ETV Bharat / bharat

संगीत नगरी ग्वालियर में बनेगा विश्व रिकॉर्ड, तानसेन समारोह के दौरान 1500 तबला वादक एक साथ देंगे प्रस्तुति

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Dec 22, 2023, 6:19 PM IST

Tansen Samaroh 2023: मध्यप्रदेश की संगीत नगरी ग्वालियर में 24 दिसंबर से तानसेन समारोह की शुरुआत हो रही है. समारोह की तैयारियां पूरी हो गई है. कहा जा रहा है कि इस समारोह में विश्व रिकॉर्ड भी बनेगा, क्योंकि 1500 तबला वादक संगीत समारोह में एक साथ प्रस्तुति देंगे.

Tansen Samaroh 2023
संगीत नगरी ग्वालियर में बनेगा विश्व रिकॉर्ड

संगीत नगरी ग्वालियर में बनेगा विश्व रिकॉर्ड

ग्वालियर। संगीत का नगर ग्वालियर में विश्व संगीत तानसेन समारोह का आगाज होने वाला है. 24 दिसंबर से तानसेन समारोह की शुरुआत होगी और इस दौरान संगीत में अबकी बार विश्व रिकॉर्ड बनाया जाएगा. सबसे खूबसूरत किले पर स्थित कर्ण महल के सामने 1500 तबला वादक एक साथ अपनी प्रस्तुति देंगे. यह प्रस्तुति गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल करने के लक्ष्य को लेकर सजाई जाएगी. इसको लेकर युद्ध स्तर पर प्रशासनिक तैयारियां चल रही है.

तानसेन समारोह के दौरान बनेगा रिकार्ड: संगीत की दुनिया में ग्वालियर कभी भी पीछे नहीं रहा है. यही कारण है कि अभी हाल में ही यूनेस्को ने ग्वालियर को संगीत की नगरी से नवाजा है. अबकी बार 99वां विश्व संगीत तानसेन समारोह शुरू होने वाला है. शताब्दी वर्ष से पहले ही अबकी बार तानसेन समारोह के दौरान विश्व रिकॉर्ड बनाया जाएगा. इसके लिए एक साथ 1500 तबला वादको से वादन से संगीत की गूंज एक साथ दिखाई देगी. ग्वालियर कलेक्टर अक्षय कुमार ने बताया है कि समारोह के लिए 26 दिसंबर को 1500 तबला वादक अपनी प्रस्तुति देंगे. इस प्रस्तुति में देश के अलग-अलग प्रसिद्ध तबला वादक शामिल होने जा रहे हैं.

गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड की टीम रहेगी मौजूद: साथ ही इस समारोह के दौरान गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम भी वहां पर मौजूद होगी. तानसेन समारोह के दौरान यह पहला कार्यक्रम है. जब संगीत की नगरी में संगीत को लेकर ही विश्व रिकॉर्ड बनेगा. उन्होंने बताया है कि इस कार्यक्रम को लेकर ग्वालियर के लिए तैयारी चल रही है. व्यवस्थाओं के संबंध में निरीक्षण किया जा रहा है. वहीं इस आयोजन में आने वाले कलाकारों को अपनी प्रस्तुति देने के लिए बेहतर माहौल मिल सके, यह सुनिश्चित किया जा रहा है.

24 दिसंबर से तानसेन समारोह की शुरुआत: बता दें 24 दिसंबर से तानसेन समारोह की शुरुआत की जा रही है. तानसेन समारोह में 10 सभाएं होगी. पहली सभा 24 दिसंबर को सायंकाल आयोजित होगी. इसके बाद हर दिन प्रातः और शाम के समय होगी. समारोह के तहत 27 दिसंबर को तानसेन समाधि स्थल के साथ मुरैना जिले की प्रसिद्ध बटेश्वर मंदिर परिसर में भी समानांतर रूप से संगीत सभाएं सजेगी. 28 दिसंबर को प्रातः कालीन सम्राट तानसेन की जन्मस्थली बेहट में और इस साल के समारोह की अंतिम संगीत सभा शाम के समय गुजरी महल परिसर में सजेगी और अंतिम सभा महिला कलाकारों पर केंद्रित रहेगी.

यहां पढ़ें...

ग्वालियर अंचल के पर्यटन का होगा प्रमोशन: वहीं 99वां अंतराष्ट्रीय तानसेन समारोह समागम में अबकी बार तानसेन अलंकरण सम्मान ग्वालियर घराने की शासकीय गायक पंडित गणपति भट्ट हसनी को दिया जाएगा. राजा मानसिंह तोमर पुरस्कार उज्जैन की मालवा कला संस्था को प्रदान किया जाएगा. खास बात यह है कि इस वर्ष के तानसेन समारोह के साथ ग्वालियर अंचल के पर्यटन का भी प्रमोशन किया जाएगा. इसके लिए पर्यटन विभाग की ओर से 10 देश के राजदूतों को भी बुलाया जा रहा है. वहीं तानसेन अलंकरण और राजा मानसिंह तोमर अलंकरण के लिए पुरस्कार की राशि को इस बार बढ़ाया गया है. तानसेन अलंकरण के लिए पूर्व में 2 लाख की रकम बढ़ाकर 5 लाख रुपए और राजा मानसिंह तोमर अलंकरण के लिए एक लाख की रकम बढ़ा दी है.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.