पीएम मोदी चाहते हैं जल्द पूरा हो उत्तरकाशी में रेस्क्यू, पहाड़ के टॉप से ड्रिलिंग की भी संभावना, टीम ने लिया जायजा

author img

By ETV Bharat Hindi Team

Published : Nov 18, 2023, 2:02 PM IST

Updated : Nov 18, 2023, 4:23 PM IST

PMO team reached Uttarkashi

PMO team reached Uttarkashi to explore the possibility of rescue प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल में फंसे मजदूरों का रेस्क्यू जल्द से जल्द कर लिया जाए. इसी को लेकर पीएमओ से सीनियर अफसरों की एक पांच सदस्यीय टीम सिलक्यारा पहुंची है. पीएमओ की टीम ने टनल वाले क्षेत्र का हर तरफ से निरीक्षण किया है. इस संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सका है कि टनल में फंसे मजदूरों को निकालने के लिए पहाड़ के ऊपर से ड्रिलिंग की जाए.

उत्तरकाशी टनल से श्रमिकों के रेस्क्यू को लेकर हर विकल्प पर नजर.

उत्तरकाशी (उत्तराखंड): पीएमओ दिल्ली से उत्तरकाशी के सिलक्यारा पहुंची पांच सदस्यीय टीम ने आज हादसा स्थल का हर कोण से जायजा लिया. टीम हर उस संभावना को तलाश रही है कि कहां से ड्रिल करके टनल के अंदर फंसे मजदूरों तक जल्दी पहुंचा जा सकता है.

पीएमओ से आई टीम ने क्या कहा? पीएमओ से सिलक्यारा टनल आए जियोलॉजिस्ट इंजीनियर वरुण अधिकारी ने कहा कि 'हम लोग ये एक्सप्लोर कर रहे हैं कि रेस्क्यू में क्या-क्या संभावनाएं हैं. हम इस पर डिस्कस कर रहे हैं. सब मिलकर जिस नतीजे पर निकलेंगे, उसी पर फिर काम करेंगे. प्रधानमंत्री पल-पल का अपडेट ले रहे हैं.'

भास्कर खुल्बे ने क्या कहा? पीएमओ में डिप्टी सचिव भास्कर खुल्बे ने कहा कि जितने रास्ते हमारे लिए सुलभ हो सकते हैं, उन सबको तलाश रहे हैं. हमारी प्राथमिकता सात दिन से टनल में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने की है. हमारी प्राथमिकता है कि हम जितनी जल्दी टनल में फंसे लोगों के पास पहुंच सकते हैं वो कोशिश कर रहे हैं. विदेशी एजेंसियां जो हमारे देश में तकनीकी कार्यों में लगी हैं, उन सब की भी मदद ली जा रही है.

  • #WATCH | Uttarakhand: Uttarkashi tunnel rescue | Former Advisor PMO Bhaskar Khulbe visits the incident site; says, "We'll not leave a single possibility to explore any way since it's our priority to reach those who are stuck for days here. We don't lack any resources, options and… pic.twitter.com/KNmETuw3NH

    — ANI (@ANI) November 18, 2023 " class="align-text-top noRightClick twitterSection" data=" ">

पहाड़ी के टॉप से भी हो सकती है ड्रिलिंग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि जितनी जल्दी संभव है, उतनी जल्दी रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा किया जाए. हम अभी रेस्क्यू पूरा करने का समय निर्धारित नहीं कर सकते हैं. लेकिन हम ये देख रहे हैं कि हम किस रास्ते टनल में फंसे लोगों के पास जल्दी पहुंच सकते हैं.

पीएमओ से ये अफसर पहुंचे सिलक्यारा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिल्ली स्थित दफ्तर से 5 वरिष्ठ अधिकारी सिलक्यारा पहुंचे हैं. पीएमओ से आए अफसरों में पीएमओ के डिप्टी सचिव मंगेश घिल्डियाल, पीएमओ के जियोलॉजिस्ट इंजीनियर वरुण अधिकारी, पीएमओ के डिप्टी सचिव महमूद अहमद, पीएमओ के ओएसडी टूरिज्म भास्कर खुल्बे और एक्सपर्ट इंजीनियर अरमांडो कैपलैन शामिल है. ये टीम जल्द से जल्द सिलक्यारा टनल का रेस्क्यू पूरा करने की हर संभवाना को परख रही है.
ये भी पढ़ें: उत्तरकाशी टनल में 40 नहीं 41 मजदूर फंसे, 7वें दिन मिली जानकारी, PMO से पहुंची टीम
ये भी पढ़ें: उत्तरकाशी टनल हादसा: 6 दिन बाद भी गायब हैं उत्तराखंड के मंत्री, विपक्ष ने जिले के प्रभारी प्रेमचंद का मांगा इस्तीफा
ये भी पढ़ें: अपनों की तलाश में सिलक्यारा पहुंच रहे परिजन, टनल में फंसे लोगों को निकाले के लिए हुआ मॉक ड्रिल
ये भी पढ़ें: उत्तरकाशी टनल हादसे में फंसे 7 राज्यों के 40 मजदूर, सभी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द, रेस्क्यू जारी

Last Updated :Nov 18, 2023, 4:23 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.