'कांग्रेस एंटी हिंदू, समाप्त हो जाएगी', राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का न्योता ठुकराने पर BJP का हमला

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Jan 11, 2024, 1:19 PM IST

Updated : Jan 11, 2024, 2:10 PM IST

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का न्योता ठुकराने पर कांग्रेस पर BJP का हमला

Ram Mandir Pran Pratistha: कांग्रेस के द्वारा राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के निमंत्रण को अस्वीकार करने पर भाजपा हमलावर है. वहीं कांग्रेस का कहना है कि इसे बीजेपी ने राजनीतिक परियोजना बना दिया है, ताकि चुनाव में इसका फायदा मिल सके. इस पर हमला करते हुए बीजेपी के नेताओं ने कांग्रेस को सनातन विरोधी करार दिया है. बीजेपी सांसद रविशंकर प्रसाद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है.

कांग्रेस पर बीजेपी का हमला

पटना: कांग्रेस द्वारा राम मंदिर 'प्राण प्रतिष्ठा' के निमंत्रण को अस्वीकार करने पर बीजेपी का हमला जारी है. दरअसल कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि अयोध्या के राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी नहीं जाएंगे. इसको लेकर कांग्रेस पर चौतरफा हमला हो रहा है.

'कांग्रेस सीजनल हिंदू'- गिरिराज सिंह: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि ये लोग (कांग्रेस) सीजनल हिंदू हैं. जब उन्हें लगता है कि उन्हें वोट लेना है तो वे सॉफ्ट हिंदू बनने की कोशिश करते हैं. कांग्रेस एंटी हिंदू है और कुछ दिनों में कांग्रेस खुद-ब-खद समाप्त हो जाएगी.

"कांग्रेस में तो जवाहरलाल नेहरू से लेकर अब तक कोई अयोध्या नहीं गया है. मामले को कोर्ट में लटकाने का काम तो कांग्रेस पार्टी ने ही किया था इसलिए इनमें अयोध्या जाने की नैतिक ताकत नहीं है."- गिरिराज सिंह, केंद्रीय मंत्री

'निमंत्रण को अस्वीकार करना दुर्भाग्यपूर्ण'- रविशंकर प्रसाद: वहीं भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद कांग्रेस द्वारा राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के निमंत्रण को अस्वीकार करने को दुर्भाग्यपूर्ण, पीड़ादायक और शर्मनाक बताया है. रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर सदैव राम जन्मभूमि का विरोध करने का आरोप लगाया है. आम सहमति से इतना बड़ा मंदिर बना है. कांग्रेस उसी मानसिकता के दबाव में है जो शाहबानो के मामले में झुकी थी.

"कांग्रेस पार्टी ने देश में राज किया था फिर भी आज कहां सिमट गई है, आगे चुनाव में भी इनका सूपड़ा साफ होगा. यह कोई संघ का कार्यक्रम है? यह राष्ट्र का कार्यक्रम है, पूरी दुनिया इसकी प्रतीक्षा कर रही है."- रविशंकर प्रसाद, बीजेपी सांसद

वहीं बुधवार को पटना पहुंची केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि कांग्रेस का प्रभु राम विरोधी चेहरा देश के सामने आ चुका है. आश्चर्य की बात नहीं कि सोनिया गांधी के नेतृत्व में जिस पार्टी ने कोर्ट में दस्तावेज दिया था कि भगवान राम का कोई अस्तित्व नहीं उस पार्टी ने राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा के निमंत्रण को ठुकराया.

"सभी राम भक्तों के लिए ये क्षण धर्म की दृष्टि से आस्था और विश्वास की दृष्टि से एक पुण्य क्षण है. इंडी अलायंस ने सोनिया और कांग्रेस के नेतृत्व में बार-बार सनातन धर्म की उपेक्षा की और अपमानित किया. अब इंडी अलायंस द्वारा राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण ठुकराना उनकी सनातन विरोधी सोच को दर्शाता है."- स्मृति ईरानी, केंद्रीय मंत्री

कांग्रेस का तर्क: वहीं कांग्रेस का कहना है कि राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को बीजेपी और आरएसएस ने अपना इवेंट बना लिया है. राम मंदिर के निर्माण का काम अधूरा है, लेकिन चुनावी फायदे के लिए उसका उद्घाटन किया जा रहा है. कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि धर्म किसी भी व्यक्ति का व्यक्तिगत विषय होता है, लेकिन भाजपा और आरएसएस ने सालों से राम मंदिर को एक राजनीतिक परियोजना बना दिया है.

इसे भी पढ़ें-

पटना पहुंचीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, कहा- 'कांग्रेस का प्रभु राम विरोधी चेहरा हुआ उजागर'

राम मंदिर समारोह में शामिल नहीं होने पर भाजपा हमलावर, कहा- इसलिए जनता भी कांग्रेस का बहिष्कार कर रही

'राम सबके हैं, फिर BJP कार्यकर्ता न्योता क्यों देंगे?', RJD नेता विजय प्रकाश ने उठाए सवाल

सुब्रमण्यम स्वामी का पीएम पर हमला, बोले- राम मंदिर के फैसले में देरी चाहते थे मोदी

Last Updated :Jan 11, 2024, 2:10 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.