गया से भगवान विष्णु के चरण का नीर, फल्गु नदी का जल और बालू जाएगा अयोध्या, इसमें करेंगे प्रभु राम जल निवास

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Jan 12, 2024, 12:56 PM IST

Updated : Jan 12, 2024, 1:32 PM IST

गया से भगवान विष्णु के चरण का नीर, फल्गु नदी का जल और बालू जाएगा अयोध्या

Ayodhya Ram mandir: अयोध्या में राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी चल रही है. ऐसे में गया स्थित विश्व प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर में भी तैयारियां पूरी हैं. दरअसल यहां से भगवान विष्णु के चरण का नीर, फल्गु नदी का जल और बालू लेकर साधु संत अयोध्या जाएंगे. भगवान राम की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा से पहले सारे विधि विधान की बिहार में भी बड़े स्तर पर तैयारी हो रही है. पटना के महावीर मंदिर में बिहार के सभी तीर्थ स्थलों से जल मंगवाया गया है जिसे अयोध्या भेजा जाना है.

देखें वीडियो

गया: बिहार के गया में स्थित विश्व प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर से भगवान विष्णु के चरण का नीर, मोक्षदायिनी फल्गु नदी का जल और बालू अयोध्या भेजा जा रहा है. गया तीर्थ विष्णुपद मंदिर के गर्भगृह में स्थित भगवान श्री विष्णु चरण का नीर और फल्गु के जल से अयोध्या में भगवान श्री राम जल निवास करेंगे. फिर जल निवास के बाद रामलला की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी.

विश्व प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर में भगवान विष्णु के पदचिह्न
विश्व प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर में भगवान विष्णु के पदचिह्न

फल्गु नदी का जल और बालू लेकर अयोध्या जाएंगे साधु-संत: गया में भगवान श्री राम, माता सीता और लक्ष्मण जी आए थे, यह प्रमाणित है. विश्व प्रसिद्ध विष्णु पद मंदिर और भगवान श्री राम के गया आने की महत्ता को देखते हुए यहां से भगवान विष्णु के चरण का नीर और फल्गु नदी का जल व बालू अयोध्या मंगाया गया है. भगवान के चरण का नीर, फल्गु का जल और बालू लेकर शुक्रवार को ही गया से राम भक्त रवाना हो गए हैं.

कलश यात्रा
कलश यात्रा

अयोध्या मंगवाया गया है भगवान विष्णु के चरण का नीर: बताया जा रहा है, कि भगवान राम गया जी को आए थे और अपने पिता राजा दशरथ का पिंडदान किया था. इसके अलावे भगवान राम, माता सीता और लक्ष्मण से जुड़ी कई पौराणिक कथाएं विभिन्न शास्त्रों- पुराणों में वर्णित हैं. इसकी महत्ता को देखते हुए यहां से भगवान विष्णु के चरण का नीर, फल्गु का जल और बालू अयोध्या मंगाया गया है.

निकाली गई कलश यात्रा : ऐसे में शुक्रवार की सुबह को गया विष्णुपद में कलश यात्रा निकाली गई. कलश यात्रा में भगवान विष्णु के चरण का नीर लिया गया है, फिर फल्गु का जल भरा गया और अंत में सलिल फल्गु का बालू भी लिया गया. गया तीर्थ से भगवान विष्णु के चरण का नीर, फल्गु का जल और बालू लेकर शुक्रवार की संध्या को भक्तों की टोली प्रस्थान करेगी.

फल्गु नदी का जल लेकर श्रद्धालु जाएंगे अयोध्या
फल्गु नदी का जल लेकर श्रद्धालु जाएंगे अयोध्या

साधु संतों और भक्तों में उत्साह: वहीं अयोध्या जाने वाली टीम में शामिल राम भक्त अनिल स्वामी ने बताया कि हमें यह मौका मिला है. गया विष्णुपद तीर्थ से भगवान विष्णु के चरण का नीर, फल्गु का जल और बालू लेकर अयोध्या जाना है. आज हम लोगों ने इसे लेकर कलश यात्रा निकाली है.

"हम सभी पटना महावीर मंदिर जाएंगे. वहां से कई तीर्थ का जल लेकर हम लोग बक्सर होते हुए अयोध्या के लिए प्रस्थान करेंगे.इन्हीं तीर्थ के जल में भगवान जल निवास करेंगे और जल निवास करने के बाद अयोध्या राम मंदिर में भगवान राम लाल की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी."- अनिल स्वामी, श्रद्धालु

अयोध्या में 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी: कलश यात्रा में शामिल गयापाल पंडा मणिलाल बारिक ने बताया कि 22 जनवरी को राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा है. हमें भी अयोध्या में भगवान विष्णु के चरण का नीर, फल्गु का जल और बालू लेकर आने को कहा गया है. अयोध्या में भगवान राम के प्राण प्रतिष्ठा के निमित देश के बड़े तीर्थ विष्णुपद मंदिर से भगवान विष्णु के चरण से जल लेकर अयोध्या प्रस्थान करेंगे.

"भगवान राम गया को आए थे, यह प्रमाणित है. ऐसे में यहां के भगवान विष्णु चरण का जल, फल्गु का जल और मिट्टी अयोध्या मंगाई गई है. ये हमारे लिए सौभाग्य की बात है."- मणिलाल बारिक, गयापाल पंडा

इसे भी पढ़ें-

राम लला के 'गृह प्रवेश' को लेकर जनकपुर धाम में उत्साह, माता सीता के मायके से गिफ्ट लेकर अयोध्या जाएंगे 500 लोग

Watch Video : भगवान राम के गृहप्रवेश को लेकर मिथिला की बेटियों ने गाया गीत, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

अयोध्या की तरह दरभंगा में भी है राम मंदिर, काले रूप में विराजमान हैं प्रभु, 300 साल से हो रही पूजा

'कांग्रेस एंटी हिंदू, समाप्त हो जाएगी', राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का न्योता ठुकराने पर BJP का हमला

Last Updated :Jan 12, 2024, 1:32 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.