जामताड़ा में हर दिन हो रही है 1000 टन कोयले की चोरी, पुलिस प्रशासन अंजान

author img

By

Published : Mar 29, 2021, 1:23 PM IST

coal is being stolen every day in Jamtara

जामताड़ा में कोयले की खुलेआम चोरी और तस्करी का धंधा धड़ल्ले से किया जा रहा है. मोटरसाइकिल और साइकिल से कोयले की चोरी और तस्करी हो रही है. इस तरह प्रतिदिन हजारों टन कोयले की चोरी कर ली जाती है.

जामताड़ा: जिले में कोयले की खुलेआम चोरी और तस्करी का धंधा धड़ल्ले से किया जा रहा है. मोटरसाइकिल और साइकिल से कोयले की चोरी और तस्करी हो रही है और पुलिस प्रशासन अंजान है.

देखें पूरी खबर

ये भी पढ़ें- होली के मौके पर मटन शॉप पर जुटे खरीदार, कोरोना गाइडलाइन की उड़ी धज्जियां

हर दिन हजारों टन कोयले की होती है चोरी

जामताड़ा थाना में कोयले का कारोबार उदलबनी सातसाल गांव और बाईपास गोविंदपुर साहिबगंज रोड में धड़ल्ले से हो रहा है. बताया जा रहा है कि प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में मोटरसाइकिल और साइकिल से सुबह-सुबह ये कारोबार होता है. चितरा कोलियरी से जामताड़ा रेलवे साइडिंग तक डंपर से कोयले की ढुलाई के क्रम में रास्ते में चोरी होती है. चितरा से जामताड़ा रेलवे साइडिंग तक ट्रांसपोर्टर की ओर से कोयले की ढुलाई की जाती है. इस तरह प्रतिदिन हजारों टन कोयले की चोरी कर ली जाती है.

भाजपा के जिला अध्यक्ष ने कहा कि प्रशासन की मिलीभगत से ये सारा कारोबार हो रहा है. भाजपा के जिला अध्यक्ष ने प्रशासन से इस पर कार्रवाई करने की मांग की है, साथ ही अवैध रूप से कोयले की चोरी और बालू के अवैध खनन पर रोक लगाने को लेकर गठित जिला टास्क फोर्स कमेटी पर भी सवाल उठाया है.

बड़े-बड़े माफिया इस कारोबार में हैं सक्रिय

बताया जाता है कि इस कारोबार में बड़े-बड़े माफिया सक्रिय हैं. थाना से लेकर पदाधिकारी तक सभी के साथ माफिया तत्वों का मधुर संबंध रहता है. जिसके कारण उनके हर सुख-सुविधा का ख्याल रखा जाता है. यही कारण है कि सबकुछ देखते हुए भी यहां की जिला टास्क फोर्स समिति और पुलिस प्रशासन चुप्पी साधे हुए है.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.