'बिहार में अवैध शराब के कारोबार में लड़कियां भी लगी हुईं हैं'.. बोले Prashant Kishor हजारों करोड़ का हो रहा नुकासन

author img

By

Published : Aug 9, 2023, 12:43 PM IST

prashant kishor

बिहार में शराबबंदी के दिन से ही इस कानून पर निशाना साधा जा रहा है. विपक्ष इसे पूरी तरह से फेल बताने में लगा रहता है. वहीं अब अवैध शराब को लेकर प्रशांत किशोर ने बड़ा बयान दिया है. PK का दावा है कि युवा लड़के ही नहीं बल्कि लड़कियां भी इस कारोबार से जुड़ी हुईं हैं. शराबबंदी कानून के कारण बिहार को हर साल 20 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है. पढ़ें पूरी खबर..

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर

समस्तीपुर: जन सुराज के सूत्रधार प्रशांत किशोर लगातार नीतीश कुमार पर हमलावर हैं. मामला चाहे कोई भी हो मुख्यमंत्री को आड़े हाथों जरूर लेते हैं. ऐसे में चुनावी रणनीतिकार ने बिहार में शराबबंदी कानून को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बावजूद प्रदेश में शराब का अवैध कारोबार जारी है.

पढ़ें- Bihar Politics: नीतीश में दम है तो कह दें कि लालू और तेजस्वी भ्रष्टाचार में लिप्त नहीं' - प्रशांत किशोर

'लड़कियां भी कर रहीं हैं अवैध शराब का कारोबार'-PK: प्रशांत किशोर ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि अवैध शराब के कारोबार में युवा लड़कों के साथ ही लड़कियां भी लगी हुई हैं. शराबबंदी से सूबे को हर साल करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ रहा है. प्रशांत किशोर ने इस दौरान कहा कि प्रदेश में शराब माफिया और बालू माफिया इन दो उद्योगों की बात आज हर कोई कर रहा है.

"जहां चले जाइये देखेंगे कि शराब के अवैध कारोबार करने वाले लोग हर गांव में इस सरकार ने पैदा कर दिया है. शराबबंदी के नाम पर शराब की दुकान बंद हो गई, लेकिन घर-घर होम डिलीवरी चालू हो गया. शराब के इस कारोबार में नए लड़के लगे हुए हैं. लड़कियां भी अवैध शराब के कारोबार में लगी हुई हैं."- प्रशांत किशोर, चुनावी रणनीतिकार

'शराबबंदी के कारण 20 हजार करोड़ रुपये का नुकसान': प्रशांत किशोर ने लड़कियों के अवैध शराब के कारोबार में लगे होने पर आगे कहा कि कई गांवों के लोग मुझसे कहते हैं कि लड़कियां भी इस अवैध कारोबार में लगी हुई हैं. हर साल बिहार सरकार और यहां के लोगों को शराबबंदी के कारण 20 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है. पैसा पुलिस, प्रशासन और सरकार के हाथों में जा रहा है.

"गांव-गांव में एक और समस्या शुरू हो गई है, जब शराब नहीं मिल रही है तो लोग अलग-अलग तरह के नशा का काम शुरू कर दिए हैं. कोई स्मैक तो कोई ड्रग्स खा रहा है. ऐसी स्थिति पहले बिहार में नहीं थी."- प्रशांत किशोर, चुनावी रणनीतिकार

बालू माफिया बिहार में काफी ताकतवर: प्रशांत किशोर ने इस दौरान बालू माफियाओं का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि शराब माफिया के साथ ही बालू माफिया भी प्रदेश में काफी ताकतवर है. कहीं भी चले जाइये, बालू का बड़े स्तर पर कारोबार हो रहा है.हजारों-करोड़ों रुपए सरकार और बिहार के लोगों का चोरी करके पुलिस और प्रशासन की मदद से अवैध बालू का कारोबार पूरे बिहार में चल रहा है.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.