Governor visits Kota: राज्यपाल ने कोटा सिटी पार्क को बताया अद्भुत, कहा - भारत में नहीं ऐसा कोई पार्क

author img

By

Published : Feb 28, 2023, 10:51 PM IST

Governor visits Kota

कोटा दौरे पर आए राज्यपाल कलराज मिश्र ने करीब ढाई घंटे तक (Governor visits Kota City Park) कोटा सिटी पार्क का अवलोकन किया. इस दौरान मीडिया से रूबरू हुए राज्यपाल ने कोटा सिटी पार्क को अनुपम व अद्भुत बताया.

राज्यपाल कलराज मिश्र

कोटा. राज्यपाल कलराज मिश्र मंगलवार को अपने दो दिवसीय दौरे पर कोटा पहुंचे, जहां उन्होंने करीब 100 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हो रहे कोटा सिटी पार्क का अवलोकन किया. इस दौरान मीडियाकर्मियों से रूबरू हुए राज्यपाल ने इस पार्क को अनुपम व अद्भुत करार दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि वो इससे पहले इस तरह का दूसरा कोई पार्क नहीं देखे हैं. फिलहाल इस पार्क को आम लोगों के लिए नहीं खोला गया है. लेकिन इसमें कई अंतर्राष्ट्रीय स्तर के मॉन्यूमेंट्स व स्ट्रक्चर तैयार किए गए हैं.

यहां करीब ढाई घंटे तक राज्यपाल ने पार्क का अवलोकन किया. इस दौरान उन्होंने इस पार्क को अनुपम व अद्भुत करार देते हुए कहा कि देश में इस तरह का दूसरा कोई पार्क उन्होंने नहीं देखा है. पार्क में प्रकृति और मनुष्य के बीच आपसी सामंजस्य को दिखाया गया है. राज्यपाल ने कहा कि दुनियाभर में कहीं अच्छी चीजें हैं तो उनमें इस पार्क को भी शामिल करना चाहिए.

इसे भी पढे़ं - राज्यपाल कलराज मिश्र कल से दो दिवसीय दौरे पर आएंगे कोटा, जानिए पूरा कार्यक्रम

उन्होंने कहा कि कोटा में डिप्रेशन और सुसाइड के मामले स्टूडेंट्स में काफी ज्यादा है. कोचिंग स्टूडेंट के नजदीक ही रहते हैं, जिससे वे यहां आकर काफी अच्छा महसूस कर सकते हैं. डिप्रेशन या परेशानी होने पर विद्यार्थी आकर शांति का अनुभव कर सकते हैं. साथ ही वो यहां अपनी पढ़ाई भी कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि हम नॉलेज इज फ्रीडम स्टेचू के नीचे खड़े हैं. जिसका मतलब है कि ज्ञान अर्जित करो और स्वतंत्रता के साथ उसका उपयोग करो. वहीं, इस मौके पर राज्यपाल ने पार्क में कदंब का पौधा रोपा.

जानें कोटा सिटी पार्क की खासियत

  1. 100 करोड़ की लागत से बने पूरे पार्क में 16 फीसदी वाटर बॉडी, 12 फीसदी स्ट्रक्चर और करीब 72 फीसदी एरिया में हरियाली लगाई गई है.
  2. जिसमें 5 लाख के आसपास अलग-अलग पौधे लगे हैं. जिसमें एक हजार से ज्यादा प्रजाति के पौधे और फूल भी है.
  3. कांच से बना हुआ एक शीश महल भी तैयार किया गया है. इसके साथ ही 1200 मीटर लंबी कृत्रिम कैनाल तैयार की गई है. जिसमें पानी भी डाला गया है.
  4. इसमें एक आर्टिफिशियल आर्ट हिल तैयार की जा रही है.
  5. विश्व की सबसे बड़ी धातु से बनी एवियरी यहां पर तैयार हुई है. जिसमें विदेशी पक्षियों को रखा जाएगा.
  6. एक बड़ा डक पॉइंट भी यहां पर बनाया गया है. जिसके जरिए झरने से पानी नीचे डाला गया है. यह झरना अभी कृत्रिम रूप से ही बनाया गया है.
  7. यहां स्टेचू में नॉलेज इज फ्रीडम, उल्टा पिरामिड, हवा का दबाव बताने का नैतिक टावर, ट्री मैन.

कोटा विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में हुए शामिल - राज्यपाल कलराज मिश्र मंगलवार को कोटा विश्वविद्यालय के नौवें दीक्षांत समारोह में यूआईटी ऑडिटोरियम में शामिल हुए. जिसमें कैंसर अस्पताल व शोध केंद्र ग्वालियर के संस्थापक निदेशक डॉ. बीआर श्रीवास्तव और कुलपति प्रो. निलिमा सिंह भी मौजूद रही. दीक्षांत समारोह में साल 2020 में परीक्षाओं को पास करने वाले 72347 विद्यार्थियों को उपाधि दी गई है. इसमें 57 स्टूडेंट्स को गोल्ड मेडल दिया.

जिसमें 42 छात्राएं शामिल रही तो दूसरी तरफ पीएचडी की सतीश उपाधियां दी गई. जिनमें से 25 छात्राएं शामिल रही. चांसलर पदक विधि संकाय में अधिकतम अंक हासिल करने वाले पीजी के विद्यार्थी वसीम राजा और वीसी पदक विज्ञान संकाय में अधिक अंक अर्जित करने वाली यूजी विद्यार्थी नमिता मालव को दिया गया. कार्यक्रम में संविधान पार्क, महात्मा गांधी उद्यान, केमेस्ट्री लैब, कंप्यूटर सेंटर, इन्नोवेशन एंड इनक्यूबेशन सेंटर का वर्चुअली लोकार्पण किया.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.