गिरिडीह लोकसभा सीट से स्वतंत्र चुनाव लड़ने का जयराम महतो ने किया ऐलान, धनबाद लोकसभा सीट से भी चुनावी मैदान में उतारेंगे उम्मीदवार

author img

By ETV Bharat Jharkhand Desk

Published : Jan 13, 2024, 3:22 PM IST

http://10.10.50.75//jharkhand/13-January-2024/jh-dha-01-jayram-byte-jh10002_13012024130231_1301f_1705131151_729.jpg

Jairam Mahato announced in Dhanbad. झारखंडी भाषा खतियान संघर्ष समिति के केंद्रीय अध्यक्ष जयराम महतो ने गिरिडीह लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है. साथ ही उन्होंने धनबाद लोकसभा सीट से भी चुनावी मैदान में उम्मीदवार उतारने की घोषणा कर दी है. जयराम महतो की घोषणा के बाद झारखंड का सियासी पारा चढ़ गया है.

धनबाद में प्रेस वार्ता के दौरान लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करते जयराम महतो.

धनबाद: झारखंड में पीएम मोदी धनबाद से झारखंड लोकसभा प्रचार का बिगुल फूंकेंगे. गिरिडीह, कोडरमा और धनबाद संसदीय क्षेत्र की शुक्रवार को बीजेपी कलस्टर की अहम बैठक हुई. पिछली बार जहां बीजेपी ने 12 सीटों पर जीत की दावेदारी पेश की थी, वहीं इस बार झारखंड की कुल 14 सीटों पर जीत सुनिश्चित करने की तैयारी में जुटी है. इधर, दूसरी ओर जेबीकेएसएस के युवा नेता जयराम महतो ने भी गिरिडीह लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने का बिगुल फूंक दिया है. धनबाद लोकसभा सीट पर भी उन्होंने उम्मदीवार उतारने की बात कही है.

गिरिडीह लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने का किया ऐलानः लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जयराम महतो भी गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र में जनसंपर्क कर रहे हैं और विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं. कतरास में वह एक निजी कार्यक्रम में शामिल हुए. जिसमें उन्होंने कहा कि वह गिरिडीह से हैं, इसलिए वह गिरिडीह लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे.

बिना पद और पावर के मजदूरों के लिए किए कई काम-जयरामः उन्होंने कहा कि हमलोग पिछले दो वर्षों से आंदोलन कर रहे हैं. बिना किसी पद पर रहते हुए मजदूर के आश्रितों को 10 लाख मुआवजा दिलाने का काम किया है. अबतक औसतन करीब पांच से 10 करोड़ मुआवजा लोगों को दिला चुके हैं. हजारों मजदूरों को फैक्ट्रियों से बहार का रास्ता दिखा गया था. हमलोग के आंदोलन के बाद उन मजदूरों को पुनः बहाल किया गया. बिना पद और पावर के हम लड़ाई लड़ रहे हैं और लोगों की भलाई करने में सक्षम हैं.

धनबाद लोकसभा सीट से भी उतारेंगे उम्मीदवारः फिर हमलोगों ने निर्णय लिया कि जनता के लिए हमें सदन में जाने की जरूरत है. जहां से जनता की सर्वोच्च आस्था है और जहां से विधि का निर्माण होता है. सभी को आशा है कि यदि हम सदन में जाते हैं तो उनके लिए भी कुछ नया विधेयक लेकर आएंगे. सदन में हम जनता की आवाज को बेहतर ढंग से रखने का काम करेंगे, तभी कुछ बेहतर हो सकता है.उन्होंने कहा कि हम अभी वन मैन आर्मी हैं. हम अपनी पार्टी का विस्तार कर रहे हैं. अभी फिलहाल गिरिडीह लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे. लोकसभा चुनाव के लिए अभी समय कम है. तैयारी अगर पूरी होती है तो धनबाद सीट पर भी चुनाव लड़ेंगे. दोनों लोकसभा सीटों पर प्रभावी तरीके से चुनाव लड़ेंगे.

मजबूत लोकतंत्र के लिए तीसरा फ्रंट का मजबूत होना जरूरीः उन्होंने INDIA गठबंधन पर कहा कि मेरा मानना है कि देश में कोई तीसरा फ्रंट भी आना चाहिए. तीसरा अगर कोई विकल्प बनकर आता है तो जनता को लोकतांत्रिक ढांचा में विश्वास रहेगा. बीजेपी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन वह सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग करती है. भाजपा की विपक्षी पार्टी के नेताओं के घर में ही छापे पड़ते हैं. उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या बीजेपी नेताओं के पास काला धन नहीं है. इसलिए सत्ता बदलते रहना चाहिए. कांग्रेस को लंबे समय तक मौका मिला, अब बीजेपी को मौका मिला है. अगर तीसरा ढांचा कोई तैयार होता है तो देश में बेहतर बदलाव के एक संकेत हो सकता है. लोग कहेंगे कि लोकतंत्र जिंदा है.

नहीं मिलाएंगे किसी से हाथ, स्वतंत्र लड़ेंगे चुनावः हालांकि उन्होंने कहा है कि वह लोकसभा चुनाव स्वतंत्र लड़ेंगे. बता दें कि वर्तमान में एनडीए गठबंधन के तहत गिरिडीह से आजसू कोटे से सीपी चौधरी सांसद हैं. आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो की कुर्मी वोटर्स में काफी पकड़ है. बीजेपी के साथ चुनाव लड़ने के बाद सीपी चौधरी को जीत मिली, लेकिन जयराम महतो के गिरिडीह से चुनाव लड़ने पर उन्हें थोड़ी कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है. सीपी चौधरी को अगर गिरिडीह लोकसभा की फिर उम्मीदवारी मिलती है तो उनके लिए यह डगर आसान नहीं होगा, क्योंकि जयराम महतो कुर्मी वोटर्स के लिए किसी मसीहा से कम नहीं हैं. उन्होंने कहा कि गांडेय उपचुनाव में भी उनकी पार्टी की तरफ से उम्मीदवार उतारा जाएगा.

ये भी पढ़ें-

सत्ता में आए तो सभी 11 मंत्रियों के आवास बनाने में हुए 65 करोड़ रुपये के राजस्व की करेंगे वसूली: जयराम महतो

बदलाव संकल्प महासभा में झारखंड सरकार पर गरजे टाइगर जयराम महतो, बोले- सरकार नीति ठीक से लिख दे तो वे आंदोलन ले लेंगे वापस

हेमंत सोरेन और जयराम महतो एक साथ पहुंच गए निर्मल महतो के समाधी स्थल, जानिए फिर क्या हुआ

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.