आईआईटी दिल्ली ने मोटर संचालित लकड़ी के मनके बनाने वाले उपकरण का निर्माण किया

author img

By ETV Bharat Delhi Team

Published : Dec 15, 2023, 3:32 PM IST

Etv Bharat

IIT दिल्ली ने उद्योग को मोटर चालित लकड़ी के मनके बनाने वाले उपकरण बनाने की तकनीक हस्तांतरित की है. जिससे महिलाओं को लाभ होगा.

नई दिल्ली: आईआईटी दिल्ली के रूरल टेक्नोलॉजी एक्शन ग्रुप ने उद्योग को मोटर चालित लकड़ी के मोती बनाने वाले उपकरण बनाने की नई तकनीक हस्तांतरित की है. इस उपकरण से ग्रामीण क्षेत्र, विशेषकर मथुरा, वृन्दावन और भारत के उत्तर प्रदेश के पड़ोसी क्षेत्रों की महिलाओं को लाभ होगा. प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करने का लाइसेंस हरराज इंडस्ट्रीज को दिया गया है, जो डिवाइस बनाने और इसे बेचने की योजना बना रही है. डिवाइस का डिज़ाइन भारतीय पेटेंट कार्यालय में पंजीकरण के तहत संरक्षित है. प्रौद्योगिकी को फाउंडेशन फॉर इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी ट्रांसफर (एफआईटीटी) आईआईटी दिल्ली के माध्यम से स्थानांतरित किया गया था.

आईआईटी दिल्ली के प्रोफेसर एसके साहा ने कहा कि, "एसी मोटर चालित लकड़ी के मोती बनाने का यह उपकरण एक दशक में एक परियोजना के रूप में विकसित हुआ है, जिसका कारण रूटैग आईआईटी दिल्ली टीम के निरंतर प्रयास हैं, जिन्होंने कम मेहनत में अधिक काम करने और महिला कारीगरों की मेहनत को कम करने के लिए कड़ी मेहनत की है.'' प्रोफेसर साहा ने कहा कि आईआईटी दिल्ली के पीएचडी छात्र यशवंत प्रसाद द्वारा प्रस्तावित डिवाइस का तीसरा और नवीनतम संस्करण लगभग शोर रहित है. इसने कारीगरों के दैनिक उत्पादन और कमाई को भी लगभग 700-800 रूपये प्रतिदिन से बढ़ाकर 3000 प्रति दिन तक कर दिया है.

एसके साहा ने कहा कि हम डिवाइस को गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस और अन्य ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के माध्यम से बेचने की योजना बना रहे हैं ताकि देश के किसी भी कोने में स्थित निर्यातक और अन्य इच्छुक ग्राहक इसे आसानी से खरीद सकें. हरराज के प्रोपराइटर हरप्रीत सिंह ने कहा कि यह उपकरण लकड़ी से 5 मिमी से 25 मिमी व्यास तक के गोलाकार मोती बना सकता है. यह एक साथ टर्निंग और ड्रिलिंग ऑपरेशन करता है, जबकि उन्नत गति नियंत्रण (परिवर्तनीय आवृत्ति ड्राइव) का उपयोग करके परिचालन गति 2000 और 3000 आरपीएम के बीच भिन्न हो सकती है. वर्तमान में, ये मोती मुख्य रूप से भक्तों के लिए माला बनाने के लिए तुलसी के तने से बनाए जाते हैं.

यह भी पढ़ें- दिल्ली विधानसभा सत्र में विधायकों के फंड को लेकर उठाया गया मुद्दा, मिला यह जवाब

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.