भोपाल के बाद अब प्रदेश के इस स्टेशन पर मिलेंगी एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं! जानें हेरिटेज लुक में कैसा दिखाई देगा यह स्टेशन

author img

By

Published : Feb 8, 2022, 9:28 PM IST

Gwalior heritage railway station

भोपाल के बाद अब ग्वालियर रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित किया जा रहा है.ग्वालियर रेलवे स्टेशन को हेरिटेज लुक दिया जाएगा. एयरपोर्ट जैसी सुविधाओं से लैस होने के बाद यह स्टेशन नाव (बोट) के आकार में दिखाई देगा.

ग्वालियर। प्रदेश में भोपाल के बाद अब ग्वालियर रेलवे स्टेशन को भी एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित किया जाएगा. इसका ब्लूप्रिंट भी तैयार कर लिया गया है. ग्वालियर के रेलवे स्टेशन को हेरिटेज के रूप में विकसित किया जाएगा. जिसके बाद स्टेशन पूरी तरह बदला हुआ नजर आएगा. एयरपोर्ट जैसी सुविधाओं से लैस यह रेलवे स्टेशन नाव के आकार में नजर आएगा.

नाव के आकार में दिखाई देगा ग्वालियर रेलवे स्टेशन

400 करोड़ का है प्रोजेक्ट
रेलवे स्टेशन को हेरिटेज लुक देने के लिए 400 करोड रुपए से अधिक खर्च किए जाएंगे. स्टेशन में 6 प्लेटफार्म बनाये जाएंगे. स्टेशन को डेवलप करने का काम पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप यानी पीपीपी मॉडल पर किया जाएगा. रेलवे स्टेशन का डिजाइन फाइनल हो चुका है. इस प्रोजेक्ट को 2024 तक पूरा किया जाना है.

Gwalior heritage railway station
नाव के आकार में दिखाई देगा ग्वालियर रेलवे स्टेशन
Gwalior heritage railway station
नाव के आकार में दिखाई देगा ग्वालियर रेलवे स्टेशन

हरी झंडी मिलने का इंतजार
रेलवे के अधिकारियों ने इस परियोजना का स्टीमेट तैयार कर झांसी रेल मंडल को भेज दिया है. इसके बाद प्रोजेक्ट को प्रयागराज स्थित मुख्यालय भेजा जाएगा. जहां से फाइनल होने के बाद स्टेशन के पुनर्विकास के लिए टेंडर जारी किए जाएंगे.

Gwalior State Plane Crash: दुर्घटनाग्रस्त विमान के पायलट को 85 करोड़ का नोटिस, कांग्रेस ने उठाए सवाल

खूबसूरत बनाने की तैयारियां शुरू
ग्वालियर रेलवे स्टेशन की मौजूदा बिल्डिंग सिंधिया शासनकाल में राहत कार्यों के लिए बनाई गई थी. तब से ही इसे प्रदेश की सबसे खूबसूरत रेलवे स्टेशन के तौर पर माना जाता है. यही वजह है कि, अब ग्वालियर रेलवे स्टेशन को भीएयरपोर्ट जैसा खूबसूरत बनाने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं.

इस आकार का दिखाई देगा रेलवे स्टेशन
रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास की योजना साल 2019 से चल रही है. इसके तहत आईआरएसडीसी ने रिक्वेस्ट फॉर कोटेशन जारी किया था, इसके आधार पर स्टेशन को पीपीपी मॉडल पर तैयार किया जाना है. रेलवे स्टेशन का लुक पूरी तरह एयरपोर्ट जैसा दिया जाएगा. इसे 60 डिग्री के कोण में बनेगा और इसी वजह से स्टेशन नाव की तरह दिखाई देगा. रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास की योजना में इस बात का ख्याल रखा जाएगा कि इमारत का ऐतिहासिक स्वरूप बरकरार रखा जाए. केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की सलाह के मुताबिक ग्वालियर रेलवे स्टेशन का लुक हेरिटेज ही रखा जाएगा.

डिजिटल भिखारी: इसके पास नहीं चलता 'छुट्टे नहीं हैं' का बहाना

ऐसा होगा नया रेलवे स्टेशन
- 15853 वर्ग मीटर में रेलवे स्टेशन के पुराने स्वरूप को बरकरार रख, आधुनिक बनाया जाएगा.
- 8000 वर्ग मीटर रेलवे स्टेशन का सर्कुलेटिंग एरिया रहेगा.
- 23 हेक्टेयर में अस्पताल, स्कूल, कमर्शियल कॉम्प्लैक्स बनाया जाएगा.
- 83632 वर्ग मीटर में रेलवे स्टेशन के आसपास की भूमि पर रेलवे हाउसिंग का काम होगा.

इन सुविधा से लैस होगा रेलवे स्टेशन
- प्लेटफाॅर्म तक पहुंचने के लिए स्वचालित सीढ़ियां और लिफ्ट की सुविधाएं होंगी.
- सर्कुलेटिंग एरिया में तीन लेन की सड़क और पैदल चलने वालों के लिए फुटपाथ होगा.
- प्लेटफार्म पर खरीददारी की सुविधाओं को ध्यान में रखकर रेस्टोरेंट, मॉल और अन्य सुविधाएं बढ़ेंगी.
- मल्टीप्लेक्स, अंडर ग्राउंड पार्किंग और मॉड्यूलर होटल के साथ शॉपिंग मॉल भी होगा.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.