ETV Bharat / state

नीतीश कुमार के BJP से गठबंधन तोड़ने के फैसले से मणिपुर JDU में विद्रोह, सुशील मोदी का दावा

author img

By

Published : Sep 3, 2022, 8:02 PM IST

राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्णय से मणिपुर जदयू के विधायक सहमत नहीं थे, इसलिए वे लोग विद्रोह करके बीजेपी में शामिल हो गए. आने वाले दिनों में लालू यादव जदयू को तोड़कर बिहार को भी जदयू से मुक्त कर देंगे. पढ़ें पूरी खबर...

राज्यसभा सांसद सुशील मोदी का जदयू पर पलटवार
राज्यसभा सांसद सुशील मोदी का जदयू पर पलटवार

पटना: मणिपुर में जदयू के 5 विधायकों के बीजेपी (JDU Manipur Episode) में शामिल होने के बाद जदयू और बीजेपी आमने-सामने है. जहां जदयू बीजेपी पर विधायकों को तोड़ने का आरोप लगा रही तो बीजेपी नीतीश कुमार के महागठबंधन में शामिल होने के फैसले को टूट की वजह बता रही है. इसी बीच बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुशील मोदी (Rajya Sabha MP Sushil Modi) ने कहा कि जदयू की मणिपुर ईकाई में विद्रोह हो गया. मणिपुर के जदूय विधायक नीतीश कुमार के फैसले से सहमत नहीं थे. जिसमें उन्होंने बीजेपी से गठबंधन तोड़कर राजद और कांग्रेस से हाथ मिला लिया.

यह भी पढ़ें: 'मणिपुर के बाद बिहार में भी JDU के कई MLA होंगे BJP में शामिल', विजय सिन्हा का बड़ा दावा

'अरूणाचल और मणिपुर जदयू मुक्त': उन्होंने कहा कि मणिपुर और अरूणाचल प्रदेश जदयू से मुक्त हो गया है. नीतीश कुमार के महागठबंधन में जाने के फैसले से जदयू के राज्य ईकाई सहमत नहीं है. ये विद्रोह अनके राज्यों में होने वाला है. आने वाले दिन में लालू प्रसाद यादव (RJD Supremo Lalu Prasad Yadav) आपकी पार्टी को तोड़कर बिहार को भी जदयू से मुक्त कर देंगे. बड़ी संख्या में विधायक राजद में चले जाएंगे, कुछ लोग कांग्रेस में चले जाएंगे और कुछ बीजेपी में चले जाएंगे.

यह भी पढ़ें: नीतीश को झटका, मणिपुर में छह में से पांच JDU विधायक BJP में शामिल

'विधायकों को खरीदने का आरोप भ्रामक': राज्यसभा सांसद ने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह (JDU National President Lalan Singh) के आरोपों पर तंज कसते हुए कहा कि वे कह रहे हैं कि हमारे विधायकों को खरीद लिया गया. आपके विधायक क्या बिकाऊ हैं, क्या आपके विधायकों को खरीद सकता है. ये बेबुनियाद और भ्रामक आरोप है. किसी को भी खरीदने की आवश्यकता नहीं है. विधायक आपके निर्णय से सहमत नहीं थे, इसलिए वो लोग बीजेपी में शामिल हो गए.

"जदयू के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की पूर्व संध्या पर पार्टी के मणिपुर ईकाई में विद्रोह हो गया. मणिपुर ईकाई नीतीश जी के इस निर्णय से सहमत नहीं है, जिसमें उन्होंने बीजेपी से गठबंधन तोड़कर राजद और कांग्रेस से हाथ मिला लिया. और, इससे उनके पांच विधायक विद्रोह करके बीजेपी में शामिल हो गए. मणिपुर जनता दल यू से मुक्त हो गया. उस दिन अरूणाचल प्रदेश के भी एक विधायक बीजेपी में शामिल हो गए थे. नीतीश जी आपके इस निर्णय से देश के अंदर जदयू के अनेक राज्य ईकाईयां आपसे सहमत नहीं है" - सुशील कुमार मोदी, राज्यसभा सांसद, बीजेपी

मणिपुर में जेडीयू के पांच विधायक बीजेपी में शामिल: बता दें कि जेडीयू ने इस साल मार्च में मणिपुर विधानसभा चुनाव में 38 सीटों पर प्रत्याशी उतारे थे, जिसमें से छह ने जीत दर्ज की थी. बीजेपी में शामिल होने वाले जेडीयू विधायकों में केएच जॉयकिशन, एन सनाते, मोहम्मद अछबउद्दीन, पूर्व पुलिस महानिदेशक ए एम खाउटे और थांगजाम अरुण कुमार शामिल हैं. अभी तक इन विधायकों की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है, लेकिन जेडीयू के लिए ये ना सिर्फ एक झटका है बल्कि पूर्वोतर में कमजोर होती पकड़ का एक संकेत है. असल में कुछ समय पहले ही अरुणाचल प्रदेश में भी जेडीयू का एक मात्र विधायक बीजेपी में शामिल हो गया था. ऐसे में उस राज्य से जेडीयू का प्रतिनिधित्व ही समाप्त हो गया.

मणिपुर में टूट के बाद बौखलायी JDU: बिहार जेडीयू के प्रवक्ताओं ने बीजेपी पर हमला बोलना शुरू कर दिया है. जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार (JDU Leader Neeraj kumar) ने कहा कि फर्जी नैतिकता के कुलाधिपति बनने का बीजेपी दावा करती है, लेकिन इसके मूल्य चरित्र में कैसा बदलाव आया है. उन्होंने कहा कि अब अटल आडवाणी वाली बीजेपी नहीं है, अब वैचारिक रूप से समाज में वैमनस्य फैलाने और सहयोगियों के साथ विश्वासघात करने का बदलाव बीजेपी में आया है. बिहार ने तो इसको लेकर नजीर पेश कर दी है.

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.