धनतेरस पर 50 हजार करोड़ से अधिक का कारोबार, सबसे ज्यादा गोल्ड की बिक्री

author img

By ETV Bharat Hindi Desk

Published : Nov 10, 2023, 9:13 PM IST

dhanteras

Dhanteras Market trade : धनतेरस पर लोग सबसे ज्यादा सोना खरीदना पसंद करते हैं. और आज का बाजार भी कुछ ऐसा ही संकेत दे रहा है. अभी तक की जानकारी के अनुसार 50 हजार करोड़ से अधिक का कारोबार हो चुका है और इसमें सबसे बड़ी भागीदारी सोने की है.

नई दिल्ली : दो दिन बाद दीपावली है. आज यानी शुक्रवार को बाजार में धनतेरस की रौनक देखने को मिल रही है. अभी तक की जानकारी के अनुसार पूरे देश में 50 हजार करोड़ से अधिक का कारोबार हो चुका है. इसमें अकेले 27 हजार करोड़ का कारोबार जूलरी का हुआ है. यह आंकड़ा अभी बढ़ने वाला है. पिछले साल 25 हजार करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था.

अभी सोने का भाव 61 हजार से लेकर 62 हजार प्रति 10 ग्राम का भाव है. पिछले साल सोने का भाव 52 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम था. इसी तरह से इस समय चांदी 72 हजार रुपये प्रति किलो के भाव से मिल रहा है, जबकि पिछले साल इसका भाव 58 हजार रु. प्रति किलो था. एक अनुमान के मुताबिक 41 टन सोना और 400 टन चांदी का कारोबार हुआ है.

कॉनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के मुताबिक अकेले दिल्ली में 5000 करोड़ रु. से अधिक का कारोबार हुआ है. सीएआईटी के अध्यक्ष प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि यह कारोबार अभी और बढ़ेगा. वहीं ऑल इंडिया ज्वेलर्स एंड गोल्डसमीथ फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज अरोड़ा के मुताबिक सोने-चांदी के अलावा कीमती सामानों का करीब 30 हजार करोड़ रुपये का कारोबार हुआ है.

  • धन एवं आरोग्य के महत्वपूर्ण पर्व धनतेरस की शुभकामनाएँ।
    आज के दिन श्री गणेश जी, श्री लक्ष्मी जी, श्री कुबेर जी की मूर्तियों सहित झाड़ू ख़रीदना भी शुभ माना गया है।
    आज ही के दिन धनत्रयोदशी भगवान धनवंतरी का प्रदुर्भव हुआ औषधियों के देवता का आज पूजन करना निश्चय ही फलदाई है घर में… pic.twitter.com/nau2XJGyAm

    — Praveen Khandelwal (@praveendel) November 10, 2023 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

आम तौर पर लोग आज के दिन झाड़ू, स्टील के सामान, लक्ष्मी और गणेश की मूर्ति या फिर सोने या चांदी के सिक्के खरीदते हैं. दिवाली के मौके पर लोग इलेक्ट्रिक के सामान भी खरीदते हैं. बाजार विशेषज्ञों का मानना है कि इस बार 50,000 करोड़ से ज्यादा का बिजनेस हुआ है. भारत की अर्थव्यवस्था के लिए यह अच्छा संकेत है. वहीं सरकार की लोकल व्यापारियों को बढ़ावा देने की वोकल फॉर लोकल की नीति का भी प्रभाव देखने को मिल रहा है. दूसरी तरफ लोग चीनी सामान के स्थान पर भारतीय सामान खरीदने को महत्व दे रहे हैं.

ये भी पढ़ें : कारोबारी हफ्ते के आखिरी दिन बाजार में लौटी रौनक, सेंसेक्स-निफ्टी में आया उछाल

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.