50 हजार में की गई थी गोपालगंज में ताईद की हत्या, शार्प शूटर समेत तीन गिरफ्तार

author img

By ETV Bharat Bihar Desk

Published : Jan 16, 2024, 7:00 PM IST

Gopalganj Civil Court Lawyer Murder Case

Gopalganj Lawyer Murder Case: गोपालगंज सिविल कोर्ट में काम करने वाले ताईद की हत्या मामले में पांच दिन बाद पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस ने हत्याकांड में शामिल शार्प शूटर समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. वहीं, उनके पास से हथियार भी बरामद किए गए हैं.

गोपालगंज: बिहार के गोपालगंज जिले के नगर थाना क्षेत्र में हुए सिविल कोर्ट के एक ताइद की हत्या मामले में पुलिस ने बड़ी सफलता प्राप्त की है. पुलिस ने फरार अपराधियों को गिरफ्तार किया है. जिसमें शार्प शूटर समेत तीन लोग शामिल है.

गिरफ्तार बदमाशों की हुई पहचान: मिली जानकारी के अनुसार, गिरफ्तार किए गए बदमाश की पहचान नगर थाना क्षेत्र के बंजारी मुहल्ला निवासी मुकेश कुशवाहा, चन्द्रभुषण कुशवाहा, थाना क्षेत्र के बरगछिया गांव निवासी सीटू उर्फ नवाब उर्फ सेराज के रूप में की गई है. तीनों के पास से हथियार भी बरामद किया गया है. जिसमें दो देसी कट्टा, चार जिंदा कारतूस, एक बाइक, 6 मोबाइल शामिल है.

11 जनवरी को मारी थी गोली: घटना के संदर्भ में एसपी स्वर्ण प्रभात ने बताया कि 11 जनवरी को करीब 10 बजे नगर थाना अंतर्गत बंजारी स्थित हर्षण हॉस्पीटल के पास सुजीत कुमार कुशवाहों को अपराधियों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस संबंध में नगर थाना में कांड दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया. पुलिस अनुमंडल और पदाधिकारियों के नेतृत्व में एसआईटी टीम का गठन किया गया था. टीम द्वारा छापामारी कर मामले का सफल उद्भेदन करते हुए कांड के प्राथमिकी अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया.

गवाही देने को लेकर था विवाद: आरोपी मुकेश कुशवाहा द्वारा अपने स्वीकारोक्ति बयान में बताया गया कि इस विवाद के पीछे का कारण मृतक सुजीत कुमार एवं योगेन्द्र पड़ित का कोर्ट परिसर में झगड़ा होना था. एक पुराने कांड में योगेन्द्र पड़ित का कुर्की जब्त कराने में और गवाही देने को लेकर सुजीत के साथ विवाद चल रह था.

50 हजार में डील हुई : इन कारणों को लेकर योजनाबद्ध तरीके से हत्या करने के लिए उचकागांव के सीटू उर्फ नवाब को 50 हजार रूपये में तैयार किया गया था. जिसके बाद सीटू और योगेन्द्र ने बारी-बारी से एक-एक गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी. मुकेश के निशानदेही पर सीटू उर्फ नवाब को गिरफ्तार किया गया. दोनों ने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार किया है.

"एसआईटी ने इस हत्याकांड का उद्भेदन करने में अच्छा काम किया है. इस लिए एसआईटी के सदस्यों को 20 हजार रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा." - स्वर्ण प्रभात, एसपी, गोपालगंज

इसे भी पढ़े- Gopalganj Crime : स्वर्ण व्यवसाई हत्याकांड का खुलासा, SP बोले- पर्दाफाश करने वाली SIT होंगी पुरस्कृत

ETV Bharat Logo

Copyright © 2024 Ushodaya Enterprises Pvt. Ltd., All Rights Reserved.