग मिला है, वह उसी में काम करेंगे. पढ़ें पूरी खबर...

कैबिनेट मंत्री राजेश धर्माणी

शिमला: मन पसंद का विभाग का न मिलने पर कैबिनेट मंत्री राजेश धर्माणी का दर्द छलका है. उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि विभाग देना मुख्यमंत्री का अधिकार क्षेत्र है. विभाग देने से पहले सीएम ने कोई चर्चा नहीं की है. अगर बात करते तो इस पर जरूर अपनी राय रखते, अब को विभाग मिला है, उसमें बेहतर काम करके देना है. हिमाचल सरकार में कैबिनेट मंत्री राजेश धर्माणी ने कहा है कि विभाग देना मुख्यमंत्री का विशेष अधिकार है. विभाग को लेकर मुख्यमंत्री ने उनसे कोई चर्चा नहीं की है. अगर सीएम ने विभाग को लेकर इच्छा पूछी होती तो इस बारे में जरूर अपनी राय रखते. उन्होंने कहा कि अब जो विभाग मिला है, उसी में बेहतर काम करके देना है. बता दें कि राजेश धर्माणी सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू के करीबियों में गिने जाते हैं. जिनको तकनीकी शिक्षा विभाग दिया गया है. ऐसे में इन दिनों धर्माणी को मन पसंद का विभाग न मिलने को लेकर राजनीति गलियारों में चर्चा का बाजार गर्म है. जिस पर कैबिनेट मंत्री ने विभाग को लेकर पूछे गए सवाल पर अपनी राय रखी.

ये भी पढ़ें- RSS का सदस्य होने के आरोप पर किए तबादले पर हाइकोर्ट ने लगाई रोक

चारों सीटों पर जीतेगी कांग्रेस: तकनीकी शिक्षा मंत्री राजेश धर्माणी ने आने वाले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस चारों सीट पर जीत का दावा किया. उन्होंने कहा कि भाजपा व कांग्रेस में जमीन आसमान का अंतर है. उन्होंने कहा कि बीजेपी प्रचार-प्रसार पर ज्यादा ध्यान देती है. भाजपा को हमेशा से ही आरएसएस का साथ मिलता रहा है. बीजेपी को अगर आरएसएस साथ नहीं मिलता है तो भाजपा का कोई अस्तित्व नहीं है. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस की स्थिति काफी बेहतर है, ऐसे में लोकसभा चुनाव में चारों सीटों का जीत का परचम लहराएगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सांसद जनता की आवाज को संसद में प्रमुखता से उठाते हैं, लेकिन भाजपा के सांसद प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के सामने बात करने की हिम्मत तक नहीं जुटा पाते है. उन्होंने कहा कि हिमाचल में प्राकृतिक आपदा को लेकर केवल मंडी संसदीय क्षेत्र से सांसद प्रतिभा सिंह ने ही प्रदेश की पैरवी की. उन्होंने हिमाचल के मुद्दों को प्रमुखता के साथ केंद्र सरकार के सामने रखा.

सबसे बड़ी गारंटी को पहले लागू किया: राजेश धर्माणी ने कहा कि सत्ता में आने से पहले कांग्रेस ने जनता को 10 गारंटी देने का वादा किया था. प्रदेश में सरकार ने बड़ी गारंटी ओल्ड पेंशन स्कीम को सबसे पहले लागू कर अपना वादा निभाया है. इसके बाद राजीव गांधी स्टार्ट अप योजना को लागू कर सरकार ने अपने दूसरे वादे को भी पूरा किया है. इसके अतिरिक्त कांग्रेस ने हर विधानसभा में इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने की गारंटी दी थी, जिस पर काम हो रहा है. उन्होंने कहा कि किसानों को दो रुपए प्रति किलो गोबर खरीदने और गाय-भैंस का दूध खरीदने का जो वादा किया गया है, उसे भी जल्द ही पूरा किया जाएगा.उन्होंने कहा कि अन्य गारंटियों को लेकर भी सरकार काम कर रही है.

ये भी पढ़ें- हिमाचल के DGP बने रहेंगे संजय कुंडू, सुप्रीम कोर्ट ने हाइकोर्ट के फैसले को किया रद्द, SIT जांच रहेगी जारी

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.