पीएमओ की टीम ने मांगी सिलक्यारा टनल रेस्क्यू की प्रगति रिपोर्ट, DRDO की रोबोटिक्स टीम भी मदद को पहुंची, डिक्स को सब ठीक होने की उम्मीद

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Nov 20, 2023, 1:12 PM IST

Updated : Nov 20, 2023, 1:50 PM IST

Uttarkashi Silkyara Tunnel Rescue

Uttarkashi Silkyara Tunnel Rescue 9th Day उत्तरकाशी के सिलक्यारा टनल हादसे का आज 9वां दिन है. 9 दिन से 41 मजदूर टनल के अंदर फंसे हुए हैं. राज्य और केंद्र की विभिन्न एजेंसियां रेस्क्यू कार्य में लगी हुई हैं. अंतर्राष्ट्रीय टनलिंग विशेषज्ञ भी सिलक्यारा में पसीना बहा रहे हैं. डीआरडीओ की रोबोटिक्स टीम भी मदद के लिए पहुंच गई है. इस बीच पीएमओ के सलाहकारों ने रेस्क्यू में लीग टीमों से आज शाम तक रेस्क्यू ऑपरेशन और उसकी प्रगति पर आखिरी रिपोर्ट मांगी है. इस बीच अंतर्राष्ट्रीय टनलिंग विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर आशान्वित हैं.

उत्तरकाशी (उत्तराखंड): सिलक्यारा की टनल में पिछले 9 दिन से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. देश और विदेश के बड़े विशेषज्ञ सिलक्यारा टनल के हादसा स्थल पर मौजूद हैं. हर कोई टनल के अंदर 9 दिन से फंसे मजदूरों के सकुशल रेस्क्यू के लिए दिमाग दौड़ा रहा है. लेकिन अभी तक टनल में फंसे मजदूरों को सुरक्षित नहीं निकाला जा सका है. न ही कोई सॉलिड प्लान बन पाया है, जिससे ये तय हो जाए कि अब मजदूरों को इस रास्ते सुरक्षित रेस्क्यू किया जाएगा. फिलहाल डीआरडीओ (Defence Research and Development Organisation) की टीम भी सिलक्यारा टनल पहुंच चुकी है. उनके साथ रोबोटिक्स टीम भी है, जो रेस्क्यू में मदद करेगी.

रेस्क्यू के लिए नया प्लान: वहीं, रेस्क्यू के लिए नया प्लान तैयार किया गया है जिसके तहत ड्रिलिंग मशीन को टनल के प्वाइंट 'सी' पर ऊपर ले जाया जाएगा और यहां से नीचे की तरफ ड्रिल किया जाएगा. ये हिस्सा सुरंग का मजबूत हिस्सा है. भूस्खलन वाले स्थान से 50-60 मीटर आगे नीचे की तरफ करीब 103 मीटर की ड्रिलिंग होगी. सब सही रहा तो इस प्वाइंट से अंदर फंसे 41 लोगों को एयरलिफ्ट किया जा सकेगा. वहीं, ड्रिलिंग मशीन को ऊपर लेकर जाने के लिए अस्थायी सड़क बनाई जा रही है. करीब 1200 मीटर की सड़क बनाने का प्लॉन है. वहीं, रविवार शाम तक करीब 900 मीटर सड़क बना ली गई है.

  • #WATCH | Uttarkashi (Uttarakhand) tunnel rescue operation | International Tunneling Expert, Arnold Dix says "It is looking good, but we have to decide whether it is actually good or is it a trap. It is looking very positive as we have the best experts in Himalayan geology with… pic.twitter.com/IcnmHjGfRw

    — ANI (@ANI) November 20, 2023 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

आज शाम तक देनी ही रेस्क्यू की प्रगति रिपोर्ट: इस बीच पीएमओ की सलाहकार और विशेषज्ञों की पांच सदस्यीय टीम पिछले तीन दिन से सिलक्यारा टनल परिसर में ही कैंप किए हुए है. इस टीम को लीड कर रहे पीएमओ के पूर्व सलाहकार भास्कर खुल्बे और पीएमओ में उप सचिव मंगेश घिल्डियाल के साथ टीम रेस्क्यू के हर पहलू पर माथापच्ची कर रही है. आरवीएनएल, नवयुग, ओएनजीसी, राज्य पीडब्ल्यूडी, बीआरओ और टीएचडीसी की टीमें रेस्क्यू अभियान में दिन रात लगी हैं. अब पीएम की टीम ने रेस्क्यू टीमों से अपील की और वो आज शाम तक अब तक हुए रेस्क्यू ऑपरेशन और उसकी प्रगति रिपोर्ट दें.

अंतरराष्ट्रीय टनलिंग विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स रेस्क्यू ऑपरेशन में शामिल: उत्तरकाशी के सिलक्यारा में अंतरराष्ट्रीय टनलिंग विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स भी रेस्क्यू ऑपरेशन में शामिल हैं. डिक्स ने कहा है कि उन्हें मजदूरों के सफल रेस्क्यू की उम्मीद दिख रही है, लेकिन वास्तव में ये उम्मीद कितनी वास्तविक है. उनका कहना है कि रेस्क्यू ऑपरेशन टीम में उनके साथ हिमालयी भू विज्ञान के सर्वश्रेष्ठ विशेषज्ञ शामि हैं.

  • #WATCH | Uttarkashi (Uttarakhand) Tunnel rescue | Morning visuals from Silkyara Tunnel where 41 workers are stranded after a part of the tunnel collapsed on November 12.

    The former advisor of PMO Bhaskar Khulbe and Deputy Secretary of PMO Mangesh Ghildiyal appealed to all the… pic.twitter.com/1DYPqUzWmM

    — ANI (@ANI) November 20, 2023 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

डिक्स का है ये प्लान: डिक्स और उनकी रेस्क्यू टीम ने सुरंग के ऊपर से ड्रिल करके टनल में फंसे 41 मजदूरों को बचाने की प्लानिंग की है. डिक्स का कहना है कि हम रेस्क्यू ऑपरेशन इस तरह करेंगे कि अंदर फंसे लोगों को नुकसान नहीं पहुंचे. हालांकि अंतर्राष्ट्रीय टनलिंग विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स टनल के ऊपर से ड्रिलिंग को काफी उलझा हुआ काम मानते हैं. उनका मानना है कि हमें चारों तरफ नजर रखनी होगी, कि कहीं इस कार्य का कोई दूसरा साइड इफेक्ट नहीं हो. डिक्स ने हालांकि आश्वस्त किया है कि रेस्क्यू टीम मजदूरों के बचाव पर अपना ध्यान बहुत एकाग्रता से रखे हुई है. टीम पॉजिटिव माइंडसेट के साथ रेस्क्यू ऑपरेशन को ऑपरेट कर रही है. अर्नोल्ड डिक्स ने भावुक होते हुए कहा कि हम सब एक टीम की तरह काम कर रहे हैं. इस रेस्क्यू ऑपरेशन में सारी दुनिया हमारे साथ है.

ये भी पढ़ें: उत्तरकाशी टनल हादसा 9वां दिन: सुरंग के ऊपर से रास्ता बनाने का काम जारी, साइट पर अंतरराष्ट्रीय एक्सपर्ट्स मौजूद, PM मोदी ने CM धामी से लिया फीडबैक
ये भी पढ़ें: उत्तरकाशी टनल हादसा: कैसे बचेगी 41 मजदूरों की जान, जानिए रेस्क्यू ऑपरेशन का प्लान, 6 विकल्पों पर काम शुरू
ये भी पढ़ें: उत्तरकाशी टनल हादसा: 6 दिन बाद भी गायब हैं उत्तराखंड के मंत्री, विपक्ष ने जिले के प्रभारी प्रेमचंद का मांगा इस्तीफा
ये भी पढ़ें: अपनों की तलाश में सिलक्यारा पहुंच रहे परिजन, टनल में फंसे लोगों को निकाले के लिए हुआ मॉक ड्रिल
ये भी पढ़ें: उत्तरकाशी टनल हादसे में फंसे 7 राज्यों के 40 मजदूर, सभी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द, रेस्क्यू जारी

Last Updated :Nov 20, 2023, 1:50 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.