ETV Bharat / state

Sipahi Bharti Paper Leak: प्रश्नपत्र लीक मामले में EOU ने दर्ज की 74 प्राथमिकी, अब हो चुकी है 150 गिरफ्तारी

author img

By ETV Bharat Bihar Team

Published : Oct 6, 2023, 6:11 PM IST

बिहार सिपाही भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले की जांच आर्थिक अपराध इकाई के पास है और इस मामले में पुलिस महकमा ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है. इसी कड़ी में बिहार पुलिस के एडीजी मुख्यालय जेएस गंगवार ने भी अब तक की गई कार्रवाईयों को लेकर कई महत्वपूर्ण जानकारी दी . पढ़ें पूरी खबर..

एडीजी मुख्यालय जेएस गंगवार
एडीजी मुख्यालय जेएस गंगवार

जेएस गंगवार का बयान

पटना: केंद्रीय चयन पर्षद की ओर से एक अक्टूबर को आयोजित सिपाही भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने के कारण रद्द कर दिया गया. अब पेपर लीक मामले में पुलिस धुआंधार कार्रवाई करने में जुटी है. इस मामले में का जिम्मा आर्थिक अपराध इकाई के पास है. इस पूरे मामले पर जानकारी देते हुए एडीजी मुख्यालय जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि इस मामले की जांच ईओयू की टीम कर रही है और इस मामले से संबंधित सभी डिजिटल साक्ष्य ले रही है.

Sipahi Bharti Paper Leak: भागलपुर पुलिस ने कजरैली से किंगपिन को किया गिरफ्तार, डीआईयू की सूचना पर कार्रवाई

नहीं बख्शे जाएंगे संलिप्त आरोपी : एडीजी मुख्यालय जितेन सिंह गंगवार में साफ तौर से बताया है कि अभी तक कुल 74 मामले दर्ज किए गए हैं. वही 150 लोगों को जेल भेजा जा चुका है. सबसे अधिक फिर छपरा, भोजपुर, पटना और नालंदा में की गई है. सभी मामलों की जांच आर्थिक अपराध इकाई काफी गहनता से कर रही है. सभी मामलों की जांच के लिए अलग-अलग पदाधिकारी लगाए गए हैं, जो लोगों का नाम इसमें आएगा चाहे कोई भी हो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा.

"अब तक इस मामले में ईओयू ने कुल 74 प्राथमिकी दर्ज की है. बिहार के विभिन्न जिलों सहित पटना से अब तक 150 गिरफ्तारियां की गई हैं. सिपाही भर्ती परीक्षा प्रकरण मामले में किसी भी स्तर के लोग शामिल हो वो नहीं बचेंगे. इओयू की टीम की जांच जारी है. गिरफ्तार लोगों से कई अहम जानकारियां मिली है. जिसमें परीक्षा में सेटरों और माफिया का लिंक खंगाला जा रहा है. जल्द सभी गिरफ्त मे होंगे."- जेएस गंगवार, एडीजी मुख्यालय

दूसरी पाली में बरामद हुआ था आंसर की: बताते चले कि बीते 1 अक्टूबर को केन्द्रीय चयन पर्षद सिपाही भर्ती परीक्षा दो पालियों का आयोजन हुआ था. इसमें दूसरी पाली के परीक्षार्थियों के पास से आंसर की बरामद हुआ था. इस मामले में पटना के कंकड़बाग थाने में मोनू उर्फ मनु सहित 6 की गिरफ्तारी के बाद एक बिहार पुलिस के जवान कमलेश को नालंदा से गिरफ्तार किया गया था. उसे निलंबित कर दिया गया है और जेल भेज दिया गया. वहीं अब उसे बर्खास्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

क्या है पूरा मामला : केंद्रीय चयन पर्षद ने 21391 पदों पर सिपाही की भर्ती निकाली थी. इसके तहत 1, 7 और 15 अक्टूबर को परीक्षा होनी थी. उसी कड़ी में 1 अक्टूबर को सिपाही भर्ती की परीक्षा के दौरान 2 घंटे पहले ही प्रश्न पत्र लीक हो गया. इसको लेकर आनन फानन में परीक्षा को रद्द कर दिया गया और आगे की परीक्षा को स्थगित कर दिया गया. इसके बाद से कई मुन्ना भाई की गिरफ्तारियां भी हुई और अब इस मामले की पूरी तहकीकात आर्थिक अपराध इकाई कर रही है.

इसे भी पढ़ेंः Sipahi Bharti Paper Leak:'छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़, विजय सिन्हा बोले- 'एसके सिंघल को पद से हटाया जाए'

इसे भी पढ़ेंः Constable Recruitment Exam Paper Leak मामले पर कांग्रेस का बयान, जल्द जांच कर कार्रवाई करे सरकार

इसे भी पढ़ेंः केंद्रीय चयन पर्षद के अध्यक्ष से इस्तीफे की मांग, बोले छात्र नेता- 'BPSC परीक्षा पैटर्न को फॉलो करें CSBC'

इसे भी पढ़ेंः Bihar Sipahi Bharti Paper Leak मामले पर JDU ने किया सरकार का बचाव ..कहा- 'जल्द होगी परीक्षा'

इसे भी पढ़ेंः Bihar Sipahi Bharti Paper Leak: सिपाही भर्ती पेपर लीक मामले में बिहार पुलिस का जवान गिरफ्तार, परीक्षा में भाई हुआ था शामिल

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.