पतंगबाजी का शौक पड़ा भारी, किसी का चाइनीज मांझे से गला कटा, कोई छत से गिरकर पहुंचा अस्पताल

author img

By ETV Bharat Rajasthan Desk

Published : Jan 15, 2024, 6:16 PM IST

पतंगबाजी का शौक पड़ा भारी

मकर संक्रांति पर गुलाबी नगरी जयपुर में दो दिन जमकर पतंगबाजी हुई. हालांकि, इस दौरान लापरवाही के चलते कई लोग छत से गिरकर घायल हो गए,जबकि मांझे के कारण भी कई लोग घायल होकर अस्पताल पहुंचे. छत से गिरकर घायल होने वालों में बच्चों की संख्या ज्यादा है.

जयपुर. गुलाबी नगरी जयपुर में रविवार और सोमवार को दो दिन पतंगबाजी को लेकर खासा उत्साह दिखाई दिया. कमोबेश हर शहरवासी छत पर रहा और वो काटा का शोर सुनाई दिया. हालांकि, इस दौरान लापरवाही के चलते कुछ लोग छत से गिरकर अस्पताल भी पहुंचे, जबकि कुछ लोग खतरनाक मांझे से भी घायल होकर अस्पताल पहुंचे जहां उनका उपचार किया गया. सवाई मानसिंह अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में दो दिन में 50 से ज्यादा लोग पतंगबाजी के दौरान घायल होकर पहुंचे हैं. इनमें से 29 लोगों को रविवार को अस्पताल लाया गया, जबकि 20 लोगों को सोमवार को उपचार के लिए अस्पताल लाया गया.

सवाई मानसिंह अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर के प्रभारी डॉ. अनुराग धाकड़ के अनुसार, सोमवार को पतंगबाजी के दौरान हुए हादसों में 20 लोग घायल हो गए. इनमें से दो को अस्पताल में भर्ती किया गया है जबकि बाकी को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है. उन्होंने बताया कि आज छत से गिरकर बच्ची घायल हो गई, वहीं चाइनीज मांझे से युवक का गला कट गया. हालांकि, डॉक्टर्स ने उसका उपचार कर दिया और वह अब खतरे से बाहर है. उनका कहना है कि आज छत से गिरकर घायल होने के 5 और चाइनीज मांझे से घायल होने के 14 केस आए हैं. डॉ अनुराग ने बताया कि एक बच्चा पतंग लूटने के दौरान घायल हो गया.

पढ़ें: पतंगबाजी के दौरान दुर्घटना और मांझे से कटने की वजह से कई लोग पहुंचे अस्पताल, दो बच्चे गंभीर घायल

14 जनवरी को 29 लोग पहुंचे अस्पताल: डॉ. अनुराग धाकड़ ने बताया कि रविवार को कुल 29 लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया था. इनमें चाइनीज मांझे से घायल होने वालों की संख्या 16 और छत से गिरकर घायल होने वालों की संख्या 13 थी. इनमें 6 साल के आयुष और 5 साल की रिद्धि के सिर में चोट लगने के कारण दोनों को भर्ती किया गया है.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.