ETV Bharat / state

नाबालिग लड़की भगाने का मामला: पुरोला में तनाव का माहौल, मुस्लिम समुदाय ने SDM से दुकान खुलवाने का किया आग्रह

author img

By

Published : Jun 5, 2023, 7:16 PM IST

Updated : Jun 5, 2023, 9:46 PM IST

पुरोला में हिंदू नाबालिग लड़की को भगाने के प्रयास का मामला शांत होता नहीं दिख रहा है. अभी भी माहौल सामान्य नहीं हो पाया है. इसी बीच मुस्लिम समुदाय के तीन परिवारों ने एसडीएम देवानंद शर्मा को ज्ञापन सौंपकर दुकान खुलवाने का आग्रह किया है. उधर, 9 स्थानीय दुकान स्वामियों ने दुकानदारों को दुकान खाली करवाने को कहा है.

Muslim Traders Met SDM Purola
पुरोला में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने SDM से दुकान खुलवाने का किया आग्रह

उत्तरकाशीः पुरोला में मुस्लिम समुदाय के तीन परिवारों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर उनकी दुकानें खुलवाने का आग्रह किया है. उन्होंने इस संबंध में व्यापार मंडल से भी मुलाकात की है. दूसरी ओर पुलिस ने शहर में शांति माहौल बनाए रखने के लिए व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के साथ बैठक की. पुलिस ने बीते रविवार को दुकानों पर पोस्टर लगाने वाले अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुरोला नगर में 9 दुकान मालिकों ने अपने दुकानें खाली करवाने का ऐलान कर दिया है.

Hindu Girl Absconding Purola
बड़कोट में दुकानदारों ने किया था प्रदर्शन.

दरअसल, बीती 26 मई को पुरोला में दो युवकों की ओर से हिंदू नाबालिग लड़की को भगाने की कोशिश की गई थी. नजीमाबाद निवासी उबैद (पुत्र अहमद) और जितेंद्र सैनी (पुत्र अत्तर सैनी) को इस मामले में गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया गया था. दोनों पर आईपीसी की धारा 363 और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. ये दोनों लड़के यूपी के रहने वाले हैं और पुरोला में स्थानीय रजाई-गद्दे की दुकान पर काम करते थे.

इस घटना के बाद से उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. सोमवार को मुस्लिम समुदाय के व्यापारियां बाल खां, अशरफ, मोहम्मद रईस ने एसडीएम देवानंद शर्मा को ज्ञापन सौंपा. उनका कहना था कि करीब एक हफ्ते से ज्यादा का समय हो गया है, लेकिन उनकी दुकानें बंद पड़ी हैं, जिससे उनके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है. इसलिए सुरक्षा के बीच उनकी दुकानें खुलवाई जाएं.

Porola muslim youth case
पुरोला में आक्रोशित भीड़

अभी माहौल खराब, दुकान खोलने पर बढ़ सकता है तनावः इसके अलावा मुस्लिम समुदाय के व्यापारियों ने व्यापार मंडल अध्यक्ष बृजमोहन सिंह चौहान से मुलाकात कर दुकानें खुलवाने का अनुरोध भी किया. जिस पर बृजमोहन सिंह चौहान ने कहा कि अभी माहौल खराब है. अगर वो दुकानें खोलते हैं तो इससे तनाव और बढ़ सकता है.
ये भी पढ़ेंः उत्तराखंड में लव जिहाद के मामलों ने बढ़ाई 'सरगर्मी', पछुवादून से उत्तरकाशी तक उबाल

9 दुकान मालिकों ने दुकान खाली करवाने की कही बातः वहीं, दूसरी ओर राष्ट्रीय संत दर्शन लाल भारती भी मुस्लिम समुदाय की दुकानों को खाली करवाने के लिए उनके मकान मालिकों से मिले. जिसके बाद 9 दुकान मालिकों ने ऐलान कर दिया है कि वो अपनी दुकान मुस्लिम समुदाय के दुकानदारों से खाली करवाएंगे.
ये भी पढ़ेंः देहरादून में हिंदू महिला ने मुस्लिम युवक पर लगाया रेप का आरोप, पति को तलाक देने का डाल रहा था दबाव

पुरोला में मुस्लिम समुदाय की दुकानों पर पोस्टर लगाने के बाद हरकत में आई पुलिस ने सीओ बड़कोट सुरेंद्र सिंह भंडारी ने व्यापार मंडल अध्यक्ष बृजमोहन सिंह चौहान, महामंत्री अंकित पंवार और एसएचओ केएस चौहान के साथ एक बैठक आहूत की. जिसमें उन्होंने व्यापारियों से सौहार्द बनाए रखने की अपील की.
ये भी पढ़ेंः उत्तरकाशी में नाबालिग को भगाने का मामला: बड़कोट और नौगांव में सड़कों पर उतरा जनसैलाब, पुरोला-मोरी में बाजार बंद

बड़कोट सीओ सुरेंद्र सिंह भंडारी खुद रख रहे पैनी नजरः बड़कोट सीओ सुरेंद्र सिंह भंडारी ने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस के पास पर्याप्त फोर्स है. जिसमें 14 एएसआई रैंक के अधिकारी भी इस मामले से निपटने के लिए तैनात किए गए हैं. साथ ही वो खुद भी हर घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए हैं.

दुकानों के बाहर पोस्टर लगाने के मामले में अज्ञात के खिलाफ केस दर्जः सीओ भंडारी ने बताया कि पुरोला में दुकानों के बाहर पोस्टर लगाने के मामले में अज्ञात के खिलाफ धारा 153, 505, 1 सी, 506 के तहत धर्म विशेष के लोगों को डराने समेत सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने को लेकर मुकदमा दर्ज किया गया है. इस मामले में भी जांच जारी है.
ये भी पढ़ेंः पुरोला में बढ़ रहा विरोध, व्यापारियों का जबरदस्त प्रदर्शन, नाबालिग लड़की को भगाने का मामला

उत्तरकाशीः पुरोला में मुस्लिम समुदाय के तीन परिवारों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर उनकी दुकानें खुलवाने का आग्रह किया है. उन्होंने इस संबंध में व्यापार मंडल से भी मुलाकात की है. दूसरी ओर पुलिस ने शहर में शांति माहौल बनाए रखने के लिए व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के साथ बैठक की. पुलिस ने बीते रविवार को दुकानों पर पोस्टर लगाने वाले अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुरोला नगर में 9 दुकान मालिकों ने अपने दुकानें खाली करवाने का ऐलान कर दिया है.

Hindu Girl Absconding Purola
बड़कोट में दुकानदारों ने किया था प्रदर्शन.

दरअसल, बीती 26 मई को पुरोला में दो युवकों की ओर से हिंदू नाबालिग लड़की को भगाने की कोशिश की गई थी. नजीमाबाद निवासी उबैद (पुत्र अहमद) और जितेंद्र सैनी (पुत्र अत्तर सैनी) को इस मामले में गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया गया था. दोनों पर आईपीसी की धारा 363 और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. ये दोनों लड़के यूपी के रहने वाले हैं और पुरोला में स्थानीय रजाई-गद्दे की दुकान पर काम करते थे.

इस घटना के बाद से उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. सोमवार को मुस्लिम समुदाय के व्यापारियां बाल खां, अशरफ, मोहम्मद रईस ने एसडीएम देवानंद शर्मा को ज्ञापन सौंपा. उनका कहना था कि करीब एक हफ्ते से ज्यादा का समय हो गया है, लेकिन उनकी दुकानें बंद पड़ी हैं, जिससे उनके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है. इसलिए सुरक्षा के बीच उनकी दुकानें खुलवाई जाएं.

Porola muslim youth case
पुरोला में आक्रोशित भीड़

अभी माहौल खराब, दुकान खोलने पर बढ़ सकता है तनावः इसके अलावा मुस्लिम समुदाय के व्यापारियों ने व्यापार मंडल अध्यक्ष बृजमोहन सिंह चौहान से मुलाकात कर दुकानें खुलवाने का अनुरोध भी किया. जिस पर बृजमोहन सिंह चौहान ने कहा कि अभी माहौल खराब है. अगर वो दुकानें खोलते हैं तो इससे तनाव और बढ़ सकता है.
ये भी पढ़ेंः उत्तराखंड में लव जिहाद के मामलों ने बढ़ाई 'सरगर्मी', पछुवादून से उत्तरकाशी तक उबाल

9 दुकान मालिकों ने दुकान खाली करवाने की कही बातः वहीं, दूसरी ओर राष्ट्रीय संत दर्शन लाल भारती भी मुस्लिम समुदाय की दुकानों को खाली करवाने के लिए उनके मकान मालिकों से मिले. जिसके बाद 9 दुकान मालिकों ने ऐलान कर दिया है कि वो अपनी दुकान मुस्लिम समुदाय के दुकानदारों से खाली करवाएंगे.
ये भी पढ़ेंः देहरादून में हिंदू महिला ने मुस्लिम युवक पर लगाया रेप का आरोप, पति को तलाक देने का डाल रहा था दबाव

पुरोला में मुस्लिम समुदाय की दुकानों पर पोस्टर लगाने के बाद हरकत में आई पुलिस ने सीओ बड़कोट सुरेंद्र सिंह भंडारी ने व्यापार मंडल अध्यक्ष बृजमोहन सिंह चौहान, महामंत्री अंकित पंवार और एसएचओ केएस चौहान के साथ एक बैठक आहूत की. जिसमें उन्होंने व्यापारियों से सौहार्द बनाए रखने की अपील की.
ये भी पढ़ेंः उत्तरकाशी में नाबालिग को भगाने का मामला: बड़कोट और नौगांव में सड़कों पर उतरा जनसैलाब, पुरोला-मोरी में बाजार बंद

बड़कोट सीओ सुरेंद्र सिंह भंडारी खुद रख रहे पैनी नजरः बड़कोट सीओ सुरेंद्र सिंह भंडारी ने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस के पास पर्याप्त फोर्स है. जिसमें 14 एएसआई रैंक के अधिकारी भी इस मामले से निपटने के लिए तैनात किए गए हैं. साथ ही वो खुद भी हर घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए हैं.

दुकानों के बाहर पोस्टर लगाने के मामले में अज्ञात के खिलाफ केस दर्जः सीओ भंडारी ने बताया कि पुरोला में दुकानों के बाहर पोस्टर लगाने के मामले में अज्ञात के खिलाफ धारा 153, 505, 1 सी, 506 के तहत धर्म विशेष के लोगों को डराने समेत सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने को लेकर मुकदमा दर्ज किया गया है. इस मामले में भी जांच जारी है.
ये भी पढ़ेंः पुरोला में बढ़ रहा विरोध, व्यापारियों का जबरदस्त प्रदर्शन, नाबालिग लड़की को भगाने का मामला

Last Updated : Jun 5, 2023, 9:46 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.