हरियाणा में पटवारी-कानूनगो की हड़ताल जारी, बोले- लंबे समय से लगा रहे अधिकारियों के चक्कर

author img

By ETV Bharat Haryana Desk

Published : Jan 4, 2024, 9:15 PM IST

Patwari Kanungo Strike

Haryana Patwari Kanungo Strike: हरियाणा में वेतनमा सहित अन्य मांगों को लेकर रेवेन्यू पटवारी कानूनगो संगठन 3 दिन की सांकेतिक हड़ताल पर हैं. जिसके चलते रेवेन्यू विभाग का पटवारी और कानूनगो से संबंधित काम प्रभावित हो रहा है. इनका आरोप है कि सरकार वादा खिलाफी कर रही है. इसलिए फिलहाल 3 दिन की सांकेतिक हड़ताल की जा रही है.

हरियाणा में सांकेतिक हड़ताल जारी

भिवानी: हरियाणा में वेतन बढ़ोतरी न होने से नाराज पटवारी व कानूनगो की तीन दिवसीय सांकेतिक हड़ताल दूसरे दिन भी जारी रही. कर्मचारियों का कहना है कि सरकार नहीं मानी तो अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की जाएगी. कर्मचारियों का आरोप है कि सरकार ने जो वेतनमान की घोषणा की थी. वह सही तरीके से लागू करें. पटवारियों ने कहा कि सरकार द्वारा पिछले दिनों की गई वेतनमान वृद्धि की घोषणा को सही तरीके से लागू करे. क्योंकि कुछ समय पहले लगे कर्मचारियों की व पिछले 8 सालों से लगे कर्मचारियों का वेतनमान एक है.

'सरकार से कई बार हो चुकी बात': प्रदेश के अलग-अलग राज्यों में पटवारी और कानूनगो संगठन हड़ताल पर है. रोहतक में भी तीन दिन की सांकेतिक हड़ताल जारी है. यहां पर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष जयवीर चहल ने कहा कि सरकार से कई बार बातचीत हो चुकी है और उनकी मांगों पर विचार भी किया गया. लेकिन सरकार इसे लागू नहीं कर रही है. जिसके चलते मजबूरन उन्हें तीन दिन की सांकेतिक हड़ताल करनी पड़ रही है.

'पटवारियों की भर्तियां करे सरकार': जयवीर चहल ने कहा कि वे नहीं चाहते की हड़ताल की वजह से आम जनता परेशान हो. लेकिन जो भी दिक्कत आ रही है उसकी जिम्मेदार हरियाणा सरकार है. उन्होंने कहा कि वेतन विसंगतियों को दूर करने, राजस्व पटवारी की नई भर्ती करने तथा विभागीय परीक्षाएं समय पर करवाने की मांग को लेकर वह कई बार मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री व राजस्व विभाग के अधिकारियों से मिल चुके हैं. लेकिन उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा.

हड़ताल जारी परेशानी भारी: हरियाणा में पटवारी और कानूनगो की हड़ताल का खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है. आम लोगों के जमीन संबंधी सभी प्रकार के काम लटक गए हैं. लेकिन हरियाणा सरकार से पटवार एवं कानूनगो एसोसिएशन को उनकी मांगें माने जाने संबंधी फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है. जबकि हड़ताल के कारण भूमि रिकार्ड, रजिस्ट्री, फसल वैरिफिकेशन, जमीन पैमाइश, डोमिसाइल प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, आवास प्रमाण पत्र जैसे अन्य कार्य बाधित हो गए.

'सरकार से नहीं मिला भरोसा': जिला पंचकूला की दी रेवेन्यू पटवार एवं कानूनगो एसोसिएशन के अध्यक्ष भाग चंद ने बताया कि उन्हें दूसरे दिन भी प्रदेश सरकार से किसी प्रकार का कोई भरोसा नहीं मिला है. फिलहाल तक उनकी मांगों पर प्रदेश सरकार का कोई ध्यान नहीं है. उन्होंने चेताया कि यदि समय पर उनकी मांगें नहीं मानी जाती तो राज्य इकाई की कॉल पर प्रदेश में अनिश्चितकालीन हड़ताल भी की जा सकती है.

पटवारियों की मांगें: हरियाणा में दी रेवेन्यू पटवार एवं कानूनगो एसोसिएशन के आह्वान पर राज्य के कानूनगो और पटवारी हड़ताल पर हैं. उनकी मांग है कि पटवारी और कानूनगो के बढ़ाये गए वेतनमान को एक जनवरी 2016 से लागू किया जाए. सरकार ने उनका वेतनमान जनवरी 2024 से लागू किया है. दी रेवेन्यू पटवार एवं कानूनगो एसोसिएशन पंचकूला के अध्यक्ष भाग सिंह ने बताया कि उन्हें एरियर नहीं चाहिए. लेकिन सरकार उनका वेतनमान 2016 से लागू करे. ताकि नये और पुराने सभी सहयोगियों को फायदा मिल सके. उन्होंने कहा कि समय पर विभागीय परीक्षा साल में दो बार होनी चाहिए, जिससे प्रमोशन का लाभ मिल सके.

ये भी पढ़ें: पटवारी और कानूनगों की हड़ताल से परेशान लोग, काट रहे कार्यालयों के चक्कर

ये भी पढ़ें: हरियाणा में पटवारियों ने किया हड़ताल का ऐलान, वेतनमान सहित गई मांगों को लेकर नाराज

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.