लोकसभा चुनाव 2024: अंबाला सीट पर BJP की नजर, रतनलाल कटारिया के निधन के बाद दूसरे चेहरे पर मंथन जारी

author img

By ETV Bharat Haryana Desk

Published : Jan 7, 2024, 10:14 AM IST

Haryana BJP Meeting ambala lok sabha seat

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव में ज्यादा समय नहीं बचा है ऐसे में सभी राजनीतिक दल चुनाव की तैयारी कर रहे हैं. आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी सूबे की सभी 10 लोकसभा सीटों पर परचम लहराने की तैयारी में है. इसके साथ ही पार्टी का ध्यान अंबाला सीट पर प्रत्याशी को लेकर भी है.

चंडीगढ़: बीजेपी लोकसभा चुनाव 2024 के लिए जोर-शोर से तैयारियों में जुटी है. प्रदेश के सीएम मनोहर लाल, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष, संगठन मंत्री और अन्य पदाधिकारियों के अलावा राष्ट्रीय अध्यक्ष भी विभिन्न प्रदेशों में रोड शो और जनसभाएं कर रहे हैं. इस बार हरियाणा की सभी 10 लोकसभा सीटों में से अंबाला की सीट बीजेपी के लिए कई मायनों में अधिक महत्वपूर्ण और चुनौती भरी रह सकती है. इसका कारण अंबाला सीट से सांसद रहे रतनलाल कटारिया का निधन होना है. उनके बाद अंबाला लोकसभा सीट पर कौन चेहरा अधिक प्रभावी साबित हो सकता हौ, इस पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल समेत प्रदेश प्रभारी, प्रदेशाध्यक्ष नायब सैनी, राज्यसभा सांसद बिप्लब कुमार देब और संगठन मंत्री और अन्य पदाधिकारी मंथन में जुटे हैं.

BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पंचकूला में रोड शो कर गिनाईं उपलब्धियां: 4 जनवरी को पंचकूला पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल और प्रदेश अध्यक्ष नायब सैनी समेत अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक की. इसके अलावा जेपी नड्डा ने कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत कर उन्हें लोकसभा चुनाव की तैयारियों संबंधी निर्देश दिए. इसके बाद जेपी नड्डा को पंचकूला में रोड शो तक भी करना पड़ा. इस दौरान जेपी नड्डा ने प्रदेश वासियों को मनोहर लाल सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जारी योजनाओं/परियोजनाओं की उपलब्धियां गिनाईं. लोगों को भरोसा दिलाया कि सभी नीतियों और योजनाओं का लाभ आखिरी कतार के अंतिम व्यक्ति तक पहुंच रहा है. इसी भरोसे के साथ उन्होंने हरियाणा लोकसभा की सभी दस सीटों पर जीत मिलने का दावा किया.

शुरुआती चरण पर ही अंबाला लोकसभा सीट पर किया फोकस: एक ओर बीजेपी हरियाणा की सभी 10 लोकसभा सीटों पर मजबूती के साथ जीत हासिल करने की तैयारी है. वहीं, दूसरी ओर बीजेपी के लिए अब खाली पड़ी अंबाला की सीट अत्यधिक महत्वपूर्ण हो चुकी है. क्योंकि अंबाला सीट से बड़ी जीत हासिल कर चुके दिवंगत सांसद रतनलाल कटारिया के निधन के बाद पार्टी ऐसा दूसरा चेहरा तलाश रही है, जिसके बूते जीत की ताल ठोकी जा सके. यही कारण है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल और अन्य पदाधिकारी लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण पर ही अंबाला पर फोकस किए हुए हैं. अंबाला लोकसभा सीट के अंतर्गत नौ विधानसभा आती हैं.

  • हरियाणा में फिर खिलेंगे 10 कमल

    आज पंचकूला स्थित प्रदेश कार्यालय पंच कमल पर @BJP4India के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री @PandaJay जी ने मिशन 2024 के निमित्त लोकसभा चुनाव कार्य योजना बैठक ली।बैठक में उपस्थित वरिष्ठ नेताओं से विस्तृत चर्चा कर लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाई गई। pic.twitter.com/Y3Ecbtxhv8

    — Nayab Saini (@NayabSainiBJP) January 6, 2024 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सांसदों और विधायकों के साथ की बैठक: लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारी के संबंध में बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बैजयंत पांडा पंचकूला स्थित बीजेपी के कार्यालय पंच कमल में सभी सांसदों और विधायकों के साथ बैठक की. इस बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल समेत प्रदेश प्रभारी बिप्लब देब और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष नायब सैनी के अलावा संगठन महामंत्री फणीन्द्र नाथ शर्मा एवं अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहे.

  • हरियाणा के पंचकुला में रोड-शो के दौरान जन-जन का अपार उत्साह एवं अभिनंदन भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा का अभिनंदन है।

    आदरणीय प्रधानमंत्री श्री @narendramodi जी ने वोटबैंक की राजनीति को समाप्त कर विकासवाद की राजनीति से सभी को जोड़ा है और विश्व पटल पर देश को मजबूत करने के साथ… pic.twitter.com/LjrPh8FpdY

    — Jagat Prakash Nadda (@JPNadda) January 6, 2024 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

हरियाणा में नए जिला अध्यक्षों की नियुक्ति: हरियाणा में बीजेपी ने हाल ही में विभिन्न जिलों में नए जिला अध्यक्ष नियुक्त किए हैं. इसके बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा मुख्यमंत्री मनोहर लाल व संगठन मंत्री सहित अन्य पदाधिकारी ने नवनियुक्त जिलाध्यक्षों के साथ बैठक की. फिर उन्हें लोकसभा चुनाव 2024 के लिए दिशा निर्देश दिए. बीजेपी अपनी सफल रणनीति के साथ प्रदेश की सभी 10 लोकसभा सीटों पर प्रचंड जीत हासिल करना चाहती है. लेकिन, बीजेपी वर्तमान के समीकरणों के अनुसार उन लोकसभा सीटों पर अधिक फोकस किए हुए है, जहां विभिन्न कारणों से मतदाताओं के छ्टकने का संशय है और अंबाला की सीट भी इनमें एक मानी जा रही है.

  • हरियाणा के पंचकुला में रोड-शो के दौरान जन-जन का अपार उत्साह एवं अभिनंदन भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा का अभिनंदन है।

    आदरणीय प्रधानमंत्री श्री @narendramodi जी ने वोटबैंक की राजनीति को समाप्त कर विकासवाद की राजनीति से सभी को जोड़ा है और विश्व पटल पर देश को मजबूत करने के साथ… pic.twitter.com/LjrPh8FpdY

    — Jagat Prakash Nadda (@JPNadda) January 6, 2024 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

2014 से अंबाला सीट पर बीजेपी की पकड़: साल 1952 से अब तक देखा जाए तो अंबाला सीट पर सबसे अधिक समय तक कांग्रेस का ही शासन रहा. लेकिन, साल 1996 के बाद से इस सीट पर कांग्रेस की चमक फीकी पड़ती गई. 11वीं लोकसभा के लिए हुए चुनाव में यह सीट बीजेपी के खाते में आई और साल 1998 में बसपा की झोली में चली गई. साल 1999 में रतनलाल कटारिया इस सीट को दोबारा बीजेपी की झोली में डालने में कामयाब रहे. जबकि साल 2004 और 2009 के चुनावों में रतनलाल कटारिया को लगातार दो बार हार का सामना करना पड़ा. आखिरकार साल 2014 की मोदी लहर में उन्होंने फिर एक बार प्रचंड जीत हासिल कर कांग्रेस की कुमारी शैलजा को बड़े अंतर से हराया.

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों ने कसी कमर, राजनीतिक प्रेक्षकों की नजर से जानिए कैसी है तैयारी

ये भी पढ़ें: ETV BHARAT EXCLUSIVE: कृषि मंत्री जेपी दलाल का विपक्ष पर वार, किसान हमारे माई बाप तो उनके लिए वोटर

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.