पहले मंदिर में की पूजा, फिर अष्टधातु की मूर्ति को जैकेट में छिपाकर चोर हुआ फरार, CCTV में वारदात कैद

author img

By ETV Bharat Uttar Pradesh Desk

Published : Jan 13, 2024, 8:34 PM IST

Etv Bharat

मेरठ में एक चोर पूजा करने के बहाने मंदिर में पहुंचा और थोड़ी ही देर में अष्टधातु की मूर्ति (Ashtadhatu idol stolen from temple) लेकर फरार हो गया. पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोर की तलाश कर रही है.

पूजा के बहाने मंदिर में पहुंचा चोर, मूर्ति लेकर हुआ फरार

मेरठ: जब किसी की नियत खराब हो तो ऐसे लोग धर्मस्थल पर भी अपनी हरकत से बाज नहीं आते. ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें एक युवक मंदिर में पूजा करने के बहाने पहुंचता है और मौका पाकर मंदिर से मूर्ति चोरी कर रफूचक्कर हो जाता है. चोरी की यह पूरी घटना मंदिर में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई.

दरअसल, सिविल लाइन थाना क्षेत्र में स्थित बगलामुखी मंदिर एक व्यक्ति पूजा करने के बहाने पहुंचा था. इस दौरान मंदिर में रखी अष्टधातु की देवी की मूर्ति पर हाथ साफ कर फरार हो गया. मंदिर के पुजारी ने अगले दिन जब पूजा करने पहुंचे तो वह हक्के बक्के रह गए. मंदिर से एक अष्ट धातु की मूर्ति गायब थी. इसके बाद मंदिर के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया. फुटेज में चोर को मूर्ति लेकर फरार होते हुए देखा गया. पुजारी ने इसकी सूचना स्थानीय थाना सिविल लाइंस में दी. पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कार्रवाई शुरू कर दी है. सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि एक व्यक्ति मंदिर में पहुंचकर पहले पूजा करता है. इसके बाद धीरे से अष्टधातु मूर्ति को उठाता है अपने जैकेट के अंदर छुपाकर चला जाता है.

इसे भी पढ़े-दबंगों के खिलाफ कार्रवाई न होने पर बुजुर्ग ने आत्महत्या कर ली, वीडियो वायरल होने से मचा हड़कंप

प्राचीन मंदिर मां बगलामुखी के मुख्य पुजारी आचार्य प्रदीप गोस्वामी ने बताया कि मंदिर हर रोज सुबह प्रातः 05 बजे खोला जाता है. शनिवार को सुबह जब मंदिर खोला गया तो देवी, देवताओं की मूर्तियां अपनी जगह थीं. लेकिन दोपहर को जब देखा तो पता चला कि मंदिर से अष्ट धातु की मूर्ति गायब थी. मुख्य पुजारी ने बताया कि अनेकों भक्त मंदिर में हर रोज आते है. लेकिन इस तरह की घटना यहां पहली बार हुई है. एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि इस मामले की जांच पड़ताल की जा रही है. शीघ्र ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. पुलिस के अफसरों का दावा है कि यह मूर्ति 10 साल पुरानी थी. वीडियो में उसे स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है.

यह भी पढ़े-बिजनौर में ग्राम विकास अधिकारी का वीडियो वायरल, घूस मांगने का आरोप में सस्पेंड

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.