सड़क डामरीकरण लापरवाही मामले में मंत्री महाराज ने अधिकारियों को लगाई फटकार, जेल भेजने की दी चेतावनी

author img

By ETV Bharat Uttarakhand Desk

Published : Jan 15, 2024, 10:47 PM IST

Updated : Jan 15, 2024, 10:55 PM IST

Nainisand Pathwara Road

Nainisand Pathwara Road Asphalting in Tehri टिहरी के कीर्तिनगर ब्लॉक में नैनीसैंड-पठवाड़ा मार्ग पर डामरीकरण में लापरवाही मामले को ईटीवी भारत ने प्रमुखता से दिखाया था. ईटीवी भारत पर खबर दिखाए जाने के बाद लोक निर्माण विभाग मंत्री सतपाल महाराज ने संबंधित अधिकारियों को फटकार लगाकर जल्द सड़क ठीक करने को कहा है. साथ ही केस दर्ज करने की चेतावनी भी दी है.

लोक निर्माण विभाग मंत्री सतपाल महाराज ने अधिकारियों को लगाई फटकार

श्रीनगर: ईटीवी भारत की खबर का एक बार फिर से बड़ा असर हुआ है. टिहरी के कीर्तिनगर ब्लॉक में सड़क डामरीकरण में लापरवाही की खबर को ईटीवी भारत ने प्रमुखता से दिखाया था. खबर दिखाए जाने के बाद लोक निर्माण विभाग मंत्री सतपाल महाराज ने मामले का संज्ञान लेकर अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई है. साथ ही अधिकारियों से जवाब तलब किया है. इतना ही नहीं उन्होंने जल्द ठीक नहीं करने पर कानूनी कार्रवाई अमल में लाने की बात भी कही है.

ईटीवी भारत ने प्रमुखता से दिखाई थी खबर: गौर हो कि दें कि बीती 13 जनवरी को ईटीवी भारत ने 'कीर्तिनगर ब्लॉक में महीने भर में ही उखड़ने लगा रोड का डामर, गुणवत्ता की खुली पोल' हेडलाइन से खबर को प्रमुखता से दिखाया था. जिसका अब बड़ा असर हुआ है. खबर दिखाए जाने के बाद लोक निर्माण विभाग मंत्री सतपाल महाराज ने मामले को संज्ञान लिया है.

Nainisand Pathwara Road
डामरीकरण के बाद उखड़ गई सड़क

मंत्री महाराज ने लापरवाह अधिकारी को दी जेल भेजने की चेतावनी: मामले में मंत्री महाराज ने संबंधित अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई है. इतना ही नहीं कीर्तिनगर ब्लॉक के नैनीसैंड-पठवाड़ा मार्ग, लोस्तु-बडियारगढ़ और धारी-ढूढंसिर मोटर मार्ग के संबंध में संबंधित अधिकारियों से जवाब मांगा है. सतपाल महाराज ने दो टूक कहा कि अगर सड़क ठीक नहीं की तो सजा होगी और जेल भेज दिया जाएगा.
ये भी पढ़ें: मसूरी में खबर का असर, खुले में सीवरेज डालने वालों को जल संस्थान ने थमाया नोटिस

एक महीने के भीतर उखड़ गया डामर: बता दें कि कीर्तिनगर ब्लॉक के नैनीसैंड पठवाड़ा मोटर मार्ग डामरीकरण में भारी अनियमितता बरती गई थी. आलम ये था कि सिर्फ खानापूर्ति कर धन को ठिकाने लगाने की कोशिश की गई थी. यही वजह थी कि सड़क डामरीकरण के एक महीने के भीतर ही जगह-जगह से उखड़ गई. साथ ही सड़क पर रोड़ी फैल गई.

Nainisand Pathwara Road
नैनीसैंड-पठवाड़ा सड़क का हाल

ग्रामीण बोले- इससे बढ़िया तो पेंटिंग ही नहीं करते: ग्रामीणों का साफ कहना था कि इससे बेहतर तो सड़क का डामरीकरण ही नहीं करते. क्योंकि, डामरीकरण के बाद रोड़ी सड़क पर फैल गई है. जिससे दोपहिया वाहन सवार रपट कर चोटिल हो रहे हैं. ग्रामीण अवतार सिंह का कहना था कि जब डामरीकरण की जा रही थी, उस दौरान उन्होंने विरोध किया था कि सर्दियों में पेंटिंग न की जाए, लेकिन ठेकेदार और संबंधित अधिकारी नहीं माने.

नैनीसैंड-पठवाड़ा मोटर मार्ग पर सील कोट का कार्य करवाया गया था. तापमान अनुकूल न होने के कारण कई स्थानों पर मार्ग खराब हो रहा है. गर्मियां आने पर दोबारा पेंटिंग की जाएगी. - डीपी आर्य, अधिशासी अभियंता, लोक निर्माण विभाग

Last Updated :Jan 15, 2024, 10:55 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.