देशभर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम की धूम, राम रंग में डूबा हल्द्वानी का किन्नर समाज

author img

By ETV Bharat Uttarakhand Desk

Published : Jan 20, 2024, 3:04 PM IST

Updated : Jan 20, 2024, 3:15 PM IST

Pran Pratistha program

Pran Pratistha program,Haldwani Kinnar Samaj अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होनी है. जिसको लेकर देशभर में राममय माहौल है. हल्द्वानी प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर किन्नर समाज काफी उत्साहित है.

देशभर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम की धूम

हल्द्वानी: अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला प्राण प्रतिष्ठा को लेकर अयोध्या के साथ साथ पूरे देश भर में भारी उत्साह देखा जा रहा है. चारों तरफ राम नाम की धूम है. 500 वर्षो के इंतजार के बाद प्रभु राम अपने घर पधार रहे हैं. हर कोई खुशी में डूबा हुआ है. ऐसा ही एक नजरा हल्द्वानी में देखने को मिला है. यहां किन्नर समाज के लोग राम भजनों पर झूमते नजर आ रहे हैं. किन्नर समाज राम भजन गाकर एक दूसरे को बधाई दे रहा है.

हल्द्वानी स्थित किन्नर समाज की गुरु कशिश मौसी के आवास पर किन्नरों ने राम भजन गाये. किन्नर समाज ने कहा सभी को बेसब्री से इस पल का इंतजार था. हम राम भक्ति में मगन हैं. किन्नर समाज के लोगों ने कहा रामलला से उनका पुराना रिश्ता है. उन्होंने कहा जब अयोध्या में रामलला का जन्म हुआ था तब हमारे समाज के लोगों ने अयोध्या में बधाई गाई थी. तब राजा दशरथ को रामलला के जन्म की बधाई दी थी. ऐसा ही मौका फिर से आ रहा है. जिसमें शामिल होने के लिए वे आतुर हैं. उन्होंने कहा जब रामलला अपने भव्य मंदिर में विराजमान होगें तब पूरे देश में दीवाली मनाई जाएगी. राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा को लेकर उनके समाज में अलग ही खुशी है.

पढ़ें- श्रीराम भक्ति में रंगा मुख्यमंत्री आवास, माननीयों ने किया सुंदरकांड पाठ, लगे जयकारे

किन्नर समाज ने लोगों से अपील करते हुए कहा 22 जनवरी को आप दीवाली की तरह मनाएं. साथ ही उन्होंने कहा इस दिन सभी लोग अपने घरों में दीपोत्सव का आयोजन करें. किन्नर समाज ने कहा 22 जनवरी को हमारे समाज द्वारा गरीबों को कपड़े और भोजन का वितरण किया जायेगा. जिसकी तैयारी कर ली गई है. इस मौके पर मुख्य रूप से लेला किन्नर, मलती देवी और राहुल मौजूद रहे.

Last Updated :Jan 20, 2024, 3:15 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.