जल्दबाजी में खाते हैं खाना तो भुगतना पड़ सकता है बड़ा खामियाजा, जानें क्या हैं नुकसान

author img

By ETV Bharat Hindi Desk

Published : Nov 13, 2023, 5:27 PM IST

Updated : Nov 13, 2023, 5:34 PM IST

at food in a hurry then be careful

जल्दी-जल्दी खाने की आदत आपके शरीर के लिए है बेहद खतरनाक. जानिए खाना चबाकर नहीं खाने और कम खाने से आपके शरीर पर क्या दुष्परिणाम पड़ता है (eat food in a hurry then be careful, change hurry food habit, What are the cons of eating too fast)

हैदराबाद: भागदौड़ भरी जिंदगी में आजकल लोगों के पास समय का अभाव काफी ज्यादा बढ़ गया है. लोगों के पास परिवार के साथ बैठकर खाना तक खाने की फुर्सत नहीं होती है. जिसे देखों वे अपने-अपने काम में काफी व्यस्त होता है. सुबह लोगों को जल्दी से ऑफिस जाना पड़ता है जिस वजह से वे ठीक से ब्रेकफास्ट नहीं कर पाते हैं. दोपहर में लंच भी जल्दी-जल्दी में ही खत्म करना पड़ता है. रात को घर आने के बाद थकावट इतनी ज्यादा हो जाती है कि मन करता बस जल्दी खाना खत्म कर के सोने चले जाएं. हालांकि खाना जल्दी खत्म करना और भूखे रहना सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है. आयुर्वेद और साइंस भी इसे सही नहीं मानते हैं.

निश्चित रूप से आप तेजी से भोजन कर के अपना थोड़ा समय बचा सकते हैं. लेकिन क्या जल्दी-जल्दी खाने की आदत आपकी सेहत को खतरे में नहीं डाल रहा ? जल्दी खाने की इस आदत की कई कीमत चुकानी पड़ सकती है. अपने भोजन को कम करने से ना केवल अच्छे भोजन का आनंद कम हो जाता है, बल्कि इसका आपके स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव पड़ सकता है. बहुत जल्दी-जल्दी खाना खाने से कई तरह के स्वास्थ्य जोखिम होते हैं, और समय लेकर नहीं खाने से आपको गंभीर स्वास्थ्य स्थितियां विकसित होने का खतरा हो सकता है.

eat food in a hurry then be carefuL
जल्दी जल्दी खाने से क्या होता है

मोटापा
तेजी से खाने से अधिक वजन या मोटापे का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि कम चबाना और जल्दी खाना दोनों को अधिक भोजन और कैलोरी लेने से जोड़ा गया है. एक अध्ययन पाया गया है कि जिन लोगों ने दोपहर का भोजन कम किया उन्हें बाद में अधिक भूख महसूस हुई है. उन लोगों की तुलना में जिन्होंने अधिक इत्मीनान से खाना खाया उन्हें कम भूख लगती है.

eat food in a hurry then be carefuL
जल्दी जल्दी खाने से क्या होता है

मधुमेह
तेजी से खाना खाने से टाइप 2 मधुमेह नहीं होता है. लेकिन यह संभव है कि आदतन अपने भोजन को कम करने से आपके शरीर को उस दिशा में अतिरिक्त दबाव मिल सकता है. एक बड़े अध्ययन पाया गया है कि जिन मध्यम आयु वर्ग के पुरुषों और महिलाओं को मधुमेह नहीं था, जिन्होंने कहा कि वे जल्दी-जल्दी खाना खाते हैं, उनमें इंसुलिन प्रतिरोध का खतरा बढ़ गया था. यह स्थिति, जिसमें शरीर प्रभावी ढंग से इंसुलिन का उपयोग नहीं करता है, समय के साथ मधुमेह का कारण बन सकता है.

मेटाबॉलिक सिंड्रोम
इंसुलिन प्रतिरोध का मेटाबॉलिक सिंड्रोम से गहरा संबंध है - कारकों का एक समूह जो ना केवल मधुमेह, बल्कि हृदय रोग और स्ट्रोक के विकास के जोखिम को भी बढ़ाता है. एक अध्ययन में 40 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लगभग 9,000 लोगों को शामिल किया गया. जिन्हें शुरुआत में मेटाबोलिक सिंड्रोम नहीं था. अगले तीन वर्षों में, तेजी से खाने वालों में मेटाबोलिक सिंड्रोम विकसित होने की संभावना उन लोगों की तुलना में अधिक थी जो धीरे-धीरे खाते थे.

गैस्ट्राइटिस
तेजी से खाना खाने को इरोसिव गैस्ट्राइटिस से भी जोड़ा गया है. जो लोग ज्यादा जल्दी खाना खाते हैं या खाना स्किप करते है वैसे लोगों को गैस्ट्राइटिस होने का सबसे ज्यादा खतरा बढ़ जाता है. गैस्ट्राइटिस के कारण पेट में सूजन का खतरा बढ़ जाता है. ज्यादा देर तक भूखे रहने से पेट की में उथली दरारें या कभी-कभी गहरे अल्सर हो जाते हैं.

चोकिंग
जल्दी-जल्दी खाना खाने से चोकिंग होने का खतरा बना रहता है. हम बच्चों को धीरे-धीरे खाने और घुटन से बचने के लिए भोजन को सावधानीपूर्वक चबाना सिखाते हैं. वयस्कों के लिए भी ऐसा करना बुद्धिमानी होगी. बहुत तेजी से खाने के कारण अपने आप को दम घुटने के जोखिम में न डालें. इसके बजाय, पूरी तरह से चबाने और उचित तरीके से निगलने के लिए ज्यादा टाईम लें.

ये भी पढ़ें-

Last Updated :Nov 13, 2023, 5:34 PM IST
ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.