संजौली में तेंदुए का आतंक, ग्रामीणों ने वन विभाग से की पिंजरा लगाने की मांग

author img

By ETV Bharat Himachal Pradesh Desk

Published : Jan 5, 2024, 12:09 PM IST

Leopard Attack in Shimla

Leopard Attack in Shimla: शिमला शहर के कई इलाकों में तेंदुए का आतंक लगातार सामने आ रहा है. संजौली में लक्ष्मी नारायण मंदिर के पास तेंदुए ने 2 दिनों 2 कुत्तों को निशाना बनाया है जिससे स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है. अब स्थानीय लोग वन विभाग से पिंजरा लगाने की मांग कर रहे हैं. पढ़ें पूरी खबर..

शिमला: हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में एक बार फिर से तेंदुए का आतंक दिखा है. दरअसल, संजौली में पिछले दो दिनों से तेंदुए का आतंक बढ़ता जा रहा है. तेंदुए ने पिछले 2 रातों में 2 कुत्तों को अपना शिकार बनाया है, जिसके बाद से स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है. बता दें कि पहले भी संजौली में कई बार आधी रात को तेंदुए ने कुत्तों को अपना शिकार बनाया है. स्थानीय व्यक्ति राकेश कुमार और रोशन ठाकुर ने बताया कि सर्दी के शुरू होते ही यहां पर तेंदुए के हमले शुरू हो जाते हैं.

स्थानीय लोगों का कहना है कि वन विभाग के वन्य प्राणी विंग के समय ये मामला उठाया है. उम्मीद है कि जल्द ही वन्य प्राणी विंग की ओर से तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरे लगाए जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि मंगलवार और बुधवार की रात को दस बजे के करीब ही तेंदुआ कुत्तों को उठा कर ले गया और पालतू कुत्ते पर भी हमला किया, इसे काफी चोटें आई हैं. अब तो स्थानीय लोगों को पैदल चलते समय भी डर सताने लगा है.

बता दें कि इससे पहले भी डिंगू मंदिर जाने वाले रास्ते पर पिछले साल तेंदुए के रिहायशी इलाके में आने से लोग काफी दहशत में थे. इस बार भी सर्दी शुरू होते ही बाजार से लेकर पूरे रास्ते में ऐसी ही स्थिति बन गई है. शिमला में तेंदुआ पहले भी देखा गया है. कनलोग और डाउन डेल में एक छोटी बच्ची को तेंदुआ उठा कर ले गया था, उसके बाद शहर में दहशत फैल गई थी. वन विभाग ने पिंजरा भी लगाया था, लेकिन तेंदुए को नहीं पकड़ा जा सका. अब एक बार फिर संजौली में तेंदुए ने कोहराम मचाना शुरू कर दिया है. हालांकि अभी कुत्तों को ही अपना निशाना बनाया है, लेकिन रिहायशी इलाके में तेंदुए के आने से लोगों में डर बैठ गया है.

ये भी पढ़ें: पुलिस कर्मी समेत चिट्टा रखने के चार दोषियों को एक साल की सजा, 20-20 हजार रुपये जुर्माना

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.