पानीपत में लूट गिरोह के 4 सदस्य गिरफ्तार, देसी पिस्टल और दो तलवार बरामद

author img

By ETV Bharat Haryana Desk

Published : Jan 9, 2024, 7:24 PM IST

Robbery Gang Panipat

Robbery Gang Panipat: पानीपत पुलिस ने लूट गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है. इस गिरोह ने पानीपत में 25 से ज्यादा आपराधिक वारदातों को अंजाम देना कबूला है. पुलिस ने आरोपियों के पास से देसी पिस्तौल, दो तलवार और एक बलेनो कार बरामद की है.

पानीपत: पत्नी के नाम पर गिरोह बनाकर लूट और चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले गैंग के 4 सदस्यों को पानीपत पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस ने चारों के पास से देसी पिस्तौल, दो तलवार और एक बलेनो कार बरामद की है. चारों आरोपियों ने जिले में चोरी और लूट की 25 से ज्यादा वारदात को अंजाम देने के बारे में कबूला है. सीआईए 1 के इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने बताया कि सनौली रोड स्थित फैक्ट्री में आरोपियों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया था.

पुलिस जांच में पता चला कि पानीपत शिव गांव के पास लूट के बैग किसी दूसरी गाड़ी में भरकर कहीं और भेज दिए गए हैं. कड़ी जोड़ते हुए पुलिस ने इस जगह के मुखबिरों को एक्टिव किया. जिसके बाद मुखबिर खास ने सूचना दी कि चार संदिग्ध व्यक्ति कार में सवार होकर किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं. पुलिस टीम ने तुरंत दबिश देकर चारों लोगों को गिरफ्तार किया.

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि सनौली रोड पर फैक्ट्री में गन पॉइंट पर लूट करने वो ही हैं. हाल ही में इन्होंने सीएससी सेंटर पर गन पॉइंट पर लूट की थी. इस गिरोह के सरगना ने शहर में ऑटो रिक्शा और ट्रैक्टरों की बैटरी चोरी करने की वारदात को अंजाम देते हैं. अभी तक आरोपियों ने 25 आपराधिक वारदात कबूली है. इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने बताया कि इस गिरोह का सरगना साहिल है.

आरोपी साहिल जींद का रहने वाला है. वो अपनी पत्नी के नाम से बाजू गैंग चल रहा था. ये गैंग पहले राजस्थान में सक्रिय था. लगभग डेढ़ साल पहले साहिल राजस्थान में चूरू पुलिस के हत्थे चढ़ गया था और कुछ समय पहले ही जेल से जमानत पर बाहर आया. जिसके बाद उसने पानीपत में अपने रिश्तेदारों के संग नई गैंग बनाई और फिर से चोरी और लूट की वारदात को अंजाम देने लगा.

गैंग में पकड़े गए अन्य सदस्य का पहले भी आपराधिक रिकॉर्ड रह चुका है. इसी के साथ दो अन्य सदस्यों के बारे में भी पता किया जा रहा है कि वो भी किसी आपराधिक घटना में पहले शामिल हैं या नहीं. ये गैंग गाड़ी किराए पर लेकर और उनके नंबर प्लेट बदलकर वारदात को अंजाम देते थे. ये वारदात करने के बाद उसे पैसे से सिर्फ मौज मस्ती और महंगे के कपड़े खरीदने में खर्च किया करते थे.

ये भी पढ़ें- हरियाणा में रिश्वतखोरों पर शिकंजा, ACB के इंस्पेक्टर समेत 2 को घूस लेते किया गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- हरियाणा में कार और ट्रक की टक्कर में दिल्ली पुलिस के 2 इंस्पेक्टर की मौत, गाड़ी के परखच्चे उड़े

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.