पटना में EOU ने साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार, ऑनलाइन सर्विस के नाम पर लोगों से करता था ठगी

author img

By

Published : Apr 13, 2022, 7:13 AM IST

आर्थिक अपराध इकाई पटना

पटना में साइबर क्राइम (Cyber Crime In Patna) की घटना लगातार हो रही है. जिस पर लगाम लगाने को लेकर पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है. इसी कड़ी में आर्थिक अपराध इकाई पटना की टीम ने एक साइबर ठग को गिरफ्तार किया है. पढ़ें पूरी खबर..

पटना: आर्थिक अपराध इकाई पटना (Economic Offenses Unit Patna) की टीम को बड़ी सफलता मिली है. टीम ने राजधानी के राजीव नगर थाना पुलिस के सहयोग से छापेमारी कर साइबर ठगी करने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार (Cyber Thugs Arrested In Patna) किया है. साइबर अपराधी का नाम फैजान अहमद (21 वर्ष) है. वह ऑनलाइन सर्विस पैन कार्ड, फास्ट टैग रिचार्ज, मनी ट्रांसफर, बीमा, डिस्ट्रीब्यूटर और रिटेलर बनाने के नाम पर लोगों से ठगी करता था.

ये भी पढ़ें-सांसद की बेटी से WhatsApp पर मैसेज भेजकर लूट लिए लाखों रुपए, साइबर ठगी के मामले में 3 गिरफ्तार

वेबसाइट के माध्यम से साइबर ठगी: दरअसल आर्थिक अपराध इकाई को सूचना प्राप्त हुई थी कि ebharatpe.com नामक वेबसाइट के माध्यम से साइबर अपराधी द्वारा अनेकों ऑनलाइन सर्विस के नाम पर झांसा देकर लोगों से पैसे की ठगी की जा रही है. ठगी के शिकार हो चुके एक व्यक्ति ने इस संबंध में पुलिस मुख्यालय को जानकारी दी थी. आर्थिक अपराध इकाई द्वारा सूचना की जांच कराते हुए आवश्यक सत्यापन किया गया. जिसमें पाया गया कि अंबेडकर पार्क पुनपुन गैस एजेंसी के पास कांति चौधरी पति देव चंद्र चौधरी के मकान में कार्यालय खोलकर कुछ साइबर अपराधी द्वारा वेबसाइट के माध्यम से लोगों से ठगी की जा रही है.

ईओयू ने साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार: आर्थिक अपराध इकाई द्वारा सत्यापन के दौरान पता चला कि कार्यालय के बाहर कोई भी बोर्ड नहीं लगा हुआ है और कार्यालय का निबंधन भी नहीं कराया गया है. जिसके बाद आर्थिक अपराध इकाई द्वारा स्थानीय राजीव नगर थाना, पटना के सहयोग से छापेमारी करते हुए तलाशी ली गई. इस दौरान ठगी में प्रयुक्त किए जाने वाले 10 मोबाइल फोन, दो लैपटॉप और कागजात बरामद किया गया. पुलिस ने साइबर अपराधी फैजान अहमद को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के क्रम में उसने स्वीकार किया कि Godaddy वेबसाइट खरीदकर ऑनलाइन सर्विस के नाम पर लोगों से राशि की ठगी करता था.

आईटी एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज: ईओयू को छापेमारी के दौरान पता चला कि साइबर फ्रॉड के लिए अपराधी द्वारा आधारभूत संरचना का सुसज्जित कार्यालय खोला गया है. जिसमें कई महिला कर्मी भी कार्यरत हैं. वहीं ठगी के लिए मोबाइल नंबर, कंप्यूटर, लैपटॉप आदि का प्रयोग किया जाता है. साइबर फ्रॉड में यह कई सहयोगी का भी साथ लेता था. आर्थिक अपराध इकाई ने इस मामले में आईटी एक्ट के तहत राजीव नगर थाना में मामला दर्ज करवाया है. आर्थिक अपराध इकाई की ओर से आम लोगों से अपील किया गया कि साइबर अपराधियों के झांसे में ना आए और सतर्कता में ही बचाव है.

नोट: इस तरह की किसी भी शिकायत के लिए आप इस नंबर्स पर संपर्क कर सकते हैं.- POLICE CONTROL ROOM 100 / 0612-2201977-78

विश्वसनीय खबरों को देखने के लिए डाउनलोड करें ETV BHARAT APP

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.