हसदेव को लोकसभा चुनाव में कांग्रेस बनाएगी बड़ा मुद्दा! जानिए पॉलिटिकल एक्सपर्ट की राय

author img

By ETV Bharat Chhattisgarh Desk

Published : Jan 8, 2024, 10:38 PM IST

Politics on Hasdeo forest dispute

hasdeo forest controversy: लोकसभा चुनाव में कांग्रेस हसदेव को बड़ा मुद्दा बनाने की तैयारी कर रही है. वहीं, बीजेपी ने इसे लेकर कांग्रेस पर पलटवार किया है. मामले में पॉलिटिकल एक्सपर्ट की अलग ही राय है.

हसदेव को लोकसभा चुनाव में कांग्रेस बनाएगी बड़ा मुद्दा

रायपुर: छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव को लेकर सियासी दलों ने अपनी-अपनी कमर कस ली है. राजनीतिक दल अपने-अपने तरीके से लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाने में जुट गए हैं. कांग्रेस ने भी लोकसभा चुनाव के लिए कई बड़े मुद्दे को लेकर आंदोलन तेज कर दिया है. कांग्रेस इस बार लोकसभा चुनाव में हसदेव अरण्य क्षेत्र में पेड़ों की कटाई को बड़ा मुद्दा बना रही है. कांग्रेस ने तैयारी तेज कर दी है.

दरअसल, जल्द की कांग्रेस नेता राहुल गांधी की "भारत जोड़ो न्याय यात्रा" शुरू होने वाली है. ये यात्रा छत्तीसगढ़ से होकर गुजरेगी. इस दौरान संभावना जताई जा रही है कि राहुल गांधी हसदेव अरण्य के प्रभावितों से मुलाकात सकते हैं. कहीं न कहीं इसका असर आगामी लोकसभा चुनाव पर भी देखने को मिलेगा.

कांग्रेस ने उठाया हसदेव का मुद्दा: इस बारे में ईटीवी भारत ने कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर से बातचीत की. उन्होंने कहा कि, "इस यात्रा के दौरान हसदेव पेड़ कटाई सहित प्रदेश के अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस जनता के बीच जाएगी. इस यात्रा का लाभ छत्तीसगढ़ को भी मिलेगा. कांग्रेस लगातार हसदेव में पेड़ कटाई का विरोध करती रही है. विधानसभा में संकल्प पारित कर केंद्र सरकार को हसदेव में पेड़ कटाई को रोकने और आवंटन रद्द करने का मांग किया गया था. लेकिन अब भाजपा सरकार बनने के बाद हसदेव में पेड़ों की कटाई हो रही है. आज भी कांग्रेस इस कटाई और आवंटन के खिलाफ है और लगातार विरोध जारी है. राहुल गांधी की यात्रा के दौरान हसदेव के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया जाएगा. केंद्र और राज्य दोनों जगह भाजपा की सरकार है. आदिवासी भावनाओं के खिलाफ भाजपा सरकार काम कर रही है. ये पार्टी शुरू से ही अडानी के लिए काम करती आ रही है."

बीजेपी ने किया पलटवार:कांग्रेस के आरोपो भाजपा प्रदेश प्रवक्ता अनुराग अग्रवाल ने पलटवार किया. उन्होंने कहा कि, "अपने युवराज को स्थापित करने के लिए लगातार कांग्रेस विभिन्न प्रकार की यात्रा निकलते हैं. बावजूद इसके वह अपने नेता को स्थापित नहीं कर पा रहे हैं. फिर यात्रा भी निकलने वाली है. यदि हसदेव की बात की जाए तो 5 साल जब छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार थी, तो उन्होंने इसे क्यों छोड़ दिया. इस पर भी प्रदेश की जनता जवाब चाहती है. कांग्रेस को जनादेश का सम्मान करना चाहिए. प्रदेश की जनता ने जनादेश भाजपा के पक्ष में दिया है. 5 साल प्रदेश में किसकी सरकार थी? उनके एक नेता ने बयान दिया था कि एक भी पेड़ काटे तो गोली खाएंगे. अब हार कर घर में बैठे हुए. उनके प्रतिद्वंदी ने बयान दिया था कि पेड़ का एक गाल भी नहीं कटेगा. लेकिन लाखों पेड़ काट दिए गए. राहुल गांधी की मध्यस्थता में राजस्थान के मुख्यमंत्री के साथ भूपेश बघेल की क्या बातचीत हुई थी? यह जनता आज भी जानना चाहती है. इसलिए कांग्रेस को घड़ियाली आंसू बहाने बंद कर देने चाहिए."

जानिए पॉलिटिकल एक्सपर्ट की राय: इस बारे में ईटीवी भारत ने पॉलिटिकल एक्सपर्ट उचित शर्मा से बातचीत की. उन्होंने कहा कि, "पिछली यात्रा ने भी कांग्रेस को जीवित किया था. इस यात्रा का भी निश्चित तौर पर कांग्रेस को लाभ मिलेगा. भले ही तत्काल ना हो लेकिन आगे आने वाले समय में इसका लाभ कांग्रेस को मिल सकता है. यह अलग बात है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को कितना फायदा मिलेगा, इसे लेकर फिलहाल कुछ नहीं कह सकते. इस बार 5 दिन राहुल गांधी छत्तीसगढ़ में रहेंगे. इस दौरान उनके लिए सबसे बड़ा मुद्दा हसदेव हो सकता है.उन्होंने पिछले यात्रा के शुरुआत में कहा था कि हम एक भी पेड़ काटने नहीं देंगे. उसके बाद भी यदि पेड़ काट रहे हैं तो उनकी सरकार ने 2022 में अनुमति क्यों दी थी. अब लोग उनसे जवाब मांगेंगे. क्या होगा यह तो देखने वाली बात है.लेकिन इस चुनाव में यह एक बड़ा मुद्दा होगा. जंगल कटाई रोकने के बाद सभी करते हैं लेकिन चाहता कोई नहीं है. चाहे पूर्व की कांग्रेस सरकार हो या वर्तमान की केंद्र सहित राज्य की भाजपा सरकार. आखिरी परमिशन राज्य सरकार के हाथ में होती है. चाहते तो परमिशन नहीं देते. लेकिन तत्कालीन बघेल सरकार ने परमिशन दी. इसलिए सिर्फ एक सरकार की गलती हो यह नहीं कहा जा सकता."

कुल मिलाकर ये तय है कि इस बार लोकसभा चुनाव में कांग्रेस हरदेव को बड़ा मुद्दा बनाकर जनता के बीच जा सकती है. मामले में कांग्रेस खुद को आदिवासियों को हितैषी कह रही है. वहीं, बीजेपी कांग्रेस पर जनादेश स्वीकार न करने का आरोप लगा रही है. इसके अलावा पॉलिटिकल एक्सपर्ट ने दोनों सरकार पर ही हसदेव जंगल कटाई का आरोप लगाया है. इसके साथ ही पॉलिटिकल एक्सपर्ट ने राहुल गांधी की यात्रा और हसदेव पर कांग्रेस की सियासत का लाभ लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिलने की संभावना की बात कही है.

हसदेव बचाओ आंदोलन के नाम पर सियासत का आरोप, जमीनी हकीकत जान रह जाएंगे दंग
हसदेव अरण्य को लेकर कांग्रेस का बीजेपी पर हमला, अडाणी को जमीन देने का आरोप
हसदेव जाते वक्त कांगेस नेता को बिलासपुर पुलिस ने रोका, बीजेपी ने भी कह दी बड़ी बात
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.