ओडिशा के पुरी से रायपुर पहुंचा भगवान जगन्नाथ के रथ का चक्का, श्रद्धालु इस तरह कर सकेंगे दर्शन

author img

By ETV Bharat Chhattisgarh Desk

Published : Feb 10, 2024, 5:30 PM IST

Updated : Feb 10, 2024, 11:35 PM IST

Lord Jagannath temple of puri

chariot wheel of Lord Jagannath ओडिशा के पुरी से छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भगवान जगन्नाथ मंदिर के रथ का चक्का पहुंचा है. इसे दूसरे रथ में फिट कर श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए रखा गया है. जानिए आप लोग कैसे इस पावन रथ के चक्के का दर्शन कर सकेंगे. Lord Jagannath temple of puri

जगन्नाथ मंदिर के रथ का चक्का

रायपुर: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में ओडिशा के पुरी से भगवान जगन्नाथ मंदिर के रथ का चक्का पहुंचा है. रविवार 11 फरवरी से इस रथ के चक्के का दर्शन आम श्रद्धालु कर सकेंगे. रविवार को रायपुर के गायत्री मंदिर स्थित जगन्नाथ मंदिर मंदिर से जिस रथ को दर्शन के लिए रवाना करने की तैयारी की गई है उसमे इस चक्के को लगाया गया है. यह रथ रायपुर के कलेक्टोरेट, सीएम निवास, राजभवन होते हुए रायपुर के कई इलाकों का भ्रमण करेगा. कुल 21 दिनों तक रथ के चक्के का दर्शन और पूजा पाठ श्रद्धालु कर सकेंगे.

पुरी जगन्नाथ धाम का रथ बेहद पावन: रायपुर जगन्नाथ मंदिर के पुजारी पंडित पुरंदर मिश्रा ने बताया कि "पुरी धाम के रथ का पहिया काफी पवित्र माना जाता है. यही वजह है कि लोग इसकी पूजा अर्चना को जुटते हैं. 11 फरवरी को सुबह 11 बजे से श्रद्धालु इस रथ के चक्के का दर्शन कर सकेंगे. श्रद्धालुओं की आस्था को ध्यान में रखते हुए लगातार 21 दिनों तक पुरी धाम के रथ के चक्के का दर्शन भक्त कर सकेंगे. इस तरह पूजा पाठ करने से लोगों में जगन्नाथपुरी में निकलने वाले रथ यात्रा के भाव जागृत होंगे"

"भगवान जगन्नाथ जी के रथ को नदी घोष कहा जाता है. बलभद्र जी के रथ को तलध्वज कहते हैं और सुभद्रा जी के रथ को दर्पदलन कहा जाता है. प्रभु जगन्नाथ जी के रथ में 16 चक्के होते हैं. भगवान बलभद्र जी के रथ में 14 चक्के होते हैं और सुभद्रा जी के रथ में 12 चक्के होते हैं. भगवान जगन्नाथ जी के रथ की ऊंचाई 44.2 फीट और बलभद्र जी के रथ की ऊंचाई 43.3 फीट है. देवी सुभद्रा जी की रथ की ऊंचाई 42.3 फीट होती है. " पुरंदर मिश्रा,: रायपुर जगन्नाथ मंदिर के पुजारी

पंडित पुरंदर मिश्रा ने बताया कि भगवान जगन्नाथ, भगवान बलभद्र और देवी सुभद्रा के रथ का कलर अलग अलग होता है. प्रभु जगन्नाथ जी के रथ का रंग लाल और पीला होता है. भगवान बलभद्र जी के रथ का रंग लाल हरा और नीला होता है. माता सुभद्रा जी के रथ का रंग काला होता है. हिंदू शास्त्रों में यह रथ शुभ और पवित्र माना जाता है. यही वजह है कि श्रद्धालु इसके दर्शन के लिए उमड़ पड़ते हैं.

जगन्नाथ मंदिर में फटी जींस, स्कर्ट, निकर पहनकर आने वाले श्रद्धालुओं पर रोक

सिहावा के श्रृंगी ऋषि के यज्ञ से हुआ था राम का जन्म, जानिए अयोध्या नगरी से क्या था नाता ?

रायपुर में जगन्नाथ रथ यात्रा में शामिल होंगे सीएम भूपेश बघेल और गवर्नर अनुसुइया उइके

Last Updated :Feb 10, 2024, 11:35 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.