ETV Bharat / state

बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास के गैर सरकारी सदस्य नहीं लेंगे मानदेय, 50 टीबी रोगियों को गोद लेने का निर्णय

author img

By

Published : May 23, 2023, 8:59 PM IST

बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास के गैर सरकारी सदस्य मानदेय नहीं लेंगे. इसके साथ ही बाबा बालक नाथ मंदिर ट्रस्ट 50 टीबी रोगियों को गोद लेगा. पढ़ें पूरी खबर...

Baba Balak Nath Temple will adopt 50 TB patients
बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास के गैर सरकारी सदस्य नहीं लेंगे मानदेय

हमीरपुर: उत्तर भारत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल बाबा बालक नाथ मंदिर ट्रस्ट ने अनूठा फैसला लिया है. बाबा बालक नाथ मंदिर ट्रस्ट 50 टीबी रोगियों को गोद लेगा. इतना ही नहीं बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास के गैर सरकारी सदस्य मानदेय भी नहीं लेंगे. नवगठित न्यास की आम बैठक एवं वार्षिक बजट बैठक में मंगलवार को यह बड़ा निर्णय लिया गया है. यह बैठक मंगलवार को दियोटसिद्ध में आयोजित की गई. स्थानीय विधायक इंद्र दत्त लखनपाल, न्यास के अध्यक्ष एवं बड़सर के एसडीएम रोहित शर्मा, अन्य अधिकारी तथा न्यास के गैर सरकारी सदस्य उपस्थित रहे.

गैर सरकारी सदस्य नहीं लेंगे न्यास से कोई मानदेय: दरअसल, नवगठित न्यास की आम बैठक के इस अवसर पर न्यास के गैर सरकारी सदस्यों ने निर्णय लिया कि वे न्यास से कोई मानदेय नहीं लेंगे. बाबा बालक नाथ मंदिर एवं इससे संबंधित संस्थानों में बेहतरीन सुविधाओं के प्रावधान की दिशा में लगातार कार्य करेंगे. गैर सरकारी सदस्यों के इस निर्णय की सराहना करते हुए विधायक इंद्र दत्त लखनपाल ने कहा कि बाबा बालक नाथ मंदिर में केवल हिमाचल प्रदेश ही नहीं, बल्कि देश के अन्य राज्यों तथा विदेशों से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं. इनकी बाबा बालक नाथ के प्रति गहन आस्था है.

टीबी के 50 रोगियों को गोद लेने को भी मंजूरी: गौरतलब है कि बैठक में कैंसर या अन्य गंभीर रोगों से ग्रस्त लोगों को साल में दो बार सहायता राशि जारी करने का निर्णय भी लिया गया. न्यास ने टीबी मुक्त अभियान के तहत जिला में टीबी के 50 रोगियों को गोद लेने को भी मंजूरी प्रदान की. कैंसर या अन्य गंभीर रोगों से ग्रस्त लोगों को साल में दो बार सहायता राशि जारी करने का निर्णय भी लिया गया. न्यास ने टीबी मुक्त अभियान के तहत जिला में टीबी के 50 रोगियों को गोद लेने को भी मंजूरी प्रदान की.

65 करोड़ की लागत से मंदिर परिसर सुविधाओं से होगा परिपूर्ण: विधायक इंद्र दत्त लखनपाल ने कहा कि बाबा बालक नाथ मंदिर परिसर के विकास एवं सौंदर्यीकरण के लिए एशियन डेवलपमेंट बैंक की मदद से 65 करोड़ रुपये की परियोजना मंजूर की गई है. इससे दियोटसिद्ध और इसके आस-पास के क्षेत्रों का चहुमुखी विकास सुनिश्चित होगा. पर्यटन विभाग हमीरपुर ने इसके लिए खाका तैयार कर लिया है और जल्द ही प्रोजेक्ट को प्रदेश सरकार से मंजूरी मिलते ही यहां पर धरातल पुकारे शुरू किया जाएगा.

विभिन्न पंचायतों में शौचालय का होगा निर्माण: बैठक में मंदिर परिसर में सोलर पैनल एवं लाइट्स लगाने, बड़सर से दियोटसिद्ध सडक़ पर भी महत्वपूर्ण स्थानों पर सोलर लाइट्स लगाने और श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बड़सर, सलौणी, बिझड़ और चकमोह पंचायत में शौचालय एवं स्नानगृहों का निर्माण करवाने का निर्णय लिया गया. न्यास के पदाधिकारियों ने गरीब परिवारों के बच्चों की शादी के लिए दी जाने वाली सहायता राशि 11 हजार रुपये से बढ़ाकर 15 हजार रुपये करने और गरीबों के लिए मेडिकल सहायता साढ़े सात हजार रुपये से बढ़ाकर दस हजार रुपये करने को स्वीकृति प्रदान की.

ये भी पढ़ें: Baba Balak Nath Trust: बाबा बालक नाथ के ट्रस्ट से निवासियों को लाखों रुपए मानदेय के मामले में विजिलेंस जांच शुरू

हमीरपुर: उत्तर भारत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल बाबा बालक नाथ मंदिर ट्रस्ट ने अनूठा फैसला लिया है. बाबा बालक नाथ मंदिर ट्रस्ट 50 टीबी रोगियों को गोद लेगा. इतना ही नहीं बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास के गैर सरकारी सदस्य मानदेय भी नहीं लेंगे. नवगठित न्यास की आम बैठक एवं वार्षिक बजट बैठक में मंगलवार को यह बड़ा निर्णय लिया गया है. यह बैठक मंगलवार को दियोटसिद्ध में आयोजित की गई. स्थानीय विधायक इंद्र दत्त लखनपाल, न्यास के अध्यक्ष एवं बड़सर के एसडीएम रोहित शर्मा, अन्य अधिकारी तथा न्यास के गैर सरकारी सदस्य उपस्थित रहे.

गैर सरकारी सदस्य नहीं लेंगे न्यास से कोई मानदेय: दरअसल, नवगठित न्यास की आम बैठक के इस अवसर पर न्यास के गैर सरकारी सदस्यों ने निर्णय लिया कि वे न्यास से कोई मानदेय नहीं लेंगे. बाबा बालक नाथ मंदिर एवं इससे संबंधित संस्थानों में बेहतरीन सुविधाओं के प्रावधान की दिशा में लगातार कार्य करेंगे. गैर सरकारी सदस्यों के इस निर्णय की सराहना करते हुए विधायक इंद्र दत्त लखनपाल ने कहा कि बाबा बालक नाथ मंदिर में केवल हिमाचल प्रदेश ही नहीं, बल्कि देश के अन्य राज्यों तथा विदेशों से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं. इनकी बाबा बालक नाथ के प्रति गहन आस्था है.

टीबी के 50 रोगियों को गोद लेने को भी मंजूरी: गौरतलब है कि बैठक में कैंसर या अन्य गंभीर रोगों से ग्रस्त लोगों को साल में दो बार सहायता राशि जारी करने का निर्णय भी लिया गया. न्यास ने टीबी मुक्त अभियान के तहत जिला में टीबी के 50 रोगियों को गोद लेने को भी मंजूरी प्रदान की. कैंसर या अन्य गंभीर रोगों से ग्रस्त लोगों को साल में दो बार सहायता राशि जारी करने का निर्णय भी लिया गया. न्यास ने टीबी मुक्त अभियान के तहत जिला में टीबी के 50 रोगियों को गोद लेने को भी मंजूरी प्रदान की.

65 करोड़ की लागत से मंदिर परिसर सुविधाओं से होगा परिपूर्ण: विधायक इंद्र दत्त लखनपाल ने कहा कि बाबा बालक नाथ मंदिर परिसर के विकास एवं सौंदर्यीकरण के लिए एशियन डेवलपमेंट बैंक की मदद से 65 करोड़ रुपये की परियोजना मंजूर की गई है. इससे दियोटसिद्ध और इसके आस-पास के क्षेत्रों का चहुमुखी विकास सुनिश्चित होगा. पर्यटन विभाग हमीरपुर ने इसके लिए खाका तैयार कर लिया है और जल्द ही प्रोजेक्ट को प्रदेश सरकार से मंजूरी मिलते ही यहां पर धरातल पुकारे शुरू किया जाएगा.

विभिन्न पंचायतों में शौचालय का होगा निर्माण: बैठक में मंदिर परिसर में सोलर पैनल एवं लाइट्स लगाने, बड़सर से दियोटसिद्ध सडक़ पर भी महत्वपूर्ण स्थानों पर सोलर लाइट्स लगाने और श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बड़सर, सलौणी, बिझड़ और चकमोह पंचायत में शौचालय एवं स्नानगृहों का निर्माण करवाने का निर्णय लिया गया. न्यास के पदाधिकारियों ने गरीब परिवारों के बच्चों की शादी के लिए दी जाने वाली सहायता राशि 11 हजार रुपये से बढ़ाकर 15 हजार रुपये करने और गरीबों के लिए मेडिकल सहायता साढ़े सात हजार रुपये से बढ़ाकर दस हजार रुपये करने को स्वीकृति प्रदान की.

ये भी पढ़ें: Baba Balak Nath Trust: बाबा बालक नाथ के ट्रस्ट से निवासियों को लाखों रुपए मानदेय के मामले में विजिलेंस जांच शुरू

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.