ETV Bharat / bharat

OMG! बाथरूम में नवजात को दिया जन्म.. टॉयलेट कमोड में फ्लश करके फरार हुई मां

author img

By

Published : May 2, 2023, 6:33 PM IST

Updated : May 2, 2023, 11:01 PM IST

बिहार के जहानाबाद सदर अस्पताल से विचलित कर देने वाली खबर आ रही है. जहां मंगलवार को एक कलयुगी मां ने अपनी ममता को दरकिनार कर अपने जिगर के टुकड़े नवजात को बाथरूम में फेंककर भाग गई. नवजात टॉयलेट के कमोड में फ्लश करने से आधा डूबा हुआ था. पढ़ें पूरी खबर...

Etv Bharat
Etv Bharat
अस्पताल के टॉयलेट कमोड में फ्लश करके फरार हुई मां

जहानाबाद: मैं तो अपनी मां की कोख में नौ महीने से बड़े प्यार से था. मां मेरी हर हरकत पर हंसती थी. मुझे बस उस दिन का इंतजार था कि मैं कब मां की कोख से बहार आऊं. आज वो दिन भी आ गया. मुझे दर्द हो रहा है! मां तुम कहां हो? क्या मुझे मां की गोद की जगह सदर अस्पताल का बाथरूम में मिलेगा? यह दर्द उस नवजात बच्चे का है, जिसको एक मां ने मंगलवार को जहानाबाद सदर अस्पताल के टॉयलेट में फेंक दिया और कमोड के फ्लश को चलाकर फुर्र हो गई. दिल दहला देने वाले वाकये को जिसने भी सुना वो निर्दयी मां की ममता और उसकी मजबूरियों दोनों को कोस रहा है.

ये भी पढ़ें: महंगे इलाज ने 'ममता' को मार डाला.. नवजात को प्राइवेट अस्पताल में छोड़कर फरार हुए माता पिता

मां की ममता कलंकित: दरअसल, पूरा मामला जहानाबाद के सदर अस्पताल का है. जहां एक महिला ने नवजात को जन्म देने के तुरंत बाद उसे अस्पताल के टॉयलेट कमोड में फेंक दिया और फ्लश करके भाग निकली. इसकी जानकारी तब हुई जब एक मरीज बाथरूम गया. वहां उसने देखा कि एक महिला तेजी से बाथरूम से निकलकर भाग रही है. अंदर जाकर देखा तो टॉयलेट कमोड में बेसुध होकर नवजात पड़ा हुआ था. उसका आधा शरीर पानी में डूबा हुआ था. यह दशा देखकर मरीज बाहर आया और अस्पताल के स्टाफ से सहयोग लेकर उसे बाहर निकलवाया.

"न हर्ट चल रहा था और न ही सांस चल रही थी. हमलोगों ने प्रयास किया तो सांस में चलने लगी. नवजात को वेंटिलेटर की जरूरत है. यहां वेंटिलेटर की सुविधा नहीं है. थाना और डीएस को जानकारी दे दी गई है. नवजात को पटना भेजने के लिए प्रयास किया जा रहा है." - डॉ चंद्रशेखर आजाद ( बच्चा बार्ड ) सदर अस्पताल, जहानाबाद

"नवजात का शरीर नीला पड़ गया था. हर्टबीट नहीं मिल रही थी. काफी प्रयास करने के हर्टबीट मिला. अभी नवजात ठीक है. वेंटिलेटर की जरूरत है." - हेमलता कुमारी ( नर्स ) सदर अस्पताल, जहानाबाद

नवजात को फेंक कर फ्लश कर दिया: सदर अस्पताल के बाथरूम के अंदर का जो नजारा था वह तस्वीरें विचलित करने वाली थी. नवजात को मरा समझकर महिला फरार हो चुकी थी. क्योंकि वह टॉयलेट के पानी में आधा डूबा हुआ था. इधर नवजात के टॉयलेट में पाए जाने की सूचना मिलते ही हॉस्पिटल स्टाफ ने उसे बाहर निकाला और चाइल्ड वार्ड में लेकर एडमिट कराया. नवजात का इलाज जारी है. डॉक्टरों ने उसे वेंटिलेटर पर रखा हुआ है. घटना की जानकारी मिलते ही लोगों को वहां भीड़ इकट्ठा हो गई. लोग इस घटना को लेकर तरह-तरह की बातें कर रहे हैं.

अस्पताल के टॉयलेट कमोड में फ्लश करके फरार हुई मां

जहानाबाद: मैं तो अपनी मां की कोख में नौ महीने से बड़े प्यार से था. मां मेरी हर हरकत पर हंसती थी. मुझे बस उस दिन का इंतजार था कि मैं कब मां की कोख से बहार आऊं. आज वो दिन भी आ गया. मुझे दर्द हो रहा है! मां तुम कहां हो? क्या मुझे मां की गोद की जगह सदर अस्पताल का बाथरूम में मिलेगा? यह दर्द उस नवजात बच्चे का है, जिसको एक मां ने मंगलवार को जहानाबाद सदर अस्पताल के टॉयलेट में फेंक दिया और कमोड के फ्लश को चलाकर फुर्र हो गई. दिल दहला देने वाले वाकये को जिसने भी सुना वो निर्दयी मां की ममता और उसकी मजबूरियों दोनों को कोस रहा है.

ये भी पढ़ें: महंगे इलाज ने 'ममता' को मार डाला.. नवजात को प्राइवेट अस्पताल में छोड़कर फरार हुए माता पिता

मां की ममता कलंकित: दरअसल, पूरा मामला जहानाबाद के सदर अस्पताल का है. जहां एक महिला ने नवजात को जन्म देने के तुरंत बाद उसे अस्पताल के टॉयलेट कमोड में फेंक दिया और फ्लश करके भाग निकली. इसकी जानकारी तब हुई जब एक मरीज बाथरूम गया. वहां उसने देखा कि एक महिला तेजी से बाथरूम से निकलकर भाग रही है. अंदर जाकर देखा तो टॉयलेट कमोड में बेसुध होकर नवजात पड़ा हुआ था. उसका आधा शरीर पानी में डूबा हुआ था. यह दशा देखकर मरीज बाहर आया और अस्पताल के स्टाफ से सहयोग लेकर उसे बाहर निकलवाया.

"न हर्ट चल रहा था और न ही सांस चल रही थी. हमलोगों ने प्रयास किया तो सांस में चलने लगी. नवजात को वेंटिलेटर की जरूरत है. यहां वेंटिलेटर की सुविधा नहीं है. थाना और डीएस को जानकारी दे दी गई है. नवजात को पटना भेजने के लिए प्रयास किया जा रहा है." - डॉ चंद्रशेखर आजाद ( बच्चा बार्ड ) सदर अस्पताल, जहानाबाद

"नवजात का शरीर नीला पड़ गया था. हर्टबीट नहीं मिल रही थी. काफी प्रयास करने के हर्टबीट मिला. अभी नवजात ठीक है. वेंटिलेटर की जरूरत है." - हेमलता कुमारी ( नर्स ) सदर अस्पताल, जहानाबाद

नवजात को फेंक कर फ्लश कर दिया: सदर अस्पताल के बाथरूम के अंदर का जो नजारा था वह तस्वीरें विचलित करने वाली थी. नवजात को मरा समझकर महिला फरार हो चुकी थी. क्योंकि वह टॉयलेट के पानी में आधा डूबा हुआ था. इधर नवजात के टॉयलेट में पाए जाने की सूचना मिलते ही हॉस्पिटल स्टाफ ने उसे बाहर निकाला और चाइल्ड वार्ड में लेकर एडमिट कराया. नवजात का इलाज जारी है. डॉक्टरों ने उसे वेंटिलेटर पर रखा हुआ है. घटना की जानकारी मिलते ही लोगों को वहां भीड़ इकट्ठा हो गई. लोग इस घटना को लेकर तरह-तरह की बातें कर रहे हैं.

Last Updated : May 2, 2023, 11:01 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.