MP: IPS कुरैशी का जज्बा.. युवाओं का ऐसे बना रहे भविष्य, 3 माह में 65 युवाओं ने पास किया फिजिकल टेस्ट

author img

By

Published : Jan 23, 2023, 5:16 PM IST

Etv Bharat

मध्य प्रदेश में भोपाल पुलिस की 23वीं बटालियान के आईपीएस अफसर मोहम्मद युसुफ कुरैशी (IPS officer Mohammad Yusuf Qureshi) युवाओं के बीच चर्चा में हैं. वह युवाओं का कैरियर संवारने में जुटे हैं. सेना व पुलिस में जाने के इच्छुक युवाओं को वह बटालियन के ग्राउंड पर बीते साढ़े 3 माह से ट्रेनिंग दे रहे हैं. खास बात यह है कि यहां से ट्रेंड 65 युवाओं का सेना पुलिस में भर्ती के लिए फिजिकल टेस्ट में चयन हो चुका है. इतना ही नहीं, आईपीएस कुरैशी यूपीपीएससी व एमपीपीएससी की तैयारी भी करवाते हैं.

भोपाल में अग्निवीर परीक्षा में भर्ती की ट्रेनिंग

भोपाल। मध्य प्रदेश राजधानी भोपाल के भदभदा रोड स्थित 23वीं बटालियन के मैदान पर हर दिन सुबह 6 बजे से पुलिसकर्मियों की परेड के साथ बच्चों की फिजिकल ट्रेनिंग कराई जाती है (Agneepath Recruitment Exam). नौजवान यहां आपको अभ्यास करते दिखाई देंगे, उनमें से कुछ पुलिस परिवार के तो कई सारे सिविलियन के बच्चे हैं. साढ़े 3 महीने पहले इस ट्रेनिंग की शुरुआत की गई. इस ट्रेनिंग का नतीजा है कि अब तक बीएसफ में 7, सीआईएसएफ में 9, अग्निवीर परीक्षा में 12, एसएसजी में 6 और एमपी पुलिस के फिजिकल टेस्ट में 29 नौजवान सिलेक्ट हो चुके हैं. इन्हें यह कठिन प्रशिक्षण 23वीं बटालियान के कमांडेंट मोहम्मद युसुफ कुरैशी की निगरानी में कोच बल्ली यादव द्वारा दिया जा रहा है.

Bhopal IPS Mohammad Yusuf Qureshi is providing training to civilians
आईपीएस कुरैशी दिलवा रहे ट्रेनिंग

यूपीपीएससी व एमपीपीएससी की भी तैयारी: कमांडेंट कुरेशी बताते हैं कि ''हमारी यूनिट में पुलिस वेलफेयर के तहत पुलिसकर्मियों के बच्चों को ट्रेनिंग देने का मॉडल पहले से था, लेकिन उसमें हमने सिविलियन के बच्चों को भी शामिल कर लिया. उन्होंने बताया कि केवल फिजिकल टेस्ट ही नहीं हम साथ में यूपीपीएससी और एमपीपीएससी की भी तैयारी करवा रहे हैं. इसके लिए कई बड़े कोचिंग इंस्टिट्यूट से हमने प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए स्पेशल नोट्स अपने कैंपस की लाइब्रेरी में रखवाए हैं. लाइब्रेरी में एक साथ 15 से 20 बच्चों के बैठने और पढ़ने की व्यवस्था की गई है''.

Bhopal IPS Mohammad Yusuf Qureshi is providing training to civilians
भोपाल में अग्निवीर परीक्षा में भर्ती की ट्रेनिंग

Agniveer Exam 2022: 'अग्निवीर' बनने युवा परीक्षा देने पहुंचे ग्वालियर, कहा-चार दिन हो या चार साल देश की सेवा करना गर्व की बात

दो पाली में कराई जाती है ट्रेनिंग: बच्चों को फिजिकल टेस्ट की तैयारी करवाने वाले बल्ली यादव का कहना है कि ट्रेनिंग अलग-अलग टाइम में दी जाती है. 6 बजे से कठिन प्रशिक्षण दिया जाता है. वहीं शाम के समय मेंटल स्ट्रेस से मुक्ति देने का अभ्यास कराया जाता है. इस ट्रेनिंग की खास बात यह है कि इसे पूरी तरह पुलिस व सेना में भर्ती के हिसाब से ही तैयार किया गया है, खास बात यह है कि कमांडेंट कुरेशी खुद इसकी निगरानी करते हैं.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.