कॉर्बेट के फाटो जोन में बढ़ाई जा रही पर्यटन गतिविधियां, बनाए जाएंगे दो ट्री हाउस व पांच ईको हट

author img

By ETV Bharat Uttarakhand Desk

Published : Jan 14, 2024, 12:22 PM IST

Updated : Jan 14, 2024, 1:44 PM IST

Etv Bharat

Corbett Fato Zone जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क से सटे फाटो पर्यटन जोन को पर्यटन के लिहाज से विकसित किया जा रहा है. जल्द पर्यटक इन जोन में रात्रि विश्राम कर सकेंगे. जिसके लिए वन विभाग द्वारा दो नए ट्री हाउस व पांच ईको हट का निर्माण कराया जाएगा. जिसके लिए धन की स्वीकृति मिल चुकी है.

कॉर्बेट के फाटो जोन में बढ़ाई जा रही पर्यटन गतिविधियां

रामनगर: विश्व प्रसिद्ध जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क से सटे तराई पश्चिम वन प्रभाग के फाटो पर्यटन जोन में जल्द ही 20 से अधिक पर्यटक एक साथ रात्रि विश्राम का आनंद उठा सकेंगे. इसके लिए शासन ने विभाग को एक करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया है. इस बजट से पर्यटकों के लिए दो नए ट्री हाउस व पांच ईको हट का निर्माण कराया जाएगा. उसके साथ ही जोन की सुरक्षा चौकियां, मार्ग आदि को भी दुरुस्त करने की कार्रवाई की जा रही है.

गौरतलब है तराई पश्चिमी के फाटो पर्यटन जोन ने डे विजिट सफारी के मामले में कॉर्बेट के अलग-अलग जोनों को भी इस वक्त पीछे छोड़ दिया है. क्योकि कॉर्बेट पार्क आने वाले पर्यटकों की डे सफारी के लिए यह जोन पहली पसंद बना हुआ है.बता दें कि फाटो में ट्रायल के लिए वनाधिकारियों ने एक ट्री हाउस का निर्माण कराया था. इसके साथ ही एक अन्य कमरे को भी पर्यटकों के रात्रि विश्राम की बुकिंग के लिए शुरू किया था. वहीं एक ही ट्री हाउस होने से उतने ज्यादा पर्यटक रात्रि विश्राम पर नहीं आ रहे थे,जिसको लेकर और ट्री हाउस के निर्माण को लेकर प्रस्ताव भेजा था.
पढ़ें-कॉर्बेट पार्क में अब सैलानी साइकिलिंग का भी उठा सकेंगे लुत्फ, विभाग ने इतना रखा शुल्क

जिससे पर्यटन व्यवसायियों में भी खुशी की लहर है. पर्यटन व्यवसाय संजय छिम्वाल ने कहा कि एक ही ट्री हाउस होने से ज्यादा तादाद में पर्यटक फाटो पर्यटन जोन में रात्रि विश्राम पर नहीं आ रहे थे. इसके बनने से अब ज्यादा पर्यटक यहां आ सकेंगे, जिससे आसपास पर्यटन से जुड़े कारोबारी को एक तरफ रोजगार मिलेगा, दूसरा विभाग को राजस्व की प्राप्ति भी होगी. कहा कि सरकार और वन विभाग को यहां के मार्गों पर भी ध्यान देना चाहिए. क्योंकि बरसात के सीजन में मार्ग पर जिप्सियां फंस जाती हैं.मार्ग ठीक होंगे तो सैलानियों को आवाजाही में परेशानी नहीं होगी.
पढ़ें-रामनगर में अवैध पेड़ कटान के मामले में वन दारोगा और वन रक्षक सस्पेंड

वहीं तराई पश्चिम वन प्रभाग के डीएफओ पीसी आर्या ने बताया कि फाटो में रात्रि विश्राम को बढ़ाने के लिए शासन को पत्र भेजा था. क्योंकि ज्यादा पर्यटकों के रुकने की क्षेत्र में व्यवस्था ना होने के चलते पर्यटक यहां नहीं रुक पाते थे. जिसको लेकर दो ट्री हाउस बढ़ाने की अनुमति मांगी थी. उन्होंने बताया कि शासन ने रात्रि विश्राम को बढ़ाने की अनुमति दे दी है. साथ ही एक करोड़ रुपए का बजट भी स्वीकृत कर दिया है. इस बजट से पर्यटकों के लिए दो नए ट्री हाउस व पांच हट का निर्माण कराया जाएगा. साथ ही जोन की सुरक्षा चौकियां, मार्ग आदि को भी दुरुस्त किया जाएगा.

Last Updated :Jan 14, 2024, 1:44 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.