ऑनलाइन गेम में हार गया पिता के साढ़े 3 लाख रुपये, फिर किया ऐसा कांड कि पहुंच गया सलाखों के पीछे

author img

By ETV Bharat Uttar Pradesh Desk

Published : Jan 18, 2024, 8:18 PM IST

Updated : Jan 18, 2024, 8:33 PM IST

Etv Bharat

ऑनलाइन गेम में का चस्का एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग डिप्लोमा करने वाले लड़के को ऐसा लगा कि वह अपने पिता के साढ़े 3 लाख रुपये हार (Money lost in online game) गया. इसके बाद उसने कुछ ऐसा किया कि पुलिस उसको ढूंढने निकल पड़ी. गुरुवार को पुलिस ने इस लड़के और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया.

बाराबंकी में वारदात का खुलासा करते एडिशनल एसपी डॉ. अखिलेश नारायण सिंह

बाराबंकी: पिता द्वारा दिये गए साढ़े 3 लाख रुपयों को एक बेटा ऑनलाइन गेम में हार गया. पिता के खौफ और रुपयों की वापसी के लिए बेटे ने जो कदम उठाया उसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग डिप्लोमा होल्डर (Electrical Engineering Diploma Holder) बेटे ने अपने साथी के साथ मिलकर चोरियां शुरू कर दीं और आखिर एक दिन ट्रैक्टर चोरी जैसी बड़ी वारदात को अंजाम दे डाला. ट्रैक्टर जैसी चोरी ने हड़कम्प मचा दिया था, लेकिन पुलिस ने जब कड़ी से कड़ी जोड़ी तो आरोपी हत्थे चढ़ गए.

करीब 20 दिन पहले यानी 29/30 दिसम्बर रात को कोठी थाने के दरावपुर निवासी आकाश कुमार वर्मा का ट्रैक्टर गांव के ही रहने वाले टेकचंद वर्मा के दरवाजे पर खड़ा था. रात में अचानक ट्रैक्टर चोरी हो गया. आकाश वर्मा को सुबह जब इसकी जानकारी हुई, तो हड़कम्प मच गया. आकाश ने कोठी थाने पर पहुंचकर अज्ञात चोरों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पड़ताल शुरू की. डिजिटल डेटा और ग्रामीणों से पूछताछ के बाद पुलिस ने इस चोरी में शामिल तीन युवकों की पहचान कर ली.

गुरुवार को पुलिस ने शिवाला पुरवा मजरे चांदपुर के नहर पुलिया के पास से चोरी की वारदात में शामिल अभिषेक कुमार वर्मा निवासी अमरसिंह मदारपुर थाना असंदरा और मनीष वर्मा उर्फ विजय प्रसाद वर्मा निवासी छुलापाही थाना असंदरा को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने इनकी निशानदेही पर चोरी किया गया ट्रैक्टर बरामद कर लिया. पिछले 20 दिनों से ये लोग ट्रैक्टर को बेचने की फिराक में थे और ट्रैक्टर को एक जगह पर छिपा कर रखा गया था. पुलिस अब तीसरे आरोपी मोहित वर्मा की तलाश में जुटी है. गुरुवार को जब पुलिस ने इन दोनों को पेश किया, तो मनीष रोने लगा और उसे अपनी गलती पर पछतावा हो रहा था.

ऑनलाइन गेम में हार गया साढ़े 3 लाख रुपया: आरोपी मनीष वर्मा ने बताया कि उसने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया है. वह नौकरी की तलाश कर रहा था. कुछ दिनों पहले मनीष वर्मा के पिता भैरव प्रसाद वर्मा ने बेटे मनीष को धान खरीदने के लिए करीब साढ़े 3 लाख रुपये दिए थे. महत्वाकांक्षी मनीष ने महादेव ऐप पर ऑनलाइन गेम खेलकर सारे रुपये गवां दिए. गेम में रुपये हार जाने के बाद उसे पिता का खौफ सताने लगा.

उसने सोचा कि पिता द्वारा रुपयों की बाबत पूछे जाने पर वह जवाब क्या देगा. इसी डर से उसने इन रुपयों की भरपाई के लिए चोरी का रास्ता अख्तियार कर लिया. उसने अपनी इस योजना में अपने साथियों अभिषेक और मोहित को भी शामिल कर लिया. छोटी मोटी चोरियां करते हुए उसने 30 दिसम्बर को आकाश वर्मा का ट्रैक्टर चोरी (Three thieves arrested in Barabanki ) कर लिया.

ये भी पढ़ें- अयोध्या में दिख रही त्रेतायुग झलक, सूर्य स्तंभ करा रहे सूर्यवंशी रामनगरी का एहसास

Last Updated :Jan 18, 2024, 8:33 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.