प्रियंका गांधी की घोषणाओं पर CM शिवराज का पलटवार, गांधी परिवार को ठग रहे कमलनाथ, राहुल-प्रियंका से बुलवाया झूठ

author img

By ETV Bharat Madhya Pradesh Team

Published : Oct 13, 2023, 3:04 PM IST

Updated : Oct 13, 2023, 4:02 PM IST

Priyanka Gandhi in Mandla

Shivraj Singh On Priyanka Gandhi: 12 अक्टूबर गुरुवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मंडला में जनता से कई वादे किए. इस पर सीएम शिवराज सिंह ने पलटवार करते हुए कहा कि ''कमलनाथ गांधी परिवार को ठग रहे हैं. इस बार भी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से लगातार झूठ बुलवाया जा रहा है. लेकिन ये पब्लिक है, सब जानती है.''

शिवराज सिंह ने कांग्रेस पर साधा निशाना

भोपाल। एमपी में प्रियंका गांधी का दौरा और फिर उनकी स्कूली बच्चों को की गई घोषणाओं को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने पलटवार किया है. शिवराज सिंह ने प्रियंका की घोषणाओं पर कहा कि ''गांधी परिवार ने पहले सब को ठगा था, लेकिन कमलनाथ अब गांधी परिवार को ही ठग रहे हैं. कल जिस तरह से प्रियंका गांधी से घोषणाएं करवाई गई मैंने वह वीडियो देखा है, कई घोषणाएं कर के बैठ गईं. लेकिन वोट के लिए इस तरह से झूठ बुलवाना ठीक नहीं. पहले भी राहुल बाबा से कहलवा दिया कि "10 दिन में कर्जा माफ नहीं तो 11 वें दिन मुख्यमंत्री बदल देंगे."

कांग्रेस की कंफ्यूज करो और वोट लो की राजनीति: सीएम शिवराज ने कहा कि ''कांग्रेस पार्टी हमेशा से ही जनता से झूठ बोलकर ठगने का प्रयास करती रही है. इस बार भी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से लगातार झूठ बुलवाया जा रहा है. लेकिन ये पब्लिक है, सब जानती है. इनका पुराना घोषणा पत्र देख लें, वचन पत्र, वचन तो कई थे, लेकिन पूरा एक भी वचन नहीं किया.'' सीएम ने कहा कि ''कांग्रेस की 15 महीने की सरकार ने भाजपा सरकार की योजनाओं को बंद कर दिया था. मेधावी छात्रों की लैपटॉप देने वाली योजना बंद कर दी, साइकिलें बंद कर दी, मेधावी विद्यार्थी योजना ठंडे बस्ते में डाल दी. इन्होंने बच्चों की फीस तक छीन ली. फीस तक नहीं भरवाई, अब कह रहे हैं निःशुल्क भर देंगे.''

कांग्रेस छीनने वालों में से है, देने वालों मे से नहीं: सीएम शिवराज ने कहा कि ''ये मोदी के मकान छीनने वाले, ये बच्चों के लैपटॉप और साइकिल छीनने वाले, ये बच्चों की फीस छीनने वाले लोग हैं. अब चुनाव के चलते फिर ठगने आ गए हैं और ठगने के पहले ये तय भी नहीं कर पाते कि महीने के देना है या साल के देना है.''

  • कांग्रेस पार्टी हमेशा से ही जनता से झूठ बोलकर ठगने का प्रयास करती रही है...
    इस बार भी राहुल गांधी जी और प्रियंका गांधी जी से लगातार झूठ बुलवाया जा रहा है।

    लेकिन ये पब्लिक है, सब जानती है... pic.twitter.com/LL8MM17fRd

    — Shivraj Singh Chouhan (@ChouhanShivraj) October 13, 2023 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

दिग्विजय पर साधा निशाना: गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि ''हमास और पीएफआई तो बहना है कांग्रेस को आतंकियों को बचाना है. हमास ने जब इजराइल पर आक्रमण किया तब इनमें से किसी का एक शब्द नहीं निकला. जो मामला अदालत में हो उसे दिग्विजय सिंह कैसे क्लीन चिट दे सकते हैं. खडगे, राहुल और प्रियंका को ये स्पष्ट करना चाहिए की क्या वो दिग्विजय सिंह के बयान से संतुष्ट हैं.''

कमलनाथ अभी तक क्यों शांत हैं समझ नहीं आता: गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ से पूछा कि ''क्या वे दिग्विजय सिंह से ताल्लुक रखते हैं तो उन्हें साफ करना चाहिए. दिग्विजय सिंह कांग्रेस का बंटाधार करके ही मानेंगे. ऐसा पहली बार नहीं है जब भी ऐसे विषय आते हैं दिग्विजय सिंह हमेशा फ्रंटलाइन में खड़े दिखते हैं, ये गाय पर सवाल उठा देते हैं. पर क्या कभी बकरी पर सवाल उठाते हैं क्या, ये केवल तुष्टीकरण करते हैं जाकिर नाइक को शांतिदूत और ओसामा को जी कहते हैं.''

Also Read:

आतंकियों की मौत पर आंसू बहाते हैं: नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ''कांग्रेस मुस्लिमों को डर दिखाकर इकट्ठा करो और हिंदू को जातियों में बांटों की दो मुंही राजनीति करते हैं. कांग्रेस का यही फसाना है आग भी लगाना है और आंसू भी बहाना है. ये वही दिग्विजय सिंह हैं जो कहते हैं की केंद्र में सरकार बनने पर 370 फिर से लगाएंगे, ये किस आधार पर कहते हैं की पीएफआई के 97 फीसदी लोग निर्दोष हैं जबकि पीएफआई घोषित आतंकी संगठन है, ये दिग्विजय सिंह ही है जिनके शासन काल में सिमी का नेटवर्क मध्यप्रदेश में पैर पसार रहा था. कांग्रेस ने जिस हमास का समर्थन किया उसका समर्थन किसी मुस्लिम देश ने नहीं किया. जातीय जनगणना भी दिग्विजय सिंह जैसों की ही सोच की उपज है जो हिंदू को बांटकर राज करना चाहते हैं.''

Last Updated :Oct 13, 2023, 4:02 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.