सरहद पार से दुल्हन बनकर आई फातिमा, शौहर से मिलने के लिए किया महीनों इंतजार

author img

By

Published : May 25, 2023, 7:22 AM IST

Updated : May 25, 2023, 2:52 PM IST

जोधपुर के लड़के का पाकिस्तानी लड़की संग वर्चुअल निकाह

कहते हैं रिश्ते जन्नत में बनते हैं. इसकी बानगी जोधपुर में बुधवार को देखने को मिली. करीब पांच माह पूर्व हुए वर्चुअल निकाह के बाद पाकिस्तानी दुल्हन अपने दूल्हे (शौहर) मुजम्मिल खान के पास जोधपुर पहुंची.

सरहद पार से दुल्हन बनकर आई फातिमा

जोधपुर (राजस्थान) . सूर्यनगरी में बुधवार को एक ऐसी शादी की चर्चा रही, जिसमें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए निकाह हुआ और फिर दुल्हन वाघा बॉर्डर के जरिए पाकिस्तान से जोधपुर पहुँची. जाहिर है कि एक तरफ भारत-पाकिस्तान की सरहदों पर कड़वाहट लगातार जारी हैं. लेकिन आज भी भारत-पाकिस्तान के नागरिकों के दिलों के रिश्ते जुड़े हुए हैं. ये रिश्ते इतने गहरे हैं कि वीडियो से बहन बेटियों की शादी विवाह हो रहे हैं. जोधपुर शहर के मुजम्मिल खान के साथ के साथ दो जनवरी 2023 को ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए निकाह पढ़ने वाली पाकिस्तान के मीरपुरखास की उरुज फातिमा अब लगभग पांच माह दिन बाद अपने ससुराल शौहर के पास पहुंची है. ससुराल में खुशियों का माहौल है, मेहमानों की आवाजाही लगातार जारी है और हर कोई पाकिस्तान से आई दुल्हन को देखने के लिए पहुंच रहे हैं.
वीजा नहीं मिलने से हुई देरी : दूल्हे के दादा भालहे खान मेहर ने बताया कि पाकिस्तान से दुल्हन को भारत लाने में देरी वीजा नहीं मिलने के कारण हुई. पाकिस्तान से विदाई में इसी कारण विलंब हुआ. पाकिस्तान की बेटी अब भारत के बेटे की दुल्हन (बेगम) बनी है. दुल्हन भारत पहुंचकर बहुत खुश है, भाले खान मेहर ने बताया कि मैं पाकिस्तान गया था, तब दुल्हन बनकर यहां आई फातिमा ने मेरी बहुत सेवा की थी. तभी मैंने उसे अपने पोते के लिए पसंद किया और रिश्ता पक्का कर दिया. उसके बाद भारत पाकिस्तान के बीच चलने वाली ट्रेन बंद हो गई. हम लोग गरीब परिवार से हैं, तो हमारे पास इतने रुपए नहीं है कि यहाँ से बारात फ्लाईट करके ले जाएं. तो फिर हमने ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए निकाह कराया. निकाह के बाद दुल्हन को भारत लाने के लिए वीजा मिलने में हुए विलंब के चलते पाकिस्तान से विदाई कराने में देरी हो गई. पाकिस्तान की दुल्हन का पति एक प्राइवेट कंपनी में ड्राइवर है.

जोधपुर शहर के इस अनूठे निकाह से कई परिवारो ने प्रेरणा ली है. अब कई परिवार ऑनलाइन निकाह से अपने परिवार में बहू लाने की तैयारी में है. इस अनूठी विवाह के सूत्रधार सिविल कांट्रेक्टर पाकिस्तानी दुल्हन के दादी ससुर भाले खान मेहर बताते हैं कि समय के साथ परिपाटी में भी बदलाव जरूरी है. कोरोना के बाद ऑनलाइन आयोजनों की प्रासंगिकता बढ़ गई है. कोरोना काल के बाद पाकिस्तान आना-जाना महंगा और जोखिम भरा हो गया है. पोते का पाकिस्तान में रिश्ता तय हुआ, तो चिंता बढ़ गई थी कि पाकिस्तान बारात कैसे ले जाएं. थार एक्सप्रेस बंद है और हवाई जहाज का खर्च उठाने की स्थिति में नहीं हैं. ऐसे में ऑनलाइन निकाह का आइडिया अच्छा लगा. ऑनलाइन निकाह हो गया, अब वाघा बॉर्डर से पोते की बहू भी जोधपुर पहुंच गई. निकाह के बाद वीजा मिलने के बाद दुल्हन को वाघा बॉर्डर तक छोड़ने उनके परिजन आए. वाघा बॉर्डर पर दुल्हन को लेने दूल्हा अपने मित्रों के साथ पहुंचा.

पढ़ें IAS टीना डाबी के पहले पति अतहर ने रचाई दूसरी शादी, देखिए निकाह का Video

पीएम मोदी से की अपील : दूल्हे के दादा ने जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत को इसका श्रेय दिया. भालहे खान ने बताया कि वीजा मिलने में 7 से 8 महीने लग जाते है और कई कार्यवाहियों से गुजरना पड़ता है. मगर केन्द्रीय मंत्री शेखावत से मिला और उनकी कोशिश से वीजा जल्द मिल गया. आज मेरे पोते की दुल्हन घर आ गयी. साथ ही ये भी बताया कि पाकिस्तान में ओर भी ऐसी कई लोग है, जो भारत मे अपनी बेटियों का बेटा का रिश्ता तय करना चाहते है. मेरी मोदी जी से प्रार्थना है कि हिंदुस्तान और पाकिस्तान के आवाम के दिलो को जोड़ने वाली भारत- पाक रेल सेवा फिर से शुरू करे.

Last Updated :May 25, 2023, 2:52 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.