परवाणू डिपो के कंडक्टर ने यात्रियों को जारी कर दी 45 जाली टिकट, बड़ी कार्रवाई

author img

By ETV Bharat Himachal Pradesh Desk

Published : Dec 26, 2023, 9:39 PM IST

Parwanoo depot conductor news

HRTC डिपो के कंडक्टर ने सवारियों को फेक टिकट जारी कर दिए. यात्रियों की टिकट जांच के दौरान पाया गया कि बस में बैठी 45 सवारियों की नकली टिकट हैं. पढ़ें पूरा मामला...

कसौली: हिमाचल पथ परिवहन परवाणू डिपो के परिचालक ने यात्रियों को जाली टिकट जारी कर दिए. इस पर सोलन डिपो की फ्लाइंग स्क्वायड ने कड़ी कार्रवाई की है. वहीं, परिचालक पर 4500 रुपये की प्रारंभिक रिपोर्ट बनाई है. परवाणू डिपो की बस अंबाला से बद्दी जा रही थी. इस बस को सोलन डिपो की क्षेत्रीय प्रबंधक सुरेंद्र राजपूत की अध्यक्षता में बनी फ्लाइंग स्क्वायड ने जांच के लिए पिंजौर में रोका. यात्रियों की टिकट जांच के दौरान पाया गया कि बस में बैठी 45 सवारियों की नकली टिकट है.

इस पर फ्लाइंग स्क्वायड टीम ने परिचालक से जवाब मांगा. इसका जवाब परिचालक नहीं दे पाया. हैरत की बात तो यह है कि जाली टिकट भी परिचालक ने इलेक्ट्रिक जारी किए है. इलेक्ट्रिक टिकट में खाली पर्ची निकलने के बाद परिचालक ने पैन के माध्यम से उसमें किराया लिख दिया और यात्रियों को टिकट दिया. बड़ी कार्रवाई के बाद क्षेत्रीय प्रबंधक परवाणू और उच्चाधिकारियों को इसकी रिपोर्ट भेज दी है. वहीं सख्त कार्रवाई भी अमल में लाई जा रही है.

गौर रहे कि पहले भी कई बार बिना टिकट दिए यात्रियों को यात्रा करवाने पर परिचालक पर शिकंजा कसा गया था. अब फिर इस प्रकार के मामले सामने आ रहे है. इसे देखते हुए परिवहन निगम की फ्लाइंग स्क्वायड ने औचक निरीक्षण करना शुरू कर दिया है. हरियाणा राज्य के पिंजौर में सोलन की फ्लाइंग स्क्वायड ने बड़ा मामला पकड़ा है. आगामी दिनों में भी इस प्रकार की करवाई करने का निगम ने बीड़ा उठाया है.

उधर, फ्लाइंग स्क्वायड के अध्यक्ष और पथ परिवहन निगम सोलन डिपो के क्षेत्रीय प्रबंधक सुरेंद्र राजपूत ने बताया कि परवाणू डिपो की बस में परिचालक ने 45 जाली टिकट जारी की. इस मामले में प्रारंभिक रिपोर्ट तैयार की गई है. निगम की ओर से परिचालक पर कड़ी कार्रवाई अमल में लाई गई है. उच्चाधिकारियों को भी परिचालक की रिपोर्ट तैयार कर भेजी गई है.

ये भी पढ़ें- जानिए, हाईकोर्ट को क्यों देने पड़े हिमाचल के DGP सहित SP कांगड़ा को पद से हटाने के आदेश, अदालत ने कहा-आंखें मूंदे रहे गृह सचिव

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.