Agniveer Training जबलपुर में देश के दुश्मनों का दिल दहलाने तैयार हो रहे हैं अग्निवीर, देखें कैसे होती है ट्रेनिंग

author img

By

Published : Jan 12, 2023, 4:08 PM IST

Updated : Jan 12, 2023, 5:33 PM IST

Army Started Agniveer Training

देश के दुश्मनों का दिल दहलाने के लिए अग्निवीर तैयार हो रहे हैं. सेना की सबसे महत्वकांक्षी योजना अग्निवीर के तहत जबलपुर में जवानों को तैयार किया जा रहा है जो बेहद सख्त और कड़ी ट्रेनिंग के बाद भारतीय सेना का हिस्सा हो जाएंगे और हिंदुस्तान की सीमाओं पर दुश्मनों से लोहा लेंगे. एक सोल्जर बनने के लिए इस तरह से जवान खून पसीना बहा रहे हैं.

तैयार हो रहे हैं अग्निवीर

जबलपुर। मध्य प्रदेश और देशभर में हुई अग्निवीरों की परीक्षा के बाद 1 जनवरी से उनकी ट्रेनिंग शुरू हो गई है. जबलपुर में भी अलग-अलग ट्रेनिंग सेंटर में इन अग्निवीरों की ट्रेनिंग चल रही है. सेना के अधिकारियों का कहना है कि, अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया के तहत चयन होकर आए इस बैच के युवाओं में जबरदस्त उत्साह देखते ही बनता है. जब यह सोल्जर अपनी ट्रेनिंग पूरी कर कर निकलेंगे तो पूरा यकीन है कि देश को बेहतर नागरिक के साथ अव्वल दर्जे के सैनिक साबित होंगे. इसी योजना के तहत भर्ती हुए युवा में भी वही जोश और जज्बा है.

तैयार हो रहे अग्निवीर: देशभर में आयोजित की गई अग्नि भर्ती परीक्षा के बाद जिन युवाओं को चयनित किया गया, अब उन्हें देश के अलग-अलग ट्रेनिंग सेंटरों में सोल्जर बनाया जा रहा है. जबलपुर में भी यह जिम्मेदारी जम्मू एंड कश्मीर राइफल रेजीमेंट सेंटर और 1stc ट्रेनिंग सेंटर को दी गई है. जहां तकरीबन हजार से अधिक युवाओं को सोल्जर बनाया जा रहा है. इस ट्रेनिंग के जरिए उनके शरीर को न केवल मजबूती दी जा रही है बल्कि हर तरह की परिस्थितियों से लड़ने की ट्रेनिंग भी दी जा रही है.

पहली बार ऑटोमेटिक एनरोल हुए अग्निवीर: वन सिग्नल ट्रेनिंग सेंटर कमाण्डेन्ट ब्रिगेडियर राहुल मलिक ने जानकारी देते हुए बताया की 1 जनवरी से अग्निवीरों की ट्रेनिंग शुरू हो गई है. जिसमें वन सिंगल ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनिंग के लिए 1260 अग्निवीर शामिल हुए हैं. भारतीय सेना में ऑटोमेटिक तरीके से एनरोलमेंट पहली बार किया गया है. सॉफ्टवेयर की मदद से इनका इनरोलमेंट बहुत ही जल्दी हो गया जो अमूमन इस समय ज्यादा लगता था. एनरोलमेंट के बाद इनको बंकर में बांटा गया और इनको यूनिफॉर्म समेत जरूरत की वस्तुएं दी गई.

Jabalpur Agnveer महिला अभ्यार्थियों में दिखा जबरदस्त उत्साह, 30 हजार ने दिखाया अपना दम

ऐसे दी जाती है ट्रेनिंग: कमाण्डेंट ने बताया कि ट्रेनिंग के 4 हिस्से होते हैं पीटी ट्रेनिंग, ड्रिल ट्रेनिंग, डब्ल्यूटी ट्रेनिंग इसके साथ ही इनका बेसिक फाउंडेशन कोर्स जिसके अंदर थोड़ा एकेडमिक इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के साथ में मैप रीडिंग और पर्सनालिटी डेवलपमेंट का कोर्स पढ़ाया जा जाएगा. इसके साथ ही इन अग्नि वीरों को सारी सुविधा मुहैया कराई जा रही है. जिन अग्निवीरो वीरों को खेल में रुचि है उनके लिए खेल का भी प्रबंध किया जा रहा है. जब यह अग्निवीर ट्रेनिंग करके निकलेंगे तब अपने नाम के साथ देश का नाम भी ऊंचा करेंगे.

Last Updated :Jan 12, 2023, 5:33 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.