ETV Bharat / state

मंत्री बोले अधीक्षक और प्रिंसिपल सीधे एसीबी पहुंचे, जबकि ACS बोलीं- पहले मुझे दी थी जानकारी - Organ Transplant Fake NOC

author img

By ETV Bharat Rajasthan Team

Published : May 18, 2024, 4:41 PM IST

Rajasthan Organ Transplant Row, ऑर्गन ट्रांसप्लांट फर्जी एनओसी मामले में एक के बाद एक नई परतें खुलती जा रही हैं. इसी बीच चिकित्सा मत्री गजेंद्र सिहं खींवसर और विभाग की एसीएम शुभ्रा सिंह के बयान में विरोधभास नजर आया है.

एसीएस शुभ्रा सिंह और चिकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर
एसीएस शुभ्रा सिंह और चिकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर (ETV Bharat File Photo)

ऑर्गन ट्रांसप्लांट फर्जी एनओसी मामला (ETV Bharat Jaipur)

जयपुर. ऑर्गन ट्रांसप्लांट फर्जी एनओसी प्रकरण में एक नया मोड़ आया है. चिकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर और विभाग की एसीएस शुभ्रा सिंह के एक बयान में विरोधाभास नजर आया है. ऑर्गन ट्रांसप्लांट फर्जी एनओसी प्रकरण को लेकर चिकित्सा विभाग ने सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के तत्कालीन प्रिंसिपल डॉक्टर राजीव बगरहट्टा और एसएमएस अस्पताल के तत्कालीन अधीक्षक डॉक्टर अचल शर्मा को 16 सीसीए का नोटिस जारी किया गया है.

बीते दिनों स्वास्थ्य भवन में आयोजित एक प्रेस वार्ता के दौरान चिकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर ने कहा कि डॉक्टर अचल शर्मा और डॉक्टर राजीव बगरहट्टा ऑर्गन ट्रांसप्लांट से जुड़े प्रकरण को लेकर सीधे एसीबी पहुंच गए, उन्होंने विभाग को इस बारे में जानकारी नहीं दी, न ही एसीएस को रिपोर्ट किया. इस दौरान विभाग की एसीएस शुभ्रा सिंह भी वहां मौजूद थीं.

पढ़ें. बड़ा खुलासा : सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में फर्जी NOC पर हुए ट्रांसप्लांट, क्या सरकार बचा रही जिम्मेदारों को ?

पढ़ें. किडनी ट्रांसप्लांट मामले में फोर्टिस अस्पताल के दो डॉक्टर गिरफ्तार

वहीं, करीब एक माह पहले एसीएस शुभ्रा सिंह ने एक बयान दिया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि होली के आसपास एसएमएस अस्पताल के वरिष्ठ प्रशासक उनके पास आए कहा कि उनको अंदेशा है कि इस पूरे प्रोसेस में कोई दिक्कत है. इसमें कोई फर्जीवड़ा हो सकता है. गलत सिग्नेचर से एनओसी जारी की जा रही है. इसके बाद विभाग ने स्वसंज्ञान लेते हुए एसीबी से संपर्क किया. चिकित्सा मंत्री और विभाग की एसीएस के बयानों में विरोधाभास नजर आ रहा है. माना ये भी जा रहा है कि अधीक्षक और प्रिंसिपल के सीधे एसीबी चले जाने के कारण ही उन्हें नोटिस जारी किया गया.

पढ़ें. SMS अस्पताल के तत्कालीन प्रिंसिपल और अधीक्षक को 16 सीसीए का नोटिस, डॉ. राजेंद्र बागड़ी सस्पेंड

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.