ETV भारत से बोले कमलनाथ- मोदी 11 टीम से होगा महामुकाबला, BJP को शिवराज के नाम पर वोट मांगने में क्यों आती है इतनी शर्म

author img

By ETV Bharat Hindi Desk

Published : Nov 14, 2023, 8:55 PM IST

Updated : Nov 15, 2023, 12:53 PM IST

Kamal Nath

Kamal Nath Exclusive Interview With ETV Bharat: पूर्व सीएम व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने ईटीवी भारत से बात कर कई सवालों के जवाब दिए. कमलनाथ ने ईटीवी भारत की शेफाली पांडेय से कई मुद्दों पर चर्चा की.

भोपाल। चुनाव प्रचार के आखिरी घंटों में लगातार चुनावी सभाएं कर रहे पूर्व सीएम कमलनाथ सवाल के जवाब में भी सवाल करते हैं. पूछते हैं आप ये बताइए कि बीजेपी के शिवराज के नाम पर वोट मांगने में इतनी शर्म क्यों आती है. फिर कहते हैं बीजेपी को अपने होर्डिंग में बारह चेहरे क्यों लगाने पड़े, गुटबाजी नहीं थी, तो एक चेहरे पर चुनाव लड़ लेते. कमलनाथ भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाते हुए कहते हैं. इस प्रदेश का हर व्यक्ति या तो भ्रष्टाचार का शिकार है या गवाह.

शिवराज सरकार ने इस प्रदेश को घोटालों की पहचान दे दी है. कमलनाथ फेहरिस्त गिनाते हुए नाम लेते हैं... व्यापम घोटाला, डंपर घोटाला, पटवारी भर्ती घोटाला, आरक्षक भर्ती घोटाला, सिंहस्थ घोटाला, महाकाल लोक घोटाला, नर्सिंग कॉलेज घोटाला यही सब शिवराज सरकार ने मध्य प्रदेश को दिया है. हिंदुत्व पर भी खुलकर बोले कमलनाथ और कहा कि मैं हिंदुत्व या सॉफ्ट हिंदुत्व या सुपर हिंदुत्व ऐसी किसी शब्दावली पर कोई टिप्पणी नहीं करता. मुझे भाजपा से हिंदू होने का सर्टिफिकेट लेने की कोई जरुरत नहीं है. ईटीवी भारत से एक्सक्सूलिव बातचीत में कमलनाथ ने बेबाकी से हर सवाल का जवाब दिया.

सवाल- चुनाव विकास के मुद्दे पर लड़े जाते हैं. पर कांग्रेस ने भ्रष्टाचार को एमपी में सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा बना दिया है?

जवाब- मध्य प्रदेश की जनता राज्य की भ्रष्टाचार और कमीशन की इस व्यवस्था में परिवर्तन चाहती है. इस प्रदेश में हर व्यक्ति या तो भ्रष्टाचार का शिकार है या गवाह है. क्या आप भ्रष्टाचार को चुनावी मुद्दा नहीं मानती हैं? वैसे यह चुनाव मध्य प्रदेश की जनता भ्रष्ट सरकार को उखाड़ फेंकने, महंगाई, बेरोजगारी, किसानों की समस्या, जैसे मुद्दों के खिलाफ खुद लड़ रही है. मध्य प्रदेश का प्रत्येक मतदाता भाजपा की इस भ्रष्ट और 50 प्रतिशत कमीशनवाली सरकार को उखाड़ फेंकना चाहता है.

यह चुनाव मध्य प्रदेश के भविष्य का चुनाव है. मुझे नौजवानों के भविष्य और रोजगार की चिंता है. महिलाओं की सुरक्षा की चिंता है. किसानों के सम्मान की चिंता है. इसलिये मध्य प्रदेश की 8.5 करोड़ जनता इस चुनाव में सच्चाई के साथ खड़ी है. जनता कांग्रेस के साथ है. कांग्रेस पार्टी मध्य प्रदेश की जनता के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है और जनहित में काम करना हमारी पहली और आखिरी प्राथमिकता है. कांग्रेस पार्टी किसानों के लिये कर्ज माफी करेगी, गेहूं का समर्थन मूल्य बढ़ाकर 2600 रुपए प्रति क्विंटल धान का समर्थन मूल्य बढ़ाकर 2500 रुपए प्रति क्विंटल करेगी. 100 यूनिट तक बिजली माफ और 200 यूनिट तक बिजली हाफ कीमत पर देगी.

सरकारी कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन स्कीम बहाल करेगी. कांग्रेस सरकार ने ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण दिया था. जिसे भाजपा ने खत्म कर दिया. हम फिर से ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण देंगे. हम 2 लाख सरकारी खाली पड़े पदों पर नियुक्तियां करेंगे. हर परिवार को 25 लाख रुपए तक स्वास्थ्य बीमा दिया जाएगा. महिलाओं को हर महीने 1500 रुपए और ₹500 में गैस सिलेंडर देंगे. हम इन सब घोषणाओं पर अमल करेंगे, क्योंकि ऐसा करना किसी भी कल्याणकारी राज्य का दायित्व है.

सवाल- बीजेपी ये मान रही है कि लाड़ली बहना योजना कमाल दिखा जाएगी. आपने अभी गारंटी दी है. शिवराज सरकार में तो वोटिंग के महीने तक बहनों के खाते में पैसा आ रहा है. फिर शिवराज के सभाओं में भावनात्मक सवाल भी हैं.

जवाब- भाजपा केवल तीन चीजो पर विश्वास करती है. प्रचार, अत्याचार और भ्रष्टाचार कोविड के दौरान जब जनता संकट में थी, तो भाजपा और शिवराज सिंह चौहान को लाड़ली बहनों की याद नहीं आयी. बीते 18 सालों में उन्हें लाड़ली बहनों और नौजवानों की याद नहीं आयी. आज जब भाजपा को हार का डर सता रहा है, तो कांग्रेस की नकल करके लाड़ली बहना योजना ले आएं हैं. कांग्रेस सरकार में 1 जनवरी 2024 से नारी सम्मान योजना के अन्तर्गत 1500 रुपये प्रतिमाह और 500 रुपये में गैस सिलेंडर दिया जायेगा.

आप देखिये कोविड में भाजपा में पोषण आहार परिवहन घोटाला किया गया. शिवराज सिंह चौहान सरकार ने मध्य प्रदेश की पहचान घोटालों से बना दी है. व्यापम घोटाला, डंपर घोटाला, पटवारी भर्ती घोटाला, आरक्षक भर्ती घोटाला, सिंहस्थ घोटाला, महाकाल लोक घोटाला, नर्सिंग कॉलेज घोटाला यही सब शिवराज सरकार ने मध्य प्रदेश को दिया है. मध्य प्रदेश की जनता भोली है पर वो समझदार भी बहुत है. वह भाजपा का ध्यान भटकाने की कलाकारी को अच्छे से समझती है.

सवाल- एक तरफ अकेले कमलनाथ का चेहरा दूसरी तरफ पीएम मोदी समेत 11 खिलाड़ियों की टीम.....ये कांग्रेस की मजबूती है या बीजेपी की हर हाल में चुनाव जीतने की जिद.

जवाब- तरह की चीजे होती हैं. पहली अचीवमेंट और दूसरी फुलफिलमेंट. मैं मध्य प्रदेश की राजनीति में फुलफिलमेंट के लिए हूं. मध्य प्रदेश की राजनीति को समझने वाला कोई साधारण व्यक्ति भी यहां के मतदाताओं के चेहरे पर दिख रहे राजनीतिक वोल्टेज को समझ सकता है. मध्यप्रदेश की जनता बदलाव चाहती है. इसके लिए हमनें बूथ स्तर पर जाकर संगठन की संरचना तैयार की है. आज मंडलम और सेक्टर से लेकर ऊपर तक एकजुट कांग्रेस आपको दिखाई दे रही है. मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी में गुटबाज़ी 2020 से ही खत्म हो गई है. आज अगर गुटबाजी कहीं है तो वह भारतीय जनता पार्टी में है. आप देख लीजिए भाजपा ने 12 नेताओं के पोस्टर अपने होर्डिंग पर लगाए हैं.

अगर भाजपा एकजुट होती तो एक चेहरा लगा देते जिसके साथ सभी खड़े हो जाते. आप पिछले 6 महीने का राजनीतिक परिदृश्य देखिए भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सांसद, पूर्व मंत्री, वर्तमान विधायक, पूर्व विधायक, नगर पालिका अध्यक्ष, जिला पंचायत अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत अध्यक्ष, स्तर के 60 नेता अपने हजारों समर्थकों के साथ कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए हैं. कांग्रेस की लहर से भाजपा लड़खड़ा गई है और यह चुनाव कांग्रेस पार्टी प्रचंड बहुमत से जीतने जा रही है. असली सवाल तो यह है कि भाजपा को शिवराज सिंह चौहान के नाम पर वोट मांगने में शर्म क्यों आ रही है?

सवाल- आपके और दिग्विजय सिंह के बीच दिखाई ना देने वाली दरार है....ऐसा कहा जाता है हकीकत क्या है.

जवाब-भाजपा इस तरह की अफवाहें फैलाती है. कांग्रेस पार्टी के सारे नेता और कार्यकर्ता एक साथ हैं. मेरे और दिग्विजय सिंह के बारे में भी मीडिया को बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है. हमारा हंसी मजाक चलता रहता है. हम चालीस सालों से एक साथ हैं आगे भी एक साथ रहेंगे. भाजपा डरी हुई है क्योंकि हम सब कांग्रेस के सिपाही जनता के साथ मिलकर मध्य प्रदेश में कांग्रेस की प्रचंड बहुमत से सरकार बनाने जा रहें है.

यहां पढ़ें...

सवाल- अब बीजेपी ने चुनाव में अपने ट्रम्प कार्ड हिंदुत्व की एंट्री भी करा दी है..पीएम मोदी ने कहा कि जिन्होंने राम के अस्तित्व को नकार दिया है. उस कांग्रेस को 100 साल सत्ता के लिए तरसा दीजिए....

जवाब- आस्था और संस्कृति के लिए कार्य करना हर नागरिक का कर्तव्य है, लेकिन हमारे लिए धर्म आचार और विचार का विषय है. प्रचार का विषय नहीं है. राजनीति का धर्म होना चाहिये, धर्म की राजनीति नहीं होनी चाहिये. श्रीलंका में माता-सीता के मंदिर के निर्माण की प्रकिया तो हमने अपनी पिछली सरकार में ही शुरू कर दी थी. शिवराज सरकार ने इस प्रक्रिया को बंद कर दिया. हम सरकार में आते ही फिर से श्रीलंका में माता सीता का मंदिर बनाने का कार्य शुरू करेंगे. यह सब काम तो पूरे संवैधानिक तरीके से पहले ही किया जा चुके हैं.

मैं हिंदुत्व या सॉफ्ट हिंदुत्व या सुपर हिंदुत्व ऐसी किसी शब्दावली पर कोई टिप्पणी नहीं करता. मैंने 15 साल पहले छिंदवाड़ा में 101 फीट ऊंची भगवान हनुमान जी की मूर्ति बनवाई तो यह मेरी आस्था है. इसका राजनीति से कोई संबंध नहीं है. कांग्रेस सरकार ने राम वन गमन पथ और महाकाल मंदिर के भव्य निर्माण के लिए 355 करोड़ रुपए आवंटित किए थे. हम अपनी विरासत और संस्कृति को समृद्ध कर रहे हैं. मुझे समझ नहीं आता कि अगर मैं मंदिर में पूजा करता हूं तो भाजपा के पेट में दर्द क्यों होता है. मुझे भाजपा से हिंदू होने के सर्टिफिकेट लेने की कोई जरूरत नहीं है.

आखिरी सवाल-जो अभी आपने भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाया है, क्या वो मामले कांग्रेस की सरकार आने पर खोले जाएंगे...भ्रष्टाचारियों पर एक्शन होगा.

जवाब- भ्रष्टाचार और माफिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए कांग्रेस पार्टी प्रतिबद्ध है. हम मध्य प्रदेश की जनता के साथ न्याय करेंगे.

Last Updated :Nov 15, 2023, 12:53 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.