उत्तरकाशी टनल हादसे में फंसे 7 राज्यों के 40 मजदूर, सभी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द, रेस्क्यू जारी

author img

By ETV Bharat Hindi Desk

Published : Nov 12, 2023, 6:45 PM IST

Updated : Nov 13, 2023, 4:00 PM IST

Uttarkashi tunnel collapsed

Uttarkashi tunnel collapsed उत्तरकाशी टनल हादसे में 7 राज्यों के 40 मजदूर फंसे हुए हैं. जिन्हें निकालने की कोशिशें की जा रही हैं. उत्तरकाशी टनल हादसे के बाद जिले के सभी अधिकारियों की छु्ट्टियां रद्द कर दी गई है. खुद डीएम अभिषेक रुहेला भी अपनी छुट्टी रद्द कर घटनास्थान पर पहुंचे. वे मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन की निगरानी कर रहे हैं.

उत्तरकाशी टनल हादसे में फंसे 7 राज्यों के 40 मजदूर

उत्तरकाशी(उत्तराखंड): यमुनोत्री हाईवे पर निर्माणाधीन सुरंग में दीपावली के दिन बड़ा हादसा हो गया. सुरंग के सिलक्यारा वाले मुहाने के पास टनल का 30 से 35 मीटर हिस्सा टूट गया, जिससे 40 मजदूर सुरंग के अंदर फंस गए हैं.सुरंग उत्तराखंड सहित झारखंड, बिहार, उत्तरप्रदेश, हिमाचल, ओडिशा राज्यों के मजदूर फंसे हैं.

टनल में फंसे 7 राज्यों के 40 मजदूर: टनल के अंदर फंसने वाले मजदूरों में उत्तराखंड के कोटद्वार व पिथौराढ़ के दो, बिहार के 4, प​श्चिम बंगाल के 3, असम के 2, झारखंड के 15, उत्तरप्रदेश के 8, हिमाचल का 1, व ओडिशा के पांच मजदूर शामिल हैं.

पढे़ं- यमुनोत्री हाईवे पर निर्माणाधीन सुरंग में भूस्खलन, 36 मजदूर टनल में फंसे, हेल्पलाइन नंबर जारी

छु्ट्टी रद्द कर घटनास्थल पहुंचे डीएम: यमुनोत्री हाईवे पर हुई इस घटना के बाद निर्माण एजेंसी के साथ पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी, बीआरओ व आपदा प्रबंधन विभाग की टीम मौके पर रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हैं. घटना की सूचना पर दीपावली की छु्ट्टी पर गए डीएम अ​भिषेक रूहेला भी हेलीकॉप्टर से मौके पर पहुंचे हैं. वे लगातार रेस्क्यू कार्य की निगरानी कर रहे हैं.

  • Uttarakhand | Uttarkashi DM Abhishek Ruhela says "The first priority of the administration is to rescue the workers trapped inside the tunnel safely. For this, relief and rescue operations are being conducted by the administration with the cooperation of various relief and rescue… pic.twitter.com/4V5ZIgy3sB

    — ANI UP/Uttarakhand (@ANINewsUP) November 12, 2023 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

सभी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द: हादसे के बाद डीएम अ​भिषेक रूहेला ने जनपद के सभी अ​धिकारियों की छुट्टी रद्द कर दी है. सभी अ​धिकारियों से तत्काल अपने-अपने कार्यस्थल पर लौटने और राहत एवं बचाव कार्यों के लिए चौबीसों घंटे तत्पर रहने के निर्देश ​दिए गए हैं.

पढे़ं- उत्तरकाशी लैंडस्लाइड घटना पर हमलावर हुई कांग्रेस, यशपाल आर्य ने धामी सरकार को घेरा

  • #WATCH | Uttarakhand: Latest visuals of rescue operations that are underway after part of the tunnel under construction from Silkyara to Dandalgaon in Uttarkashi, collapsed.

    Uttarkashi SP Arpan Yaduvanshi says, "In Silkyara Tunnel, a part of the tunnel has broken about 200… pic.twitter.com/9oURMxk0Dq

    — ANI UP/Uttarakhand (@ANINewsUP) November 12, 2023 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

कैसे हुआ हादसा: रविवार सुबह करीब 5:30 बजे यमुनोत्री हाईवे पर निर्माणाधीन सुरंग के सिलक्यारा वाले मुहाने से 230 मीटर अंदर मलबा गिरा. देखते-देखते 30 से 35 मीटर हिस्से से पहले हल्का मलबा गिरा और फिर अचानक भरभरा भारी मलबा व पत्थर गिरने लगा. जिसके चलते सुरंग के अंदर काम कर रहे 35 से 40 मजदूर अंदर ही फंस गए.

पढे़ं- उत्तरकाशी टनल हादसा: शिफ्ट खत्म होने से पहले मलबे में दबी जिंदगियां, दिवाली की खुशियों पर लगा 'ग्रहण'

मलबे के कारण बंद हुई ऑक्सीजन सप्लाई: मलबे की चपेट में आने से सुरंग की ऑक्सीजन सप्लाई बंद हो गई. फिर कुछ देर बाद पानी के पाइप से ऑक्सीजन की सप्लाई की गई. मलबा ज्यादा होने से अब तक अंदर फंसे मजदूरों से संपर्क नहीं हो पाया है. कार्यदायी संस्थाएं मजदूरों के सकुशल होने का दावा कर रही है.

पढे़ं- उत्तरकाशी लैंडस्लाइड घटना पर हमलावर हुई कांग्रेस, यशपाल आर्य ने धामी सरकार को घेरा

  • #WATCH | Uttarakhand: Uttarkashi SP Arpan Yaduvanshi says, "In Silkyara Tunnel, a part of the tunnel has broken about 200 meters ahead of the starting point. According to the officials of HIDCL, which is looking after the construction work of the tunnel, about 36 people are… https://t.co/zTnZDAtcyy pic.twitter.com/rv6sxufYz0

    — ANI UP/Uttarakhand (@ANINewsUP) November 12, 2023 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

घटना की सूचना पर सुबह सबसे पहले धरासू पुलिस और इसके बाद जिला मुख्यालय से पुलिस, फायर, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी, बीआरओ व आपदा प्रबंधन की टीम मौके पर पहुंची. पुलिस अधीक्षक अर्पण यदुवंशी, सीडीओ गौरव कुमार, एडीएम तीर्थपाल सिंह, एसडीएम डुंडा बृजेश तिवारी सहित तमाम सरकारी अ​धिकारी मौके पर पहुंचे. जिसके बाद से यहां रेस्क्यू कार्य लगातार जारी है. अब तक सुरंग के अंदर फंसे मजदूरों को बाहर नहीं निकाला जा सका है. घटना की सूचना पर दीपावली की छुट्टी पर देहरादून गए डीएम भी दोपहर बाद हेलीकॉप्टर से चिन्यालीसौड़ तक और फिर कार से मौके पर पहुंचे.

Last Updated :Nov 13, 2023, 4:00 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.