दुमका पुलिस ने किया हत्याकांड का खुलासाः 70 हजार रुपए के लिए प्रेमिका की हत्या

author img

By ETV Bharat Jharkhand Desk

Published : Jan 9, 2024, 5:16 PM IST

http://10.10.50.75//jharkhand/09-January-2024/jh-dum-01-hatya-10033_09012024145514_0901f_1704792314_632.jpg

Dumka police revealed murder case. दुमका पुलिस ने रेल पटरी पर मिली महिला की लाश की गुत्थी को सुलझा लिया है. महिला की दुर्घटना में मौत नहीं हुई थी, बल्कि उसकी हत्या की गई थी. महिला के प्रेमी ने ही हत्याकांड को अंजाम दिया था. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

दुमकाः जिले के शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के लोरी पहाड़ी गांव के समीप रेल पटरी पर 13 दिसंबर 2023 की सुबह पुलिस ने एक महिला का शव बरामद किया था. मृतक महिला के दोनों हाथ बंधे हुए थे. पुलिस ने शव की शिनाख्त मरियम मरांडी (35) के रूप में की थी. महिला पाकुड़ जिला के पाकुड़िया थाना क्षेत्र के दमगी - बरमसिया गांव की रहने वाली थी. पुलिस ने महिला की मौत मामले का खुलासा कर दिया है. दरअसल, मरियम की मौत दुर्घटना नहीं थी, बल्कि उसकी हत्या की गई थी.


प्रेमी ने की थी हत्या, पुलिस ने किया गिरफ्तारःदुमका पुलिस शव बरामद कर मामले की जांच में जुट गई थी. मृतक महिला के हाथ बंधे रहने से पुलिस हत्या के ऐंगल पर मामले की जांच कर रही थी. केस थोड़ा पेचीदा था. क्योंकि मामला दूसरे जिला से जुड़ा था. मृतका मरियम मरांडी पाकुड़ जिला की रहने वाली थी, जबकि उसका शव पश्चिम बंगाल की सीमा पर दुमका जिले के लोरी पहाड़ी गांव के समीप से बरामद किया गया था. पुलिस ने मृतका के परिजनों से पूछताछ की तो पता चला कि 12 दिसंबर 2023 को मरियम मरांडी पाकुड़िया प्रखंड की गणपुरा पंचायत में आयोजित सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गई थी. उसके पास 70 हजार रुपए थे. जिससे वह अपने बेटे के लिए बाइक खरीदना चाहती थी. बाद में परिजनों को पता चला कि उसका शव रेल पटरी पर मिला.

कॉल डिटेल से सुलझी हत्या की गुत्थीः मामले में पुलिस ने मृतका के मोबाइल का कॉल डिटेल खंगाला तो पता चला कि मरियम शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के चितरागड़िया गांव के शेखाउद्दीन मियां उर्फ शेखा से कई बार बातचीत की थी. लगभग डेढ़ वर्ष से दोनों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था. 12 दिसंबर को शेखाउद्दीन ने मरियम को फोन कर अपने यहां बुलाया था और फिर वे दोनों बाइक से मसानजोर डैम घूमने गए थे. लौटने में क्रम में अंधेरा होने पर शेखा मरियम को अपने गांव के नजदीक एक तालाब के किनारे ले गया. जहां दोनों ने बैठकर बातचीत करने लगे. इस दौरान किसी बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया. इस क्रम में शेखा ने मरियम पर मुक्के से हमला कर दिया. जिससे मरियम बेहोश हो गई. बेहोश होने के बाद शेखा ने उसके 70 हजार रुपए ले लिए और नजदीक से गुजर रही रेल के पटरी पर ले जाकर उसे सुला दिया. साथ ही उसके दोनों हाथ बांध दिए. थोड़ी देर में जब ट्रेन आई तो मरियम उसकी चपेट में आ गई. यह आश्वस्त होने के बाद कि मरियम की मौत हो गई है, शेखा अपने घर लौट आया.


क्या कहते हैं थाना प्रभारीः इस पूरे मामले पर शिकारीपाड़ा के थाना प्रभारी वकार हुसैन ने बताया कि शेखाउद्दीन पेशे से जमीन का कारोबारी था और वह मरियम के गांव के इलाके में भी जाकर काम करता था. इस दौरान दोनों संपर्क में आए थे. डेढ़ वर्ष से उनका प्रेम प्रसंग चल रहा था. 12 दिसंबर को शेखा ने उसे मिलने के लिए बुलाया था. मरियम अपने साथ 70 हजार रुपए लेकर शेखा से मिलने के लिए पहुंची थी. बाद में किसी बात को लेकर दोनों में कहासुनी हो गई. इसके बाद शेखा ने योजनाबद्ध तरीके से उसकी हत्या कर दी. थाना प्रभारी ने कहा कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. जहां तक रुपए की बात है शेखा ने बताया कि घटना के दो-तीन बाद उसका एक एक्सीडेंट हो गया था जिसमें उसके 45 हजार रुपए खर्च हो गए थे.

ये भी पढ़ें-

दुमका में रेलवे पटरी पर मिला महिला का शव, हत्या की आशंका

दुमका में जमीन विवाद में लोहे के हथियार से वार कर पड़ोसी की हत्या, आरोपी फरार, तलाश में जुटी पुलिस

शक्की पति की काली करतूत! कत्ल कर जला दी बीवी की लाश, एक शिकायत पर पहुंचा जेल

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.